Tuesday, January 21st, 2020

फडणवीस सरकार को SC से झटका

सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र मामले में बड़ा फैसला सुनाया है. देवेंद्र फडणवीस की सरकार को कल यानी बुधवार शाम पांच बजे तक बहुमत साबित करना होगा. महाराष्ट्र विधानसभा में फ्लोर टेस्ट कराया जाएगा, जिसका लाइव प्रसारण होगा.
सुप्रीम कोर्ट में इस दौरान शिवसेना की तरफ से अनिल देसाई, गजाजन कार्तिकर, कांग्रेस के मुकुल वासनिक, केसी वेणुगोपाल और पृथ्वीराज चौहान मौजूद हैं. इसके अलावा कपिल सिब्बल, अभिषेक मनु सिंघवी समेत कई वकील भी अदालत में हैं.
सुप्रीम कोर्ट में अब से कुछ देर में महाराष्ट्र मामले पर सुनवाई शुरू होने वाली है. कांग्रेस के नेता, वकील अदालत पहुंचने लगे हैं. सुप्रीम कोर्ट में इस मसले को लेकर सोमवार को भी सुनवाई हुई थी.
संजय राउत ने फिर भाजपा को घेराशिवसेना नेता संजय राउत ने मंगलवार सुबह प्रेस कॉन्फ्रेंस की, उन्होंने कहा कि हमने हमारा आंकड़ा दिखा दिया है, एक भगत सिंह फांसी चढ़ा था और दूसरे ने लोकतंत्र की हत्या कर दी. संजय राउत बोले कि हमारे साथ 162 विधायक हैं, अगर उनके पास बहुमत है तो वो क्यों भाग रहे हैं.
संजय राउत ने आरोप लगाया कि राज्यपाल को फर्जी चिट्ठी दिखाई गई, हमारे विधायकों को खरीदने की कोशिश की गई. उन्होंने कहा कि भाजपा वाले ध्यान रखें कि ये महाराष्ट्र है, कोई भूल ना करें. संजय राउत बोले कि चोरी छुपे शपथ दिलाकर संविधान की हत्या की गई, कल दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा.
बीजेपी नेता आशीष शेल्लार ने कहा है कि वह अभी भी मानते हैं कि अजित पवार ही एनसीपी के नेता हैं. ये उस आधार पर है जो चिट्ठी उन्होंने राज्यपाल को दी थी. उन्होंने कहा कि जयंत पाटिल ने जो दावा किया है वह सिर्फ एक जवाब है.
महाराष्ट्र के उप मुख्यमंत्री अजित पवार को बड़ा झटका लगा है. महाराष्ट्र विधानसभा के सचिव के मुताबिक, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) ने जयंत पाटिल को विधायक दल का नेता बनाया है. एनसीपी के पत्र के आधार पर अब विधानसभा में एनसीपी विधायक दल के नेता जयंत पाटिल होंगे और उनका व्हिप ही अंतिम होगा.

शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस ने अजित पवार को भ्रष्टाचार निरोधक शाखा यानी ACB द्वारा सिंचाई घोटाले में  क्लीन चिट मिलने को भी सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है. सुप्रीम कोर्ट में अर्जी दाखिल कर कहा है कि जब तक विधानसभा सदन में शक्ति परीक्षण नहीं हो जाता तब तक मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के किसी भी तरह के पॉलिसी निर्णय लेने पर रोक लगाई जाए.
शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस की तरफ से सुप्रीम कोर्ट में अपील की जाएगी कि जबतक फ्लोर टेस्ट ना हो जाए, तबतक देवेंद्र फडणवीस की सरकार कोई फैसला ना ले पाए. बता दें कि सोमवार को ही देवेंद्र फडणवीस ने किसानों के लिए एक बड़ी रकम का ऐलान किया था.
शिवसेना नेता संजय राउत ने एक बार फिर ट्वीट कर तंज कसा है और अपनी ताकत दिखाने का काम किया है. संजय राउत ने लिखा कि 162 के अलावा और भी
शिवसेना ने पार्टी के मुखपत्र सामना में एक बार फिर भारतीय जनता पार्टी और अजित पवार पर जमकर निशाना साधा है. सामना में लिखा गया है कि सत्ता के लिए अंधे लोगों ने महाराष्ट्र के स्वाभिमान और प्रतिष्ठा का बाजार लगा रखा है. ऐसे लोग जिनका महाराष्ट्र से किसी भी प्रकार का भावनात्मक संबंध नहीं है, वे लोग शिवराय के महाराष्ट्र की इज्जत धूल में मिला सकते हैं.शक्ति प्रदर्शन के दौरान 162 विधायकों ने शरद पवार, सोनिया गांधी और उद्धव ठाकरे के नाम की शपथ ली, जिसमें किसी भी परिस्थिति में एक साथ रहने की बात कही गई. वहीं शरद पवार ने इस दौरान अपने संबोधन में केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि ये मणिपुर-कर्नाटक नहीं है, बल्कि महाराष्ट्र है.
महाराष्ट्र में जारी उथापुथल के बीच सोमवार को कुछ ऐसा देखने को मिला, जो कभी नहीं हुआ था. शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी ने 162 विधायकों के साथ शक्ति प्रदर्शन किया और एकजुटता का मैसेज देने की कोशिश की. इस दौरान तीनों पार्टियों के शीर्ष नेता भी मौजूद रहे.
मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट महाराष्ट्र मामले में फैसला सुनाएगी. सोमवार को इस मामले में तीखी बहस हुई थी, जिसके बाद अदालत ने मंगलवार को फैसला सुनाने की बात कही थी. जस्टिस एनवी रमन्ना, जस्टिस अशोक भूषण, जस्टिस संजीव खन्ना इस मामले की सुनवाई कर रहे हैं.
सोमवार को विपक्षी पार्टियों की ओर से 24 घंटे के अंदर फ्लोर टेस्ट कराने की मांग की, इसके अलावा देवेंद्र फडणवीस-अजित पवार की ओर से फ्लोर टेस्ट पर जल्दबाजी ना करने को कहा गया.
महाराष्ट्र की सत्ता पर किसका राज होगा? क्या देवेंद्र फडणवीस मुख्यमंत्री रह पाएंगे? या विपक्ष को सरकार बनाने का अवसर मिलेगा? महाराष्ट्र को लेकर इन सभी सवालों का जवाब आज मिल जाएगा, सुबह 10.30 बजे सुप्रीम कोर्ट महाराष्ट्र विवाद पर अपना फैसला सुनाएगा. सोमवार को अदालत में तीखी बहस हुई थी. PLC

Comments

CAPTCHA code

Users Comment