Sunday, February 23rd, 2020

परिवार नियोजन के मुद्दे पर संघ परिवार, वरुण गांधी, भाजपा सब अलग-अलग

शहज़ाद अख्तर  नई दिल्ली.    कानून बनाकर या ज़बरदस्ती परिवार नियोजन को अपनाने पर भारतीय जनता पार्टी न तो अपने पोस्टर बॉय वरुण गांधी से इत्तेफाक रखती है और न ही संघ परिवार से. इस मुद्दे पर भारतीय जनता पार्टी का कहना है कि यह गंभीर मुद्दा है और इसे लोगों को जागरूक कर लोगों के विवेक पर छोड़ देना चाहिए. पीलीभीत से भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार वरुण गांधी ने कल एक विदेशी अखबार को दिए साक्षात्कार में कहा था कि मैं अपने पिता स्वर्गीय संजय गांघी की परिवार नियोजन की नीति को पसंद करता हूं और मानता हूं कि कानून बनाकर नसबंदी का कड़ाई से पालन करना चाहिए. परिवार नियोजन को लेकर वरुण गांधी ने संघ परिवार की ही सोच को आगे बढ़ाया है. संघ परिवार भी परिवार नियोजन का समर्थन करता है बल्कि संघ परिवार हिन्दू और मुसलमानों की जनसंख्या में संतुलन बनाए रखने के लिए हिन्दुओं से अधिक बच्चे पैदा करने की सलाह देता है. एक बार संघ के पूर्व सर संघ चालाक के. सी. सुदर्शन के उस बयान से राजनैतिक भूचाल आ गया था जिसमें उन्होंने कहा था प्रत्येक हिन्दू को कम से कम 10 बच्चे पैदा करने चाहिए. आज जब भाजपा प्रवक्ता रवि शंकर प्रसाद से पूछा गया कि क्या वह वरुण गांधी की परिवार नियोजन की नीति का समर्थन करते हैं? उन्होंने कहा कि ''पहले तो मैं आपको यह बता दूं कि वरुण ने ऐसा कुछ नहीं कहा है और जहां तक परिवार नियोजन का सवाल है हम चाहते हैं कि लोगों में उसके प्रति जागरूकता लाने की ज़रुरत है और फिर इसे लोगों के विवेक पर छोड़ देना चाहिए.''

Comments

CAPTCHA code

Users Comment