imagesआई एन वी सी,

कोलकाता,

बंगाल की भूमि से पहली बार भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने कोलकाता में एक बड़ी रैली को संबोधित किया। रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने बंगाल के लोगों से गुज़ारिश की कि वे भाजपा को सभी सीटों से जीताएं, ताकि प्रदेश की तरक्की को रफ्तार और उन्हें(बंगाल)  सम्पन्नता मिले।

भाजपा के पीएम पद के उम्मीदवार नरेन्द्र मोदी की लोकप्रियता का नमूना कोलकाता में देखने को मिला। बंगाल में उनकी पहली चुनावी रैली में अपार जनसैलाब उमड़ा । तीसरे मोर्चे के गठन के संकेतों और कोशिशों के बीच मोदी ने कहा कि थर्ड फ्रंट की जहां जहां सरकार बनी, उन राज्यों की स्थिति आज थर्ड ग्रेड की है, जबकि देश के पश्चिमी राज्यों में जहां यह फ्रंट नहीं पहुंचा, वे खुशहाल और आबाद हैं।बंग भूमि से नरेंद्र मोदी ने पहली बार तीसरे मोर्चे को सीधे निशाने पर लिया। मोदी ने कहा कि अगर उनके हाथ सत्ता आई तो वह देश को तीसरे दर्जे का बना देगा।

मोदी के भाषण की खास बात यह भी रही कि अपने पूरे भाषण के दौरान उन्होंने एक बार भी राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का नाम नहीं लिया। उल्टे, मोदी ने ममता की सरकार की सरपरस्ती करते हुए कहा कि राज्य की जनता ने 30 से अधिक सालों से चलती आ रही वाम दलों की सरकार को हटाकर अच्छा किया।

बुधवार को विरोधियों के गढ़ कोलकाता में विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए मोदी ने उन पर चुन-चुन कर हमले किए। कहा, तीसरे मोर्चे में शामिल दलों ने देश के पूर्वी भाग को अपने राजनीतिक मंसूबों के चलते पूरी तरह बर्बाद कर दिया। वह देश के पश्चिमी भाग के बराबर भी विकसित नहीं हैं। उन्होंने सुराज के लिए बंगाल की जनता से समर्थन मांगा।

बंगाल की धरती पर बांग्ला भावनाओं को सहलाते हुए मोदी ने कांग्रेस द्वारा प्रणब मुखर्जी को प्रधानमंत्री न बनाए जाने का सवाल भी उठाया। कहा, इंदिरा गांधी की हत्या के बाद सन 1984 में और सन 2004 में वरिष्ठतम व योग्य मंत्री होने के नाते प्रणब मुखर्जी का प्रधानमंत्री की कुर्सी पर अधिकार बनता था लेकिन कांग्रेस ने उन्हें नकार दिया। लोगों को यह बात ध्यान में रखनी चाहिए।

भाजपा को सांप्रदायिक ठहराने वाले दलों पर प्रहार करते हुए मोदी ने कहा कि ऐसे दलों ने मुस्लिमों को कभी देश का नागरिक नहीं माना बल्कि उनके साथ हमेशा वोट बैंक का व्यवहार किया। इसीलिए उनकी भलाई के लिए कोई कार्य नहीं किए गए। गुजरात में मुस्लिमों की तरक्की का उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि वहां हज के लिए जाने वाले मुस्लिमों का कोटा 4800 का है लेकिन उसके लिए आवेदन आते हैं 37 हजार। जबकि बंगाल में हज जाने वालों का कोटा है 11,700 का और आवेदन आते हैं 12 हजार।

मोदी ने पूछा, छोटा प्रदेश होने के बावजूद गुजरात से हज के लिए जाने के इच्छुक मुस्लिमों की बड़ी संख्या क्या दर्शाती है? उन्होंने लोगों को दुष्प्रचार से दूर हटने का आह्वान किया।

मोदी ने अपने भाषण के अंत में कांग्रेस, खासकर सोनिया गांधी परिवार पर ज़ोरदार हमले किए। उन्होंने प्रणब मुखर्जी के बारे में कहा कि योग्य होते हुए भी उन्हें जो मिलना चाहिए था, वह नहीं दिया गया। मोदी ने कहा कि प्रणब दा को पहली बार राजीव गांधी ने अपने कैबिनेट तक में नहीं लिया, और बाद में जब 2004 में कांग्रेस की केंद्र में सरकारी बनी, तो सोनिया ने प्रणब की जगह मनमोहन सिंह को प्रधानमंत्री पद के लिए चुना।

नरेंद्र मोदी ने सुभाष चंद्र बोस के नारे ‘तुम मुझे खून दो, मैं तुम्हें आज़ादी दूंगा’ को दोहराते हुए कहा, ‘मैं आज उसी अंदाज़ में आपसे कहता हूं कि तुम मुझे साथ दो, मैं तुम्हें सुराज्य दूंगा।’ नरेंद्र मोदी ने कहा कि पश्चिम बंगाल अपनी सारी लोकसभा सीटें बीजेपी को जिताए और फिर मैं विकास में राज्य सरकार से मुकाबला करूंगा।

मोदी ने कहा, ‘आप मुझे सारी सीटें दे दें, फिर मुझसे देश के विकास का हिसाब मांगना। अगर आप मुझे सारी सीटें देंगे तो मेरा यहां बार-बार आने का मन करेगा। अब वक्त आ गया है कि बंगाल बीजेपी को स्वीकार कर ले।’ नरेंद्र मोदी ने कहा, राज्य सरकार से राज्य के काम का हिसाब मांगिए, मुझसे देश का हिसाब मांगिए, आपके दोनों हाथों में लड्डू होंगे।’

 

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here