ज़ाकिर हुसैन 
 
नई दिल्ली.
   राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव बाबरी मस्जिद को लेकर कांग्रेस के बारे में दिए गए अपने एक बयान को लेकर सुर्खियों में हैं.  कहा जा रहा है कि कल बिहार के दरभंगा लोकसभा क्षेत्र में हुई एक चुनावी जनसभा में लालू प्रसाद यादव ने कहा था कि बाबरी मस्जिद को शहीद करने के लिए भारतीय जनता पार्टी ही नहीं,  कांग्रेस भी ज़िम्मदार हैं. इतना ही नहीं राजद अध्यक्ष ने भाजपा को ‘भारतीय जलाओ पार्टी’ की भी संज्ञा दे डाली थी.

राजद अध्यक्ष के बयान पर प्रतिक्रिया ज़ाहिर करते हुए बिहार के मुख्यमंत्री और जनता दल (यू) के नेता नीतीश कुमार ने लालू प्रसाद यादव को अवसरवादी क़रार दिया. आज दिल्ली में पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा कि लालू को बाबरी मस्जिद के विध्वंस से जुड़े सभी तथ्यों को देश की जनता के सामने रखना चाहिए। साथ ही उन्हें यह भी बताना चाहिए कि इतना कुछ होने के बावजूद वो अभी तक कांग्रेस के साथ क्यों रहे? एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि बाबारी मस्जिद का टूटना दुर्भाग्यपूर्ण था और इसके लिए किसी हद तक कांग्रेस भी ज़िम्मेदार है, क्योंकि बाबरी मस्जिद का ताला खुलवाने, शिलान्यास करवाने और मस्जिद के विध्वंस के वक़्त कांग्रेस की सरकार थी. 

भारतीय जनता पार्टी ने प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से लालू प्रसाद यादव को मंत्रिमंडल से बर्ख़ास्त करने की मांग की है, जबकि कांग्रेस के प्रवक्ता अभिषेक सिंघवी ने लालू प्रसाद यादव के बयान को बयान ग़ैर-ज़िम्मेदाराना और हताशा में दिया गया बयान बताया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here