भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली का निधन हो गया है। उन्होंने राजधानी दिल्ली स्थित एम्स अस्पताल में अंतिम सांस ली। जेटली 66 वर्ष के थे। गृहमंत्री अमित शाह ने अपना हैदराबाद का दौरा रद्द कर दिया है और वो अब वापस दिल्ली पहुंच रहे हैं। उन्हें 9 अगस्त को उन्हें सांस लेने में तकलीफ की वजह से दिल्ली एम्स में भर्ती कराया गया था। हालत बिगड़ते देख डॉक्टरों ने उन्हें लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा था।

 

इसके बाद भी हालत में सुधार नहीं होने पर जेटली जेटली को ECMO, IABP सपॉर्ट पर रखा गया, ताकि वह सांस ले सकें। गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती जेटली को देखने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और गृह मंत्री अमित शाह समेत तमाम पार्टियों के बड़े नेता पहुंचे थे।

 

जेटली कई स्वास्थ्य स्थितियों से पीड़ित थे, जिनमें डायबिटीज और हाई ब्लड प्रेशर शामिल था। अतिरिक्त वजन कम करने के लिए उन्होंने सितंबर 2014 में बेरिएट्रिक सर्जरी कराई थी। उन्होंने मई 2018 में एक किडनी ट्रांसप्लांट भी कराया था।

 

उनके बायें पैर में सॉफ्ट टिशू कैंसर हुआ था जिसकी सर्जरी के लिए जेटली इसी साल जनवरी में अमेरिका भी गए थे। वो सितंबर 2014 में डायबिटीज मैनेज के लिए गैस्ट्रिक बाईपास सर्जरी करा चुके हैं। इसके अलावा वो साल 2005 में हार्ट सर्जरी भी करा चुके हैं। PLC