Close X
Friday, January 22nd, 2021

बारां, सीकर, जयपुर और अजमेर की घटनाओं पर मचा बवाल

जयपुर. उत्तर प्रदेश के हाथरस कांड (Hathras Case) पर मचे बवाल के बाद अब राजस्थान में भी रेप के मामलों को लेकर राजनीति गरमाने (Politics hot) लगी है. प्रदेश में आये दिन होने वाली रेप की घटनाओं (Rape Cases) को लेकर बयानबाजी का दौर तेज हो गया है. पुलिस इन मामलों में त्वरित कार्रवाई का दावा कर रही है, वहीं विपक्ष इन घटनाओं पर सरकार को घेरने का प्रयास कर रहा है. इन सबके बीच सीएम अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) उनका खंडन करते हुये जवाब दे रहे हैं. कुल मिलाकर हाथरस केस के बाद राजस्थान में भी अचानक रेप केसेज पर चिंता जताई जाने लगी है. इनको लेकर सोशल मीडिया पर प्रतिक्रियाओं का दौर तेज हो गया है. नेताओं में ट्वीटर वार छिड़ा हआ है.

राहुल-प्रियंका गांधी के हाथरस दौरे के बाद हलचल बढ़ी
राजस्थान में हाल ही में बारां, सीकर, जयपुर और अजमेर में रेप के कई मामले सामने आये हैं. यूपी के हाथरस केस पर मचे हंगामे के बाद पुलिस अब इन मामलों में संवदेशलीता दिखाते हुये आरोपियों के खिलाफ तत्काल कार्रवाई करने में जुटी है. इन मामलों में कुछ आरोपियों को दबोच लिया गया, जबकि कुछ की तलाश की जा रही है. लेकिन इस बीच इन पर सत्ता पक्ष और विपक्ष में जबर्दस्त ट्वीटर वार छिड़ा हुआ है. खासकर राहुल गांधी और प्रियंका गांधी के हाथरस दौरे के बाद आरोप-प्रत्यारोपों में तेजी आ गई है. इसमें ट्वीटर पर रेप मामलों की खबरों को दिखाते हुये आरोप-प्रत्यारोप लगाये जा रहे हैं.

सतीश पूनिया ने कहा घटनाओं पर सीएम मौन हैं
बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने ट्वीटर करते हुये कहा कि  ''प्रदेश में पिछले 15 दिनों के अंदर गैंगरेप एवं रेप की कई वारदातें हो चुकी हैं. वहीं हफ्तेभर में अलवर,सीकर,आमेर,सिरोही,अजमेर,बारां में घिनौनी वादरातें हुईं, लेकिन @ashokgehlot51 जी मौन हैं. कानून व्यवस्था एवं महिला सुरक्षा को लेकर गंभीर नहीं है, ना ही इन मामलों पर संज्ञान ले रहे हैं.''
गहलोत ने कहा हाथरस की घटना निदंनीय, बारां की घटना से कम्पेयर करना गलतवहीं सीएम अशोक गहलोत ने उत्तर प्रदेश की घटना की निंदा करते हुये अपने ट्वीट में कहा है ''हाथरस में हुई घटना बेहद निंदनीय है, उसकी जितनी निंदा की जाए उतनी कम है लेकिन दुर्भाग्य से राजस्थान के बारां में हुई घटना को हाथरस की घटना से कम्पेयर किया जा रहा है.'' गहलोत ने अपने दूसरे ट्वीट में कहा कि ''घटना होना एक बात है और कार्यवाही होना दूसरी, घटना हुई तो कार्यवाही भी तत्काल हुई. इस केस को मीडिया का एक वर्ग और विपक्ष हाथरस जैसी वीभत्स घटना से कम्पेयर करके प्रदेश और देश की जनता को गुमराह करने का काम कर रहे हैं.''
हाथरस केस के आक्रोश की आग राजस्थान में भी भड़कने लगी है
दूसरी तरफ हाथरस केस की आक्रोश की आग राजस्थान की जनता में भी भड़कने लगी है. इस पर प्रतिक्रिया केवल सोशल मीडिया में ही नहीं अब सड़कों पर भी दिखाई देने लगी है. इसे लेकर गुरुवार को राजधानी जयपुर में नगर निगम के करीब 9 हजार सफाईकर्मी हड़ताल पर रहे. सफाईकर्मियों और वाल्मिकी समाज ने नगर निगम मुख्यालय पर विरोध-प्रदर्शन भी किया था. पीएलसी।PLC.

Comments

CAPTCHA code

Users Comment