Tuesday, February 25th, 2020

प्रदेश और देश के नव-निर्माण में समाज का सहयोग जरूरी

आई एन वी सी न्यूज़ भोपाल , मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश और देश के नव-निर्माण में समाज को सरकार के साथ कदम से कदम मिलाकर सहयोग करना होगा। जब सारे स्वैच्छिक संगठन एकजुट होकर यह प्रयास करेंगे तो प्रदेश और देश निश्चित ही तेजी से बदलेगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज यहाँ मुख्यमंत्री निवास पर जन-अभियान परिषद द्वारा आयोजित मुख्यमंत्री उत्कृष्ट स्वैच्छिक संगठन पुरस्कार वितरण समारोह को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने समारोह में जिला और विकासखंड स्तर पर उत्कृष्ठ कार्य करने वाले स्वैच्छिक संगठनों को पुरस्कृत किया। कार्यक्रम में स्वास्थ्य मंत्री श्री रूस्तम सिंह भी उपस्थित थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि नर्मदा सेवा यात्रा के दौरान अच्छा काम करने वालों को मेडल दिया जाएगा। जन-अभियान परिषद द्वारा समाज सेवा के क्षेत्र में विशिष्ट प्रकृति वाले कार्य किये जा रहे हैं। जन-अभियान परिषद द्वारा अलग-अलग क्षेत्रों में काम कर रहे स्वैच्छिक संगठनों को एक छत के नीचे लाया गया है। परिषद ने पर्यावरण, नदी संरक्षण, जल संरक्षण, सामाजिक कुरीतियों के विरूद्ध जागरूकता, नर्मदा सेवा यात्रा, सिंहस्थ और शिक्षा के प्रसार के लिये काम किया है। राज्य सरकार के सभी महत्वपूर्ण अभियानों में जन-अभियान परिषद का सहयोग रहा है। स्वैच्छिक संगठनों की ताकत से असंभव कार्य को भी पूरा किया जा सकता है। श्री चौहान ने कहा कि नर्मदा सेवा यात्रा एक मिशन था, यह दूसरी नदियों के लिये भी जारी रहेगा। जबलपुर में आगामी 11 दिसम्बर को नर्मदा सेवा समितियों का सम्मेलन आयोजित किया जायेगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि भारत को सांस्कृतिक रूप से एक करने का काम आदि शंकराचार्य ने किया था। उन्होंने दुनिया को अद्वेत दर्शन दिया था और बताया था कि हर प्राणी में एक ही चेतना है। आदि गुरू शंकराचार्य की विशाल प्रतिमा ओंकारेश्वर में स्थापित की जायेगी। इस प्रतिमा के लिये हर गाँव से कलश में मिट्टी लायी जायेगी। आदि गुरू एकात्म यात्रा का नेतृत्व संतगण और समाज करेगा। श्री चौहान ने कहा कि यह यात्रा आगामी 19 दिसम्बर से शुरू होगी तथा 22 जनवरी को समाप्त होगी। उन्होंने इस यात्रा में जनअभियान परिषद से सक्रिय भागीदारी का आग्रह किया। कार्यक्रम में जन-अभियान परिषद के उपाध्यक्ष श्री प्रदीप पाण्डे ने स्वागत भाषण दिया और कार्यक्रम की रूपरेखा बतायी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कार्यक्रम में 44 जिला तथा 182 विकासखंड स्तरीय मुख्यमंत्री उत्कृष्ट स्वैच्छिक संगठन पुरस्कार वितरित किये। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री चौहान की धर्मपत्नी श्रीमती साधना सिंह चौहान, राज्य खनिज विकास निगम के अध्यक्ष श्री शिव चौबे, जन-अभियान परिषद के उपाध्यक्ष श्री राघवेन्द्र गौतम, जन-अभियान परिषद के कार्यपालक निदेशक श्री धीरेन्द्र पाण्डे, आदिगुरू एकात्म यात्रा के समन्वयक श्री विजय दुबे भी उपस्थित थे।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment