Close X
Monday, November 30th, 2020

पुलिसे प्रशाशन के अफसरों ने अपनी प्रशासनिक विफलता को छुपाने के लिए निर्दोष नागरिकों पर फायरिंग के आदेश दिए - भाजपा

आई.एन.वी.सी,, लखनऊ,, भारतीय जनता पार्टी ने आज आरोप लगाया कि बसपा सरकार के राज में भ्रष्टाचार व अन्याय के विरूद्ध आवाज उठाना अपराध बन गया है। प्रदेश प्रवक्ता विजय बहादुर पाठक ने कहा कि राज्य के वरिष्ठ मंत्रियों पर लगे आरोपों के बाद अब सत्ता शीर्ष के नजदीक अफसर पर भी अपने कारनामों का विरोध करने वालों को धमकाने के आरोपों की जद में हैं। उन्होंने बसपा सरकार को प्रशासनिक रूप से अक्षम बताते हुए कहा कि पुलिस प्रशासन पर सरकारी नियंत्रण न होने के कारण ही आज कन्नौज (गुरूसहांयगंज) में फायरिंग के दौरान एक व्यक्ति बेमौत मारा गया। श्री पाठक ने कहा कि राज्य में विधानसभा चुनाव नजदीक आते देख सत्ताधारी दल के मंत्री-विधायक और वरिष्ठ अफसर अपने पदों का दुरूपयोग कर आमजन को धमकाने में जुट गए हैं। उन्होंने कहा बसपा सरकार के जंगलराज के परिणामस्वरूप ही प्रदेश के मंत्री अपने खिलाफ शिकायत करने वालों को  धमका रहे हैं, वहीं पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी पर अपने ही सिपाहियों द्वारा धमकाने का आरोप लगा और मामले में  केस दर्ज करने का न्यायालय से आदेश हुआ है। अपने वरिष्ठ अधिकारियों की कारगुजारियों से आहत पुलिस-प्रशासन का मनोबल इतना गिर चुका है कि वे घटनाओं पर तात्कालिक निर्णय लेने में विफल साबित हो रहे हैं। श्री पाठक ने कन्नौज (गुरूसहांयगंज) की घटना का जिक्र करते हुए कहा कि स्थानीय स्तर पर पुलिस प्रशासन के अफसरों ने अपनी प्रशासनिक विफलता को छुपाने के लिए निर्दोष नागरिकों पर फायरिंग के आदेश दिए जिसमें  एक निर्दोष व्यक्ति की मौत हो गई। दरअसल राज्य का प्रशासनिक तंत्र तात्कालिक घटना को नियंत्रित करने में पूरी तरह विफल साबित हो रहा है। आंखिर क्या कारण है कि भट्टा पारसौल में वरिष्ठ अधिकारी घायल होते हैं, गोलीबारी होती है, मुरादाबाद में गोलीबारी होती है, अधिकारी घायल होते हैं। आज भी गुरूसहांयगंज में जिस घटना में पुलिस ने गोली चलाई है वह पूरी तौर पर प्रशासनिक विफलता कही जाएगी। यहां भी गोलीबारी होती है, जहां आमजन की क्षति होती है वहीं वरिष्ठ अधिकारी भी घायल होते हैं। प्रदेश प्रवक्ता ने कन्नौज (गुरूसहांयगंज) में पुलिस फायरिंग में मारे गए नागरिक के परिजनों को उचित मुआवजे की मांग करते हुए मामले में दोषी अधिकारियों को निलंबित कर उनके विरूद्ध मुकदमा दर्ज किए जाने की मांग की।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment