Tuesday, May 26th, 2020

पिछले कई दशकों में भारतीय उद्यम अंतर्राष्‍ट्रीय मानकों के अनुसार विशिष्‍टता प्राप्‍त करने में समर्थ रहे : मनमोहन सिंह

रत्नम् चन्द्रा,, आई. अन. वी. सी.,, दिल्ली,, प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह ने आज यहां उत्‍पादकता, गुणवत्‍ता, विश्‍वसनीयता, आशावादिता और प्रतिरूपण पर आयोजित अंतर्राष्‍ट्रीय कांग्रेस का उद्घाटन किया। भारतीय सांख्यिकी संस्‍थान और भारतीय गुणवत्‍ता परिपद तथा डीआरडीओ की ओर से संयुक्‍त रूप से यह कांग्रेस आयोजित की गई है। इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने कहा कि हम जोरदार प्रतियोगिता और त्‍वरित प्रौद्योगिकीय बदलाव के युग में जी रहे हैं। प्रौद्योगिकी के बल पर कई उद्योगों में प्रवेश की बाधाएं या तो समाप्‍त हो रही हैं या फिर उसमें काफी कमी आ रही है, जिसके कारण जींसों और सेवाओं के प्रदाताओं की संख्‍या बढ़ रही है। संचार प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में उल्‍लेखनीय प्रगति के कारण उपभोक्‍ता आज विश्‍व भर में व्‍यापक रूप से फैले श्रेष्‍ठ उत्‍पादों को खरीद पा रहे हैं। इस तरह के वातावरण में महज ग्राहकों की जरूरतों को पूरा करने की क्षमता होना ही पर्याप्‍त नहीं है। आज अपने-अापको कायम रखने आगे बढ़ने और फलने-फूलने के लिए जो कुछ जरूरी है, वह विशिष्‍टता की संस्कृति और अभिनवता है। एक उपक्रम को प्रतिस्‍पर्धा बनाए रखने के लिए उसके द्वारा तैयार उत्‍पाद ऐसे होने चाहिए, जिसके माध्‍यम से काम को शीघ्र अपेक्षाकृत शीघ्रता से, किफायती और बेहतर तरीके से निपटाया जा सके और उसकी गुणवत्‍ता आधुनिक उपभोक्‍ताओं द्वारा की गई मांग के अनुरूप होना चाहिए। प्रधानमंत्री ने इस बात पर संतोष व्‍यक्‍त करते हुए कहा कि पिछले कई दशकों में भारतीय उद्यम अंतर्राष्‍ट्रीय मानकों के अनुसार विशिष्‍टता प्राप्‍त करने में समर्थ रहे हैं। हम सूचना प्रौद्योगिकी तथा सूचना प्रौद्योगिकी आधारित सेवाओं, भेषज उद्योग, मोटरवाहन, डिजाइन इंजीनियरिंग तथा तेल शोधन जैसे क्षेत्रों में सफलताओं का गवाह रहे हैं। हमारे उद्यमों ने तेल शोध और सॉफ्टवेयर जैसे क्षेत्रों में परियोजनाओं के क्रियान्‍वयन में मानक कायम किया है। [caption id="attachment_22996" align="alignnone" width="300" caption="The Prime Minister, Dr. Manmohan Singh addressing at the inauguration of International Congress on Productivity, Quality, Reliability, Optimization and Modeling in New Delhi on February 07, 2011. Union Finance Minister, Shri Pranab Mukherjee is also seen."]The Prime Minister, Dr. Manmohan Singh addressing at  the inauguration of International Congress on Productivity, Quality, Reliability, Optimization and Modeling in New Delhi on February 07, 2011. Union Finance Minister, Shri Pranab Mukherjee is also seen.[/caption]

Comments

CAPTCHA code

Users Comment

angina, says on April 5, 2011, 4:12 AM

Good interesting site, I invite you to her.