ईशान राय,,
आई एन वी सी,,
दिल्ली,,
दिल्ली भाजपा अध्यक्ष श्री विजेन्द्र गुप्ता ने कहा है कि पाकिस्तानी सैनिकों की बर्बरतापूर्ण कार्रवाई का जवाब भारत सरकार को ईंट का जवाब पत्थर की तरह देना चाहिए ताकि पाक की नापाक हरकतों पर विराम लग सके। इस घटना को देष के 121 करोड़ भारतीयों का अपमान करार देते हुये उन्होंने कहा कि इस मामले में पाकिस्तान के खिलाफ हर जवाबी कार्रवाई का भाजपा समर्थन करेगी। अब सरकार को आगे आना चाहिए। इस मौके पर भाजपा ने पाकिस्तान का झंडा भी जलाया। घटना से आक्रोषित हजारों भाजपा कार्यकर्ताओं ने आज दिल्ली प्रदेष मुख्यालय 14 पंडित पन्त मार्ग से पाकिस्तान दूतावास की ओर जबरदस्त नारे लगाते हुये मार्च किया। पुलिस ने सब को राम मनोहर अस्पताल के गोल चक्कर पर रोक लिया। इस पर कार्यकर्ता गुस्से में आ गये और उन्होंने पुलिस के बैरियर तोड़ दिये। मार्च में भारी संख्या में महिला कार्यकर्ता षामिल थीं। प्रदर्षनकारी हाथों में प्लेकाडर््स लिये थे। उन पर लिखा था – भारतीय सैनिकों पर चुपके से वार-नहीं सहेगा हिन्दुस्तान, पाक सैनिकों का निर्मम अत्याचार-नहीं सहेगा हिन्दुस्तान, पाकिस्तानियों होष में आओ-बर्बरता पर काबू पाओ। भारत के सब्र को-कमजोरी न समझो आदि। श्री गुप्ता जम्मू के पूंछ जिले में एलओसी का उल्लंघन कर पाकिस्तानी सैनिकों द्वारा दो भारतीय सैनिकों की बर्बरतापूर्वक हत्या करने और उनका सिर काटकर ले जाने की लोमहर्शक कार्रवाई के विरोध में भाजपा दिल्ली प्रदेष द्वारा आयोजित पाकिस्तान दूतावास पर मार्च करते हुये उपस्थित कार्यकर्ताओं को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि भारत सरकार पाकिस्तान की तरफ दोस्ती का हाथ बार-बार बढ़ाती है, जवाब में हम को निर्मम हत्यायें मिलती हैं। ऐसा कब तक चलेगा ? अत्याचार, आतंक और बर्बरता की एक हद होती है, जो कि पाकिस्तान सरकार और वहां की सेना ने लांघ दी है।
प्रो. विजय कुमार मलहोत्रा ने कहा कि जिस तरह पाकिस्तानी सैनिकों ने भारतीय सीमा में 400 मीटर तक घुसपैठ करके 2 सैनिकों का सिर काटा है, उससे कैप्टन सौरभ कालिया और उनके साथियों के बलिदान की याद ताजा हो जाती है। भारत ने तभी पाकिस्तान को चेतावनी दी थी कि वह ऐसी हरकतों से बाज आये अन्यथा नतीजे गंभीर होंगे। इस पर भी पाकिस्तान और उसकी सेना ने भारतीय सीमाओं का उल्लंघन करना जारी रखा है। भारत सरकार को अब चुप नहीं बैठना चाहिए। आज के प्रदर्षन और पैदल मार्च में सर्वश्री रामेष्वर चौरसिया, वाणी त्रिपाठी, आरती मेहरा, रमेष बिधूड़ी, प्रवेष वर्मा, आषीश सूद, आर पी सिंह, विजय जौली, विषाखा षैलानी, महापौर अन्नपूर्णा मिश्रा, सविता गुप्ता, अनिता आर्य, मेवाराम आर्य, राजन तिवारी, नरेन्द्र टंडन, कृश्ण लाल ढिलौड़, आतिफ रषीद, नकुल भारद्वाज, पी के चांदला, विवेक षर्मा, रामषरण जिन्दल, अनिल मित्तल, हाफिज मो. साबरीन सहित सैकड़ों पार्शदों, अनेक विधायकों तथा वरिश्ठ नेताओं ने हिस्सा लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here