Tuesday, October 15th, 2019
Close X

फोन टेपिंग , घिरी सरकार , दोनों सदनों में भारी हंगामा,चनलो को मिला बहस का मसला !

जाकिर हुसैन ,, नई दिल्ली ,, फोन टेपिंग पर फसी सरकार के लियें के ये पहली बार नहीं हुआ है मनमोहन सरकार कई बार संसद में घिरी है लेकिन वही विपक्ष के शोर शराबे के अलावा  दोनों सदनों की कार्यवाही रुकने के साथ - साथ ही चंनेलो को हमेशा की तरह  बिना किसी हल वाली बहस  का मुद्दा मिल गया ! कुछ लोगो के  शाम प्रसारण  में भागीदारी के लिए  फोन कर  दिए गए होंगे ! सरकार और विपक्ष के वक्ता अपनी राय देने की तय्यारी करने लगे होंगे ! शाम को ३.३०  पर प्रधानमंत्री की सफाई के बाद सब कुछ सामान्य हो जायेगा ! कुछ बुद्दिजीबी अपनी -अपनी राय देंगे और अपने घर चने जायेंगे ! जनता सुनेगी और चर्चा भी होगी और फिर हर कोई अपने आप में मस्त ! अब सवाल ये उठता है जब किसी बहस का कोई हल निकलता ही नहीं है तो जनता का पैसा को बर्बाद किया जाता है ! आज देश में आम आदमी के मुह से रोटी तो छोड़ो एक अदद निवाला भी दूर होता जा रहा है तो विपक्ष एक जुट होकर आप आदमी के लिए कुछ क्यों नहीं करता  ! गौर तलब है की आज फोन टेपिंग के मसाले पर दोनों सदनों की कर्यवाही रुकी ! गृह मंत्री ने कहा की हमने फोन टेपिंग नहीं की पर विपक्ष बार बार प्रधानमंत्री की सफाई की बात करता रहा ! इसी शोर शराबे के बीच  प्रणब मुखर्जी ने कहा कि प्रधानमंत्री बयान देने को तैयार हैं लेकिन ये साफ़ नहीं था लेकिन अब खबर है की  प्रधानमंत्री ३.३० तक बयाँ देंगे ! वही आडवाणी ने अपने बयान में कहा कि मई आईपीएल घोटाले की भी बात करना चाहता था  पर  फोन टैपिंग अत्यंत गंभीर मामले के रुप में सामने आया है इसलियें अब पहले फोन टेपिंग पर बात होगी !

Comments

CAPTCHA code

Users Comment

Fredric Overlie, says on March 19, 2011, 10:08 PM

My brother recommended I might like this blog. He was totally right. This post truly made my day. You can not imagine just how much time I had spent for this information! Thanks!

disastercoverusaonlinecasinos, says on June 16, 2010, 1:15 PM

I have recently started using the blogengine.net and I having some problems here? in your blog you stated that we need to enable write permissions on the App_Data folder...unfortunately I don't understand how to enable it.

where to find best online casinos ?, says on June 8, 2010, 4:21 PM

I allow in, I require not been on this webpage in a extensive time... degree it was another ecstasy to look at It is such an top-level topic and ignored not later than so many, monotonous professionals. I appreciation you to help making people more au fait of viable issues.

Liza Rojek, says on June 1, 2010, 6:02 PM

bookmarked your post purpose read this latter . Regards, Mike

Cindi Salkeld, says on May 23, 2010, 9:59 PM

Thank you in the direction of another great article. Where else could anyone put that charitable of data in such a precise go to pieces b yield of writing? I have planned a presentation next week, and I am on the look for such information.

Marylyn Struckmann, says on May 23, 2010, 7:58 PM

bookmarked your fill someone in on force scan this latter . Regards, Mike

casinoonline, says on May 23, 2010, 7:18 PM

Couldn?t be written any better. Reading this post reminds me of my old room mate! He always kept talking about this. I will forward this article to him. Pretty sure he will have a good read. Thanks for sharing!