Wednesday, April 1st, 2020

प्रकाश बादल ने पहनाया अमलीजामा कहा डेरियों व ढाणियों को 24 घंटे बिजली सप्लाई होगी

images (1)आई एन वी सी, पंजाब, अमृतसर, फिरोज़पुर, फाजिल्का, गुरदासपुर, पठानकोट और तरनतारन नाम के 6 सीमावर्ती जिलों के 18 ब्लॉकों मे समूचा विकास करने के लिए पंजाब के मुख्यमंत्री स. प्रकाश सिंह बादल ने साल 2013-14 के लिए लगभग 1433 ़97 करोड़ रूपए के व्यापक विकास पैकेज को स्वीकृति दे दी है ताकि इन मुश्किल भरे इलाकों के वासियों को बढिय़ा सुविधांए दी जा सकें और वह निम्र स्तर पर विकास द्वारा और कल्याण योजनाओं के लागू होने के साथ विकास का आनन्द प्राप्त कर सके। शिरोमणि अकाली दल-भाजपा गठजोड़ के विधायकों व पार्टी नेताओं की आज सुबह पंजाब भवन मे एक उच्च स्तरीय बैठक दौरान स. बादल ने इन जिलों के 14 विधानसभा के क्षेत्रों के प्रतिनिधियों को कहा कि वह विकास कार्यो को नतीजा मुखी ढंग से लागू करें और उनके समय पर मुक्कमल होने व कार्यो के बढिय़ा होने को यकीनी बनाने के लिए स्थानीय पंचायते, म्यूनिसपल कमेटियों और अन्य स्थानीय संस्थाओं की भागेदारी को यकीनी बनाने और इन प्रोजेक्टों पर सीधी निगरानी रखें। लोगों की जरूरतों के अनुसार विकास कार्यो को पूरा करने की जरूरत पर जोर देते हुए स. बादल ने कहा कि हर कीमत पर इन कार्यो में पारदर्शिता और जवाबदेही को यकीनी बनाया जाये ताकि सीमावर्ती क्षेत्रों के लोगों के कल्याण के लिए इन फंडों की उचित ढंग के साथ प्रयोग हो सके और उन्हें बुनियादी सुविधांए मुहैया करवाई जा सकें। स. बादल ने स्पष्ट किया कि इन कार्यो के लिए अलॉट किए गये फंड टैक्स देेने वालों की सख्त मेंहनत से प्राप्त हुए है जिससे इनकी उचित ढंग के साथ प्रयोग किया जा सके। इस पैकेज संबंधी जानकारी देते हुए स. बादल ने विधायकों को कहा कि इन फंडों को सडक़ों के निर्माण व मुरम्मत, पीने वाले पानी व सैनीटेशन स्कीमों, नहरों, रजवाहों और नालों को पुन: जीवित करने, स्वास्थय सेवाओं का स्तर उंचा उठाने और पशु पालन व स्कूलों-कालेजों के बुनियादी ढांचे की पुन: जीवित करने के लिए प्रयोग किया जाये। मुख्यमंत्री ने चीफ इंजीनियर नहरों को निर्देश दिए कि वह निजी तौर पर इन क्षेत्रों का दौरा करें व नहरों , रजबाहों, नालो आदि में गार निकालने और इनके बांधों को मज़बूत करने संबंंधी विधायकों के साथ विचार विमर्श करके अंतिम रूप दें ताकि इन कार्यो को शुरू करने के लिए प्राथमिकता निर्धारित की जा सके। स. बादल ने कहा कि राज्य सरकार सीमावर्ती और कंडी क्षेत्रों के डेयरीयां व ढाणीयों को शहरी तर्ज पर 24 घंटे घरेलू बिजली सप्लाई देने के लिए वचनबद्ध है जिस के लिए इस वर्ष में तीन या इससे अधिक गांवों का एक कल्सटर बनाया जाएगा व इससे अधिक 200 करोड़ रुपये खर्चे जांएगे। शेष बचती ढाणियों और डेयरीओं को अगले 2 वर्षो दौरान इस कार्यक्रम अधीन लाया जाएगा। मुख्यमंत्री ने अमृतसर जिले के अटारी ब्लॉक के अजनाला के लिए 83.15 करोड़ व चौगावां के लिए 57.35 करोड़ रुपये मंजूर किये हैं। स. बादल ने फिरोज़पुर जिले के फिरोज़पुर शहर के लिए 214.13 करोड़, फिरोज़पुर देहाती के लिए 108.82 करोड़ , गुरू हरसहाय के लिए 62.48 करोड़ रुपये मंजूर किए हैं। इस प्रकार उन फाजिल्का जिले के फाजिल्का के लिए 104.93 करोड़, जलालाबाद के लिए 186.12 करोड़ और खुईयां सरवर के लिए 224.96 करोड़ रुपये की मंजूरी दी है। मुख्यमंत्री ने गुरदासपुर जिले के कलानौर के लिए 55.11 करोड़, गुरदासपुर ब्लॉक के लिए 5.19 करोड़, दीना नगर के लिए 48.98 करोड़ और दौरांगला ब्लॉक के लिए 36.72 करोड़ रुपये मंजूर किए हैं। इस प्रकार पठानकोट जिले के बमिआल के लिए 54.75 करोड़, नरोट जैमल सिंह ब्लॉक के लिए 8.55 करोड़ रुपये मंजूर किए हैं। स. बादल ने भिखीविंड के लिए 78.07 करोड़, बलटोहा ब्लॉक के लिए 24.42 करोड़ और गंडीविंड ब्लॉक के लिए 28.57 करोड़ रुपये की भी स्वीकृति दी। बैठक में उपस्थित मुख्य शख्शीयतों में वन मंत्री और फाजिल्का के विधायक श्री सुरजीत कुमार जिआणी, कैबिनेट मंत्री और अटारी के विधायक श्री गुलजार सिंह रणिके, मुख्य संसदीय सचिव और गुरदासपुर के विधायक श्री गुरबचन सिंह बब्बेहाली, मुख्य संसदीय सचिव और खेमकरण के विधायक श्री विरसा सिंह वलटोहा, मुख्य संसदीय सचिव और अजनाला के विधायक श्री अमरपाल सिंह अजनाला, बोहा की विधायक श्रीमती सीमा कुमारी और भूतपूर्व कैबिनेट मंत्री श्री सुच्चा सिंह लंगाह, प्रमुख सचिव देहाती विकास और पंचायत श्री मनदीप सिंह संधू, प्रमुख सचिव शिक्षा श्रीमती रमनीत कौर, प्रबंधकीय डायरैक्टर पंजाब स्वास्थय सिस्टम कॉरपोरेशन श्री हुस्नलाल , विशेष प्रमुख सचिव/मुख्यमंत्री श्री के जे एस चीमा, डायरैक्टर राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थय मिशन श्री राज कमल चौधरी, चेयरमैन पी एस पी सी एल, श्री के डी चौधरी, चीफ इंजीनियर नहरें श्री ए एस दौलत और चीफ इंजीनियर ड्रेनेज श्री विनोद चौधरी भी शामिल थे।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment