Monday, July 6th, 2020

पिछडे जिलों को गोद लेकर कराया जायेगा विकास : वसुन्धरा राजे

HO41996Sec419962आई एन वी सी न्यूज़ जयपुर, मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने कहा कि भरतपुर संभाग के चारों जिलों के साथ ही राज्य के विकास की दृष्टि से पिछड़े अन्य जिलों को सरकार निकट भविष्य में गोद लेकर वहां आधारभूत संरचना विकास के कार्य प्राथमिकता से करवाएगी। राजे बुधवार को भरतपुर जिला मुख्यालय पर श्रृंखलाबद्घ विकास कार्यों का शिलान्यास एवं उद्घाटन कर आमसभा को संबोधित कर रही थी। उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटलबिहारी वाजपेयी के जन्म दिवस 25  दिसम्बर को सरकार सुशासन दिवस के रूप में मनायेगी। उन्होंने कहा कि ग्राम पंचायत मुख्यालयों पर अटल सेवा केन्द्र विकसित किये जायेंगे जिससे ग्रामीणों को आधुनिकतम सुविधाओं का सीधा लाभ मिलेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में आज करीब 5 हजार चिकित्सकों की कमी है और भरतपुर सहित 7 जिलों में स्थापित किये जा रहे मेडिकल कॉलेजों से प्रतिवर्ष 1100 अतिरिक्त सीटों की व्यवस्था से आने वाले वर्षों में कुछ हद तक चिकित्सकों कमी को दूर किया जा सकेगा और इन जिलों के लोगों को बेहतर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध होने लगेगी। उन्होंने कहा कि सरकार का प्रयास है कि भरतपुर ,अलवर एवं शेखावाटी में स्थापित किये जा रहे विश्वविद्यालय भी आगामी जुलाई माह से विधिवत अपना कार्य प्रारम्भ कर दें। श्रीमती राजे ने कहा कि चुनावों के कारण सरकार को महज 151 दिन कार्य करने का समय मिला है इसके बावजूद सरकार ने राज्य में आधारभूत संरचना विकास के बहुत से कार्य कराये हैं। उन्होंने कहा कि वे इसका हिसाब 5 साल बाद देंगी और वह भी किसी पार्टी को नहीं अपितु जनता को। उन्होंने कहा कि विद्यार्थी मित्रों की समस्या को देखते हुये विद्यालय सहायक का नया कैडर तैयार किया जाएगा तथा तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती परीक्षा में अदालती रिट याचकाओं को ध्यान में रखते हुये शीघ्र ही मैरिट के आधार पर नियुक्ति दी जायेगी। उन्होंने कहा कि अवैध खनन रोकथाम की दृष्टि से पहाडी में आरएसी की नई 14वीं बटालियन स्थापित की जा रही है जिसमें भी करीब 1 हजार युवाओं की भर्ती होगी। मुख्यमंत्री ने पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी एवं पं.मदनमोहन मालवीय को केन्द्र सरकार द्वारा भारत रत्न देने की घोषणा को स्वागत योग्य कदम बताते हुये कहा कि किसानों को ब्याज मुक्त ऋण और निशुल्क दवा योजना बन्द करने की सरकार की कोई मंशा नही है अपितु निशुल्क दवा योजना का बजट सरकार ने 255 से बढाकर 298 करोड़ किया है। उन्होंने कहा कि वे भरतपुर संभाग की स्थिति से भलीभांति परिचित हैं जहॉ नीचे का प्रशासनिक तंत्र चरमरा गया है।  उसे ही चुस्त दुरूस्त करने के लिये उन्होंने सरकार आपके द्वार अभियान के तहत फरवरी में पहले भरतपुर और फिर बीकानेर व उदयपुर संभाग का दौरा कर समस्याओं को समझा और उनके निराकरण के लिये ठोस प्रयास किये। उन्होंने कहा कि भरतपुर संभाग में सरकार का फोकस बिजली ,पानी व सडक़ की समस्याओं का प्राथमिकता से निराकरण करना है। श्रीमती राजे ने कहा कि राज्य में महिलाओं के सशक्तीकरण के लिये भामाशाह योजना लागू की गई है और इसे आधारकार्ड एवं प्रधानमंत्री जनधन योजना से जोड़ा जा रहा है। उन्होंने पहाड़ी को आमजन की मांग पर पंचायत समिति बनाने, रूपवास को नगर पालिका का दर्जा देने , सुजान गंगा का चरणबद्घ जीर्णोद्घार के साथ ही भरतपुर में सीवरेज के कार्य की चर्चा करते हुये कहा कि शीघ्र ही शहर की सडक़ों को नया रूप मिलेगा। उन्होंने कहा कि शहरों की तर्ज पर ग्राम पंचायत मुख्यालयों पर भी गौरव पथ का निर्माण गॉव के विकास में सहायक होगा। पहाडी में 8.5 करोड की लागत से आईटीआई, उच्चैन रूदावल, रूपवास व साबोरा में अनुसूचित जाति के छात्राावासों का निर्माण भी शीघ्र पूर्ण कराया जायेगा। उच्च शिक्षा मंत्री श्री कालीचरण सराफ ने कहा कि भरतपुर में महाराजा सूरजमल विश्वविद्यालय, अलवर में राजा भर्तृहरी विश्वविद्यालय और शेखावाटी में दीनदयाल उपाध्याय विश्वविद्यालय आगामी शैक्षिक सत्र 1 जुलाई से विधिवत काम करना प्रारम्भ कर देगें। जिले की प्रभारी पर्यटन राज्य मंत्री श्रीमती कृष्णेन्द्र कौर दीपा ने कहा कि आज जिले में किये गये अनेक शिलान्यासों एवं उद्घाटन से निश्चय ही जिले के विकास में गति आयेगी । इस अवसर पर सांसद श्री बहादुर सिंह कोली, पूर्व मंत्री श्री डॉ. दिगम्बर सिंह, विधायक श्री विजय बंसल, श्री जगत सिंह, अनिता सिंह, श्री बच्चू सिंह, नगर निगम महापौर श्री शिवसिंह भोंट भी उपस्थित थे।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment