ज़ाकिर हुसैन

नई दिल्ली.  प्रधानंत्री डॉ. मनमोहन सिंह ने कल यहां छोटे, लघु और मझौले उद्यमियों को राष्ट्रीय पुरस्कार प्रदान किए। छोटे, लघु और मझौले उद्यमियों को ऋण प्रदान करने में उत्कृष्ट कार्य करने वाले बैंकों को भी पुरस्कृत किया गया। रोजगार सृजन में छोटे, लघु और मझौले उद्योगों के सकारात्मक योगदान का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, ”यह क्षेत्र हमारी राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था का महत्वपूर्ण घटक है। यह लगभग 6 करोड़ लोगों को रोजगार उपलब्ध कराता है तथा कुल विनिर्मित उत्पादन में 45 प्रतिशत से अधिक और निर्यात आय में 40 प्रतिशत योगदान है।”

 पुरस्कार विजेता उद्यमियों को बधाई देते हुए डॉ. मनमोहन ने कहा कि हमारे युवाओं की दक्षता को विकसित करने तथा उनको प्रतिष्ठा एवं आत्म सम्मान का जीवन जीने में समर्थ बनाने में छोटे, लघु और मझौले उद्योगों की बहुत महत्वपूर्ण भूमिका है। तकनीकी श्रमशक्ति उत्पन्न करने के अलावा, इस क्षेत्र ने बड़ी संख्या में लोगों को प्रशिक्षित किया है। इस तरह यह क्षेत्र हमारे विशाल देश में औद्योगीकरण की वृध्दि में योगदान करता है।

 प्रधानमंत्री ने कहा, ”हाल की वैश्विक आर्थिक मंदी का हमारी अर्थव्यवस्था के विकास पर बुरा असर पड़ा है। छोटे, लघु और मझौले उद्यमी भी इससे अप्रभावित नहीं रहे। लेकिन मैं कुछ संतुष्टि के साथ कह सकता हूं कि सरकार इस क्षेत्र की आवश्यकता और चिंता के प्रति सचेत रही है….”मुझे खुशी है कि भारतीय रिजर्व बैंक के अनेक उपायों के समन्वय में सरकार की राहत पैकेज की घोषणा से इस क्षेत्र की सहायता की गई है। वर्ष 2009-10 के केन्द्रीय बजट में इन उपायों को आगे बढाया गया है।”

 डॉ. मनमोहन सिंह ने कहा, मैं मानता हूं कि हमें इस बेहद महत्वपूर्ण क्षेत्र की सम्पूर्ण विकास क्षमता का दोहन करने के लिए और भी बहुत कुछ करने की जरूरत है। इसी के अनुसरण में मुझे दो दिन पहले इस क्षेत्र के प्रतिनिधियों की बैठक में बात करने का लाभ मिला और मैंने एक कार्यबल के गठन के निर्देश दिए हैं जो इस क्षेत्र के समक्ष बाकी मुश्किलों पर विचार करेगा। तीन महीने की निर्धारित अवधि में इस कार्य बल की सिफारिशें उपलब्ध होने के बाद, हम यह फैसला करेंगे कि इस महत्वपूर्ण क्षेत्र को राहत और सहारा देने के लिए किस तरह आगे कदम बढाए जाएं। मैं आप में से हर एक को आश्वासन देना चाहता हूं कि हमारी सरकार आपकी चिंताओं को पूरी गंभीरता से लेगी और उन पर ईमानदारी से विचार करेगी।”

 छोटे, लघु और मझौले उद्योगों को ऋण उपलब्ध कराने में सराहनीय भूमिका के लिए सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों को बधाई देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, ” ऋण किसी भी व्यवसाय की जीवनरेखा है और छोटे, लघु एवं मझौले उद्योगों के व्यवसाय के मामले में तो यह और भी महत्वपूर्ण है। हमारी सरकार छोटे, लघु एवं मझौले उद्यमों में त्रऽण के प्रवाह को पांच वर्षों में दुगुना करने के लिए प्रतिबध्द है। मैं कुछ संतोष के साथ कहता हूं कि सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों से इस क्षेत्र में बकाया ऋण में करीब एक वर्ष के दौरान 25 प्रतिशत वृध्दि हुई है।” उन्होंने बैंकों से यह सुनिश्चित करने का आग्रह किया कि इन उद्यमियों को अधिक से अधिक ऋण मिले तथा छोटे, लघु और मझौले उद्यमियों से वेन्चर कैपिटल और प्राइवेट इक्विटी जैसे वित्त के नये एवं उभरते स्रोतों की तलाश करने का भी आग्रह किया।

 खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग की अध्यक्ष सुश्री कुमुद जोशी को बधाई देते हुए मनमोहन सिंह ने कहा कि, ”मुझे यह जानकार बड़ी खुशी हुई कि एशियाई विकास बैंक की सहायता से खादी क्षेत्र में व्यापक सुधार कार्यक्रम शुरू करने की योजना है।”

 प्रधानमंत्री ने अर्थव्यवस्था के इस बेहद महत्वपूर्ण घटक और क्षेत्र के पोषण तथा प्रोत्साहन देने के लिए अपनी सरकार की प्रतिबध्दता दोहराते हुए भाषण सम्पन्न किया। ” मैं एक बार फिर पुरस्कार विजेताओं को बधाई देता हूं तथा मुझे उम्मीद है कि वे राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था के इस महत्वपूर्ण क्षेत्र में आने के लिए और अधिक लोगों का मार्गदर्शन करने तथा दूसरों के लिए प्रेरणा एवं रोल मॉडल के रूप में कार्य करेंगे। ”

 इस अवसर पर छोटे, लघु एवं मझौले उद्योगों के मंत्रालय में राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री दिनशा पटेल ने कहा, ”छोटे, लघु एवं मझौले उद्योग रोजगार सृजन के मामले में कृषि क्षेत्र के बाद दूसरा सबसे बड़ा क्षेत्र है तथा इस क्षेत्र में 2 करोड़ 60 लाख उद्यमी और करीब 6 करोड़ लोगों को रोजगार मिला हुआ है।

 दिनशा पटेल ने कहा, ”वर्ष 2008-09 से 2011-12 के दौरान प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के तहत देश के ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में 37 लाख रोजगार सृजन के लिए 4,735 करोड़ रुपये चिन्हित किये गये हैं।”

 उन्होंने कहा कि 11वीं पंचवर्षीय योजना में इस क्षेत्र के लिए राष्ट्रीय विनिर्माण क्षमता कार्यक्रम हेतु 605 करोड़ रुपये रखे गये हैं। वैश्विक प्रतिर्स्प्धा का सामना करने तथा उद्यमियों की क्षमता बढाने के लिए मंत्रालय राष्ट्रीय विनिर्माण कार्यक्रम कार्यान्वित कर रहा है।

 छोटे, लघु और मझौले उद्यम मंत्रालय के तहत विकास आयुक्त, राष्ट्रीय लघु उद्योग निगम, खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग तथा कॉयर बोर्ड ने यह राष्ट्रीय पुरस्कार समारोह आयोजित किया था। इसमें विभिन्न श्रेणियों में कुल 225 पुरस्कार प्रदान किये गये। समारोह में प्रधानमंत्री के अलावा दिनशा पटेल और मंत्रालय में सचिव दिनेश राय ने भी कुछ पुरस्कार प्रदान किए।

21 COMMENTS

  1. This is a very exciting post, I was looking for this info. Just so you know I located your blog when I was checking for blogs like mine, so please check out my site sometime and leave me a comment to let me know what you think.

  2. Wonderful piece, this is very similar to a site that I have. Please check it out sometime and feel free to leave me a comenet on it and tell me what you think. Im always looking for feedback.

  3. This is a good article, I was wondering if I could use this blog on my website, I will link it back to your website though. If this is a problem please let me know and I will take it down right away.

  4. This is a very important post, I was looking for this knowledge. Just so you know I found your weblog when I was researching for blogs like mine, so please check out my site sometime and leave me a comment to let me know what you think.

  5. This is a good piece, I was wondering if I could use this piece of content on my website, I will link it back to your website though. If this is a problem please let me know and I will take it down right away.

  6. I’m happy I discovered this blog, I couldnt obtain any info on this subject before. I also run a website and if you’re ever serious in doing a bit of visitor writing for me if possible feel free to let me know, i’m always look for people to check out my blog site. Please stop by and leave a comment sometime!

  7. This is a good article, I was wondering if I could use this piece of content on my website, I will link it back to your website though. If this is a problem please let me know and I will take it down right away.

  8. Useful blog, this is very similar to a site that I have. Please check it out sometime and feel free to leave me a comenet on it and tell me what you think. Im always looking for feedback.

  9. This is a very important post, I was looking for this knowledge. Just so you know I located your web site when I was doing research for blogs like mine, so please check out my site sometime and leave me a comment to let me know what you think.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here