पुलिस अधिकारियों की तैनाती में मनमानी बंद हो – डा0 मनोज मिश्र

0
74

downloadआई एन वी सी ,

लखनऊ

भारतीय जनता पार्टी ने पूर्व मंत्री इकबाल महमूद पर डकैती का मुकदमा कायम करने के कारण वहां के एस.पी. को हटाने की निन्दा की है। पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता डा0 मनोज मिश्र ने सपा सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार ने संभल के एस.पी. को वहाँ से हटाकर प्रताड़ित किया है। सरकार ने दंगों के जिम्मेदार अधिकारियों की पुनः नियुक्ति की है तथा कई अन्य को प्रताड़ित किया है। पुलिस अधिकारियों के निलम्बन, बहाली तथा पोस्टिंग का कोई स्पष्ट नीति नही है। सरकार की मर्जी पर निलम्बन और नियुक्तियां हो रही है, मेरिट का कोई स्थान नही है।
डा0 मिश्र ने आरोप लगाया कि सरकार हर ईमानदार, कर्मठ अधिकारी का उत्पीड़न करती है तथा सरकार के लोगों का हित साधने वालों की मलाईदार पदों पर नियुक्ति करती है। मामला चाहे आई.ए.एस. अधिकारी दुर्गा नागपाल का हो, संभल के एस0पी0 का । उन्होंने कहा कि जब सरकार नियुक्ति और हटाने के मामले ईमानदार नही है तब बेहतर कानून व्यवस्था की अपेक्षा कैसे कर सकती है। अक्षम अधिकारियों का जिम्मेदार पदों पर रहना बदहाल कानून व्यवस्था, हत्या, बलात्कार और लूट के लिए जिम्मेदार है।
डा0 मिश्र ने सरकार को चेताते हुए कहा कि सरकार तत्काल पसन्द, नापसंद के बजाय पुलिस प्रशासनिक अधिकारियों की नियुक्तियां न करके पारदर्शी तरीके से मेरिट के आधार पर करें। साहसी और अच्छे अधिकारियों को पुरूस्कृत करे तथा चाटुकारों और अक्षम अधिकारियों को सजा दे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here