Close X
Sunday, September 20th, 2020

पर्याप्त संख्या में टेस्टिंग किट की उपलब्धता सुनिश्चित

आई एन वी सी न्यूज़ 
लखनऊ ,
उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव सूचना एवं गृह श्री अवनीश कुमार अवस्थी ने आज यहां लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि मुख्यमंत्री जी नेे पर्याप्त संख्या में टेस्टिंग किट की उपलब्धता सुनिश्चित कराये जाने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा है कि अस्पतालों, मेडिकल काॅलेजों तथा चिकित्सा संस्थानों में टेस्टिंग किट का बैकअप रखा जाए, ताकि जांच कार्य सुगमतापूर्वक सम्पन्न होता रहे। उन्होंने कोविड-19 के संक्रमण के नियंत्रण में टेस्टिंग की महत्वपूर्ण भूमिका पर बल देते हुए कहा कि यह कार्य पूरी सक्रियता से संचालित किया जाए। उन्होंने अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य को जिला चिकित्सालयों, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों तथा प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों की व्यवस्थाओं को और सुदृढ़ बनाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा है कि अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा, मेडिकल काॅलेजों और चिकित्सा संस्थानों की स्वास्थ्य सुविधाओं को और सुदृढ़ करें।
श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने जनपद लखनऊ, मेरठ, गोरखपुर, प्रयागराज, सहारनपुर तथा मुजफ्फरनगर पर विशेष ध्यान दिये जाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि इन जनपदों में कोरोना के रोगियों की उपचार व्यवस्था को सुदृढ़ करते हुए काॅन्टैक्ट ट्रेसिंग में तेजी लायी जाए। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने निर्देश दिये है कि सभी चिकित्सालयांे तथा मेडिकल काॅलेजों में आॅक्सीजन सुगमतापूर्वक उपलब्ध रहे। यह सुनिश्चित किया जाए कि आॅक्सीजन निर्धारित मूल्य पर ही मिले। किसी भी दशा में आॅक्सीजन की कालाबाजारी न होने पाए, उन्होंने कहा कि कालाबाजारी होने पर एफ0आई0आर0 दर्ज कर कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने कहा कि मुख्य सचिव कार्यालय द्वारा जिला प्रशासन से संवाद बनाकर कोविड-19 के दृष्टिगत उपचार सुविधाओं एवं अन्य व्यवस्थाओं का निरन्तर प्रभावी अनुश्रवण किया जाए।
श्री अवस्थी ने बताया कि कोविड-19 से बचाव व सुरक्षा के सम्बन्ध में आमजन को लगातार जागरूक किये जाने के निर्देश देते हुए मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि इसके लिए विभिन्न माध्यमों का प्रयोग किया जाए। स्वास्थ्य विभाग, परिवहन विभाग तथा पुलिस द्वारा आपसी समन्वय से पब्लिक एड्रेस सिस्टम को संचालित किया जाए। कोविड-19 से बचाव तथा यातायात सुरक्षा सम्बन्धी जानकारी पब्लिक एड्रेस सिस्टम के माध्यम से चैराहों तथा बाजार आदि में प्रसारित की जाए। उन्होंने कोविड हेल्प डेस्क को पूरी सक्रियता से संचालित करने के निर्देश भी दिये। उन्होंने बताया कि बाजारों एवं चैराहों पर कोविड-19 के संबंध में आम जनमानस को जागरूक किया जाये। उन्होनंे बताया कि जिलाधिकारियों को निर्देश दिये गये है कि प्रचार-प्रसार के माध्यम से लोगों को जागरूक किया जाए। इसके साथ ही दो गज की दूरी, मास्क है जरूरी की जानकारी भी आम जनमानस को दी जाये। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने मूल्य समर्थन योजना के अन्तर्गत धान की खरीद के लिए सभी तैयारियां समय से पूरी करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा है कि धान खरीद के दौरान क्रय केन्द्रों पर सोशल डिस्टेंसिंग पर विशेष ध्यान दिया जाए। उन्होनंे कहा कि कृषि उत्पादन आयुक्त ने बताया है कि प्रदेश में धान क्रय करने के लिए 3 हजार से अधिक धान क्रय केन्द्रों को खोलने के लिए आवश्यक व्यवस्थाओं की तैयारी करने के निर्देश दे दिये गये है। उन्होंने जनपद बिजनौर के गौ-आश्रय स्थल की व्यवस्थाओं को बेहतर करने के निर्देश भी दिये।
श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कहा कि आकाशीय बिजली गिरने से होने वाली जनहानि को न्यूनतम करने के लिए एलर्ट सिस्टम को सुदृढ़ किया जाए। उन्होंने जिलाधिकारियों को निर्देशित किया कि दैवीय आपदा से होने वाली जनहानि में राज्य सरकार द्वारा अनुमन्य आर्थिक मदद प्रभावितों को 24 घंटे के अन्दर उपलब्ध करायी जाए।
श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने निर्देश दिये है कि जे0ई0, ए0ई0, डेंगू, मलेरिया तथा अन्य संचारी रोगों के रोकथाम के लिए समाचार पत्रों तथा इलेक्ट्रानिक मीडिया के माध्यम से प्रचार-प्रसार किया जाए। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग की आशा बहुओं के द्वारा भी आम जनमानस तथा बच्चों को जागरूक किया जाए।
श्री अवस्थी ने बताया कि पुलिस विभाग द्वारा धारा-188 के तहत 2,25,188 एफआईआर दर्ज करते हुये 4,26,158 लोगों को नामजद किया गया है। प्रदेश में अब तक 1,53,75,009 वाहनांे की सघन चेकिंग में 71,984 वाहन सीज किये गये। चेकिंग अभियान के दौरान 79,60,99,314 रूपए का शमन शुल्क वसूल किया गया। आवश्यक सेवाओं हेतु कुल 4,36,915 वाहनों के परमिट जारी किये गये हैं। कालाबाजारी एवं जमाखोरी करने वाले 1241 लोगों के खिलाफ 918 एफआईआर दर्ज करते हुए 445 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया कि प्रदेश के 20,097 कन्टेनमेंट जोन के 1,227 थानान्तर्गत, 15,77,363 मकानों के 88,86,306 लोगों को चिन्हित किया गया है। इन कन्टेनमेंट जोन में कोरोना पाॅजिटिव लोगों की संख्या 53,658 है। फेक न्यूज के तहत अब तक 2554 मामलों को संज्ञान में लेते हुए कार्यवाही की गयी है।
   अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में कोविड-19 टेस्टिंग का कार्य तेजी से किया जा रहा है। प्रदेश में कल एक दिन में 1,48,118 सैम्पल की जांच की गयी। प्रदेश में अब तक कुल 77,84,281 सैम्पल की जांच की गयी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में विगत 24 घंटंे में कोरोना के संक्रमित 6895 नये मामले आये है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 67,335 कोरोना के एक्टिव मामले हैं। प्रदेश में विगत 24 घंटे में कोरोना के 6680 लोग उपचारित हो चुके हैं। उन्होंने बताया कि होम आइसोलेशन में 35,293 लोग हैं। प्रदेश में सरकारी कार्यालयों एवं महत्वपूर्ण संस्थानों में 64,453 कोविड हेल्प डेस्क स्थापित किये जा चुके है। इनके माध्यम से 7,48,354 लोगों का लक्षणात्मक चिन्हांकन किया गया है। प्रदेश में सर्विलांस टीम के माध्यम से 1,03,136 क्षेत्रों में 3,52,282 सर्विलांस टीमों के माध्यम से 2,33,64,211  घरों के 11,62,99,938 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया है। उन्होंने बताया कि कोविड हेल्प डेस्क को और अधिक प्रभावी बनाने के निर्देश दिये गये। जिससे लोगों की सघन प्राथमिक जांच हो सके।
श्री प्रसाद ने बताया कि 13 सितम्बर को 6,553 बच्चों का प्रसव सरकारी अस्पतालों में संस्थागत हुआ जिसमें 6,398 नाॅर्मल डिलीवरी से बच्चों ने जन्म लिया, शेष 155 सिजेरियन से बच्चों का जन्म हुआ। उन्होंने बताया कि पिछले वर्ष 01 जनवरी से 14 सितम्बर तक जे0ई0 में 92 केस आयें थे, जबकि इस वर्ष 14 सितम्बर तक 38 केस आये है। इसी प्रकार पिछले वर्ष 01 जनवरी से 14 सितम्बर तक ए0ई0एस0 में 1,241 तथा इस वर्ष 709 केस है। पिछले वर्ष 01 जनवरी से 14 सितम्बर के मध्य डेंगू में 693 तथा इस वर्ष 80 है। पिछले वर्ष 01 जनवरी से 14 सितम्बर तक कालाजार में 72 तथा इस वर्ष 01 जनवरी से 14 सितम्बर के मध्य 38 केस है। पिछले वर्ष 01 जनवरी से 14 सितम्बर तक मलेरिया के 39,987 तथा इस वर्ष 01 जनवरी से 14 सितम्बर के मध्य 11,233 केस है। पिछले वर्ष 01 जनवरी से 14 सितम्बर तक एच-1 एन-1 के 2,009 तथा इस वर्ष 01 जनवरी से 14 सितम्बर के मध्य 252 केस है। उन्होंने बताया कि सितम्बर से नवम्बर के मध्य में इन बिमारियों के फैलने की आशंका बहुत अधिक रहती हैं इसकी रोकथाम के लिए स्वच्छता को आदत में लाए, जिससे इन बिमारियों से बचा जा सका। उन्होंने बताया कि बार-बार हाथ धोंने, मास्क लगाने से कोविड-19 से बचाव होता ही है इसके साथ ही अन्य बीमारियों से भी बचा जा सकता है।
श्री प्रसाद ने बताया कि अगले माह अक्टूबर माह में संचारी रोगों की रोकथाम के लिए जागरूकता अभियान चलाया जायेगा। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य, चिकित्सा, पशुपालन, शिक्षा, सूचना, कृषि, बाल विकास, समाज कल्याण पंचायतीराज तथा नगर विकास विभागों के समन्वय से स्वच्छता जागरूकता अभियान चलाया जायेगा। इस अभियान को सफल बनाने हेतु आज मा0 मुख्यमंत्री जी के स्तर पर सभी सम्बन्धित विभागों के अधिकारियों की बैठक हुयी थी।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment