Close X
Friday, July 30th, 2021

पिछले 24 घंटे में आये संक्रमण 70 नये मामले

आई एन वी सी न्यूज़
लखनऊ,
अपर मुख्य सचिव ‘सूचना’ नवनीत सहगल ने बताया कि मुख्यमंत्री जी के 3टी ट्रेस, टेस्ट और ट्रीट अभियान के साथ-साथ अभिनव प्रयोग करते हुए आशिंक कोरोना कर्फ्यू तथा टीकाकरण से प्रदेश में दूसरी लहर के कोरोना संक्रमण को नियंत्रित किया गया है। इस अभिनव प्रयोग में कोरोना संक्रमण में निरन्तर कमी आ रही है। प्रदेश में सक्रिय मामले कम होने पर भी कोविड-19 के टेस्ट करने की संख्या घटाई नहीं की जा रही है। मा0 मुख्यमंत्री जी द्वारा 18 मण्डलों व 40 जनपदों में स्वंय जाकर स्थलीय निरीक्षण भी कर चुके है। उन्होंने बताया कि 3टी के कारण ही 30 अप्रैल के एक्टिव मामले 3,10,783 घटकर आज 1093 तथा 30 अप्रैल के प्रतिदिन कोविड केस 38 हजार से घटकर आज 70 हो गये है। प्रदेश में कोविड टीकाकरण का कार्य तेजी से किया जा रहा है। अब तक लगभग 04 करोड़ 10 लाख कोविड की डोज दी जा चुकी है इसे और बढ़ाकर प्रतिदिन की 10 लाख डोज लगाने की योजना बनायी जा रही है। उन्होंने बताया कि 12 वर्ष से कम आयु वाले बच्चों के अभिभावक को अभिभावक स्पेशल बूथ बनाकर वैक्सीनेशन किया जा रहा है। जिससे संभावित तीसरी लहर आने से पहले सभी को वैक्सीनेड्ड किया जा सके।

श्री सहगल ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में 05 मई से लक्षण युक्त मरीजों को चिन्हित करने का अभियान चलाया गया। सर्विलांस के माध्यम से सरकारी मशीनरी द्वारा उत्तर प्रदेश की 24 करोड़ की जनसंख्या में से अब तक लगभग 17 करोड़ से अधिक लोगों से उनका हालचाल जाना गया है।

श्री सहगल ने बताया कि मा0 मुख्यमंत्री जी ने आज टीम-9 की बैठक में प्रदेश सरकार द्वारा एक जनपद एक मेडिकल कॉलेज का एक लक्ष्य लेकर प्रदेश सरकार चल रही है। उसमें लगभग 09 मेडिकल कालेज का उद््घाटन मा0 प्रधानमंत्री जी के कर कमलों से किया जायेगा। जिसमें देवरिया, मिर्जापुर, एटा, फतेहपुर, हरदोई, प्रतापगढ़, सिद्धार्थनगर, गाजीपुर तथा जौनपुर जनपद है। शेष 16 जनपदों में पीपीपी मॉडल के आधार पर मेडिकल कालेज खोले जाने के संबंध में कार्यवाही चल रही है। लगभग 50 मेडिकल कालेज में पहले से ही स्वीकृत है उनपर कार्यवाही चल रही है।

श्री सहगल ने बताया कि संभावित कोविड की तीसरी लहर के तहत में 6500 से अधिक पीकू/नीकू बेड की व्यवस्था की गयी है। मुख्यमंत्री जी ने स्वास्थ्य विभाग को निर्देशित किया है कि वह सुनिश्चित कर ले कि अस्पतालों में किसी भी प्रकार के चिकित्सीय उपकरणों में कमी नहीं होनी चाहिए। अगर कहीं भी किसी भी प्रकार की कमी है तो उसे मंागा लिये जाये तथा कर्मचारियों का भी प्रशिक्षण किया जाये जिससे उपकरण चलाने में किसी भी प्रकार की कठिनाई न हो। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने यह भी निर्देश दिया है कि कोरोना काल में जिन निजी अस्पतालों में अधिक धनराशि मरीजों से ली है, उसे उनकों वापस कराकर अस्पतालों के विरूद्ध कार्यवाही की जाये।

श्री सहगल ने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने सभी जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षकों को निर्देश दिये है कि माह में एक दिन व्यापार मण्डल व उद्योगप्रतिनिधियों के साथ बैठक कर उनसे संवाद करे और जो भी उनकी समस्याएं है उनका निस्तारण कराये। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कर्मचारियों के प्रति संवेदना दिखाते हुए सभी सरकारी कार्यालय में जिन कर्मचारियों के विभागाध्यक्ष को निर्देशित किया है कि कर्मचारियों का वेतन का मामला, वेतन विसंगति का मामला, छुट्टी का मामला तथा पदोन्नति का मामला इसकों तत्काल निस्तारण कराया जाये। अधिकारियों को सप्ताह में एक बार एक घण्टा के लिए उनकी समस्याओं का समय से निदान किया जाये। इसके साथ-साथ कोरोना या किसी अन्य कारण से मृत्यु हुयी है उनके आश्रितों को तत्काल नियुक्ति की प्रक्रिया की जाये और जो लाभ परिजनों को मिलने है समय से उनकों लाभ दिये जाये।  

श्री सहगल ने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने निर्देश दिये है कि तहसील दिवस व थाना दिवस हो रहे है उसमें द्वितीय व चतुर्थ को थाना दिवस तथा प्रथम व तृतीय को तहसील दिवस है यह सुनिश्चित किया जाये कि पांच दिन में अगले तहसील दिवस से पहले समस्याओं का निस्तारण हो जाये और इसी प्रकार से देखा जाये कि निस्तारण समय से हो और जहां पर किसी कानूनी वजह से निस्तारण करना संभव नहीं है तो उसकी सूचना आवेदक को दे दी जाये। जिससे उसे कठिनाई का सामना न करना पड़े।

अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि मुख्यमंत्री जी के निर्देशानुसार प्रदेश में बड़ी संख्या में संक्रमण कम होने के बावजूद, टेस्टिंग कम नहीं की जा रही है। गत एक दिन में कुल 2,36,546 सैम्पल की जांच की गयी है। प्रदेश में अब तक कुल 6,28,26,817 सैम्पल की जांच की गयी है, जो देश में सबसे अधिक है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 70 नये मामले आये हैं। प्रदेश में विगत 24 घंटे में 155 लोग तथा अब तक 16,84,123 लोग कोविड-19 से ठीक हो चुके हैं। प्रदेश में कोरोना के कुल 1093 एक्टिव मामले हैं। प्रदेश में रिकवरी रेट 98.6 प्रतिशत है। उन्होंने बताया कि सर्विलांस की कार्यवाही निरन्तर चल रही है। प्रदेश में अब तक सर्विलांस टीम के माध्यम से 2,95,292 क्षेत्रों में 6,48,457 टीम दिवस के माध्यम से 3,58,61,921 घरों के 17,23,90,681 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया है।

श्री प्रसाद ने बताया कि कोविड वैक्सीनेशन का कार्य निरन्तर किया जा रहा है। प्रदेश में विगत 24 घंटे में 6,82,881 दी गयी। प्रदेश में 3,43,94,183 लोगों को वैक्सीन की पहली डोज तथा 66,57,551 लोगों को दूसरी डोज दी जा चुकी है। अब तक कुल 4,10,51,734 डोजें लगायी गयी हैं। उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा यह निर्णय लिया गया है कि जिन राज्यों में 03 प्रतिशत से अधिक साप्ताहिक पाजिटिविटी की दर चल रही है। वहां से जो भी यात्री प्रदेश में आयेंगे, उन लोगों को आरटीपीसीआर की निगेटिव रिपोर्ट पिछले चार दिन की हो तथा दोनों डोज की वैक्सीनेशन की रिपोर्ट लेकर आये तथा दोनों रिपोर्ट में से एक रिपोर्ट प्रस्तुत करना आवश्यक होगा। केवल उन राज्यों के लिए लागू हो रहा है। साप्ताहिक पाजिटिव दर 03 प्रतिशत से ऊपर चल रही है बाकी की राज्यों जहां पर संक्रमण कम है वहां से जो यात्री आ रहे है उनके लिए यह प्रतिबन्ध नहीं है। कौन-कौन से राज्य है उनकी सूचना महानिदेशक स्वास्थ्य की वेबसाइट पर जाकर देखी जा सकती है। प्रदेश में कोविड संक्रमण अभी समाप्त नहीं हुआ है। इसलिए कोविड प्रोटोकाल का अवश्य पालन करे।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment