Close X
Friday, October 30th, 2020

बसपा सरकार लिमिटेड कम्पनी ने लगातार सार्वजनिक धन की लूट की है - भाजपा

आई.एन.वी.सी,, लखनऊ,, भारतीय जनता पार्टी ने कहा कि बसपा सरकार ने लगातार सार्वजनिक धन की लूट की है। भ्रष्टाचार किया है। मुख्यमंत्री समेत समूची मंत्रिपरिषद ने भारी कमाई की है। बसपा सरकार प्राइवेट लिमिटेड कम्पनी की तरह चली है। प्रदेश प्रवक्ता विधान परिषद सदस्य हृदयनारायण दीक्षित ने सवाल उठाया कि मुख्यमंत्री समेत समूची मंत्रिपरिषद के सदस्य आय के स्रोत, चल-अचल सम्पत्ति की सार्वजनिक घोषणा क्यों नहीं कर रहे हैं? उन्होंने कहा कि चुनाव के समय दिये गये शपथ पत्रों में घोषित सम्पत्ति की तुलना में सभी की सम्पदा बढ़ी है। मुख्यमंत्री को आय बढ़ाने की अपनी तकनीकी राज्य की जनता को अवश्य बताना चाहिए। बिना खेती, व्यवसाय के अकूत सम्पत्ति अर्जित करने के कारण क्या हैं? उन्होंने कहा कि यह कारण सार्वजनिक हो जाये तो गरीब, दलित की गरीबी दूर हो जायेगी। श्री दीक्षित ने कहा कि बसपा सरकार संविधान नहीं मानती है। संवैधानिक संस्थाओं का आदर भी नहीं करती है। राज्य में कैबिनेट सचिव का पद नहीं होता है। केन्द्र की तर्ज पर राज्य में कैबिनेट सचिव की नियुक्ति की गई। इसका मामला भी मा0 उच्चतम न्यायालय में विचाराधीन है। सुरक्षा सलाहकार का भी पद नहीं होता है फिर भी सुरक्षा सलाहकार के पद पर नियुक्ति की गई है। मुख्यमंत्री तानाशाह के रूप में असंवैधानिक नियुक्तियां कर रही हैं। उन्होंने कहा कि बसपा सरकार द्वारा भ्रष्टाचार को संस्थागत बनाने के कारण ही सभी विभागों में लूट है। अपराध बढ़े हैं, एन0आर0एच0एम0 घोटाले की हत्याएं भ्रष्टाचार के कारण ही हुई थीं। खीरी की ताजी घटना का कारण भी भ्रष्टाचार है। आय, जाति प्रमाण पत्र में भी घूस ली जा रही है। राज्य के नगर निगम बदहाल स्थिति में हैं। विकास का धन दूसरे मदों में गया है। रष्टाचार के चलते विकास कार्य अवरूद्ध हैं। जनता को मूलभूत सुविधायें भी नहीं मिल पा रही हैं। प्रवक्ता ने कहा कि राज्य की जनता मुख्यमंत्री समेत सरकार के सभी मंत्रियों की सम्पत्ति, आय के स्रोत जानना चाहती है। राज्य सरकार पूरी तरह से भ्रष्टाचार में डूबी हुई है। इसीलिए अपनी सम्पत्ति की सार्वजनिक घोषणा नहीं कर रही है।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment