Thursday, December 5th, 2019

पारंपरिक तथा उभरते वस्त्र समूहों पर राष्ट्रीय फैशन प्रौद्योगिकी संस्थान के विशिष्ट केंद्रों की स्थापना की ज़रूरत : दयानिधि मारन

आईएनवीसी ब्यूरो

नई दिल्ली. केंद्रीय कपड़ा मंत्री दयानिधि मारन ने पारंपरिक तथा उभरते टेक्सटाईल समूहों की आवयश्कताओं को पूरा करने के लिए राष्ट्रीय फैशन प्रौद्योगिकी संस्थान के विशिष्ट केंद्रों की स्थापना की ज़रूरत पर बल दिया है। मारन कल नई दिल्ली में राष्ट्रीय फैशन प्रौद्योगिकी संस्थान (एनआईएफटी) के 15वें दीक्षांत समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने बताया कि डोड्भल्लापुर, अनंतपुर, कोहलापुर, सूरत, जयपुर, लुधियाना और तिरूपुर एनआईएफटी स्थापना करने की मांग लगातार रही है।

 

मंत्री ने कहा कि फैशन के क्षेत्र में एनआईएफटी ने विश्व के अग्रणी फैशन संस्थानों तथा संगठनों से मज़बूत संबंध स्थापित किये हैं और इनके कारण इन संस्थानों तथा संगठनों के बीच विचारों का आदान प्रदान होता है। उन्होंने बताया कि हाल ही में उनकी यूरोप यात्रा के दौरान स्विटज़रलैंड में एक प्रसिध्द कॉलेज द्वारा एनआईएफटी के साथ सेमिस्टर कार्यक्रम के आदान-प्रदान का प्रस्ताव प्राप्त हुआ था।

 

इस दीक्षांत समारोह में मारन ने लगभग 1500 स्नातक तथा स्नातकोत्तार छात्रों को डिग्रियां प्रदान कीं और उनके उज्ज्वल भविष्य तथा सफलता की कामना की।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment