Close X
Saturday, October 24th, 2020

फील्ड जाए,फीडबैक दे अधिकारी

minister anil wijआई एन वी सी, चंडीगढ़, हरियाणा के स्वास्थ्य, खेल एवं युवा मामले मंत्री श्री अनिल विज ने अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि वे मुख्यालय पर न बैठकर फील्ड में जाकर अपने-अपने विभागों की स्थिति का आकलन कर उन्हें वास्तविक रिर्पोट प्रस्तुत करें, वे स्वयं भी रिर्पोट के तथ्यों का पता लगाने के लिए फील्ड का दौरा करेंगे। इसके अलावा पार्टी कार्यकर्ताओं सहित जवाबी जांच टीमों के माध्यम से भी फीडबैक  लिया जाएगा। कोताही बरतने वाले अधिकारियों को बक्शा नहीं जाएगा। विज आज हरियाणा सिविल सचिवालय में अपना कार्यभार संभालने उपरान्त विभागों के वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक की अध्यक्षता करने उपरान्त पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। सरकार की धीमी गति से कार्य आरम्भ करने के सम्बन्ध में पूछे गए एक प्रश्न के उत्तर में स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि यह सरकार काम करने वाली सरकार है, जिस प्रकार एक डॉक्टर किसी मरीज का ईलाज करने से पहले बीमारी का पता लगाने के लिए मैडिकल जांच करता है, ठीक उसी प्रकार यह सरकार कार्य करेगी। उन्होने कहा कि यह सरकार लम्बी रेस का घोड़ा है और लम्बी रेस का घोड़ा आरम्भ में धीमी गति से ही दौड़ता है। विज ने स्मरण करवाया कि हरियाणा में भारतीय जनता पार्टी की सरकार व मुख्यमंत्री बनने की बात जब वे कहा करते थे तो उनके साथी नेता इसे मजाक में उड़ा देते थे, परन्तु आज लम्बे अन्तराल के बाद प्रदेश में भाजपा की पूर्ण बहुमत से सरकार बनी है और उनका स्वयं का सपना साकार हुआ है। एक अन्य प्रश्न के उत्तर में श्री विज ने कहा कि पूर्ववर्ती सरकारों के प्रभावशाली न होने के कारण सरकारी कर्मचारी में काम न करने की प्रवृति बढ़ गई है। इसलिए सरकार की प्राथमिकता होगी कि कर्मचारियों काम के प्रति जवाबदेह बने। वर्तमान में मौजूदा संसाधनों व ईफ्रास्ट्रक्चर से काम चलाया जाएगा। आजादी के 68 सालों में भी स्वास्थ्य एवं शिक्षा के क्षेत्रों में सरकारी स्तर पर वांछित कार्य न किए जाने पर अपनी चिंता व्यक्त करते हुए स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि समाज कल्याण राज्य होने के बावजूद भी इन दोनो क्षेत्रों में भी पहले की सरकारों ने कुछ नहीं किया। अगर प्राईवेट क्षेत्र का इनमें योगदान नहीं होता तो स्थिति और भी बदतर हो गई होती। उन्होने कहा कि सरकार की प्राथमिकता होगी कि प्राईवेट क्षेत्र की तर्ज पर सरकारी संस्थानों में भी वैसी ही सुविधाएं मिलनी चाहिए। सरकारी अस्पतालों में सफाई व्यवस्था के सम्बंध में पूछे जाने पर श्री विज ने कहा कि आज उन्होने स्वयं अम्बाला छावनी अस्पताल का औचक निरीक्षण किया है और पाया कि बायोमैडिकल कचरे के डिस्पोजल का प्रबन्ध न के बराबर है, जो चिंतनीय है और इस दिशा में भी कारगर कदम उठाने होंगे। उन्होंने कहा कि वैसे तो प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी महात्मा गांधी जयन्ती से स्वच्छ भारत अभियान की शुरूआत कर चुके हैं। हरियाणा भी उसका हिस्सा है और यहां सफाई अभियान जारी है। प्रदेश के युवाओं में नशे की तरफ जाने के सम्बंध में पूछे गए प्रश्न पर श्री विज ने कहा कि पंजाब के साथ लगते जिलों में इसका प्रभाव देखने को मिल रहा है। उन्होने पुलिस महानिदेशक से इस बारे विस्तृत बातचीत की है और नशे के कारोबार को रोकने के लिए विशेष टीमें गठित करने को कहा है।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment