पार्टी नेताओं की बैठक में वह सदस्यता अभियान के लक्ष्य की समीक्षा करेंगे. लेकिन, बड़ी बात ये है कि इसका नेतृत्व भी खुद ही करेंगे.
राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) के छो़टे बेटे और बिहार विधान सभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव (Tejaswi Yadav) ने शुक्रवार को अपने निर्वाचन क्षेत्र राघोपुर का दौरा किया. इस क्षेत्र के लिए उन्होंने सदस्यता अभियान की शुरुआत की और कहा कि पूरे बिहार में आरजेडी (RJD) का सदस्यता अभियान पहले से चल रहा है और 50 लाख लोगों पार्टी को सदस्य बनाने का टारगेट है. उन्होंने यह भी बताया कि पर्चा से सदस्य बनाने के साथ ही पार्टी ऑनलाइन सदस्यता अभियान भी चला रही है.

25 को विधायकों की बैठक करेंगे तेजस्वी
माना जा रहा है कि तेजस्वी ने इस अभियान के साथ ही एक बार फिर पार्टी की कमान अपने हाथों में ले ली है. बुधवार की देर रात तक पटना जंक्शन पर दूधवालों के समर्थन में धरना दैिै के बाद तेजस्वी ने रविवार यानि 25 अगस्त को सभी विधायकों और जिलाध्यक्षों की बैठक बुलायी है. बताया जा रहा है कि पार्टी नेताओं की बैठक में वह सदस्यता अभियान के लक्ष्य की समीक्षा करेंगे. लेकिन, बड़ी बात ये है कि इसका नेतृत्व भी खुद ही करेंगे.
तेज प्रताप भी आए तेजस्वी के साथ
दरअसल इस बात के संकेत इससे भी मिलते हैं कि मंगलवार को अपनी वापसी के अगले दिन बुधवार की देर रात तक पटना जंक्शन पर दूधवालों के समर्थन में धरना देते रहे. इसमें उनके बड़े भाई तेजप्रताप यादव का भी उन्हें साथ मिला.

सक्रिय राजनीति में लौटे तेजस्वी
माना जा रहा है कि बीते तीन महीनों तक लगभग सक्रिय राजनीति से दूर रहे तेजस्वी के कारण आरजेडी टूट की कगार पर थी. ऐसे में कहा जा रहा है कि बिखराव की आशंका और पिता लालू प्रसाद के दबाव के बाद तेजस्वी यादव ने दल की कमान संभाल ली है.

जाहिर तौर पर एक बार फिर खुद को राजनीति में सक्रिय करते हुए तेजस्वी ने एक संदेश देने की कोशिश की है कि आने वाले समय के लिए फिर से तैयार हैं. PLC