पत्रकारिता एक कठिन एवं चुनौतीपूर्ण पेशा है : भूपेन्द्र सिंह हुड्डा

0
52
संजय राय,,
आई.एन.वी.सी,,
हरियाणा,,
हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा ने पत्रकारों के लिए सुविधाएं की आवश्यकता पर बल देते हुए कहा कि पत्रकारिता एक कठिन एवं चुनौतीपूर्ण पेशा है और मौजूदा समय में पत्रकारों को आत्मविश्वास के लिए अधिक से अधिक सुविधाओं की आवश्यकता है। मुख्यमंत्री आज अपने निवास पर हरियाणा पत्रकार संघ द्वारा सिरसा के दिवंगत पत्रकार लीलाधर शास्त्री के पुत्रों को 10 लाख 50 हजार रुपये के चेक भेंट करने के उपलक्ष्य में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री हुड्डा ने भी दोनों बच्चों को तीन लाख रुपये देने की घोषणा की। उल्लेखनीय है कि वर्ष 1998 में पत्रकार श्री लीलाधर शास्त्री का एक दुर्घटना में आकस्मिक निधन हो गया था। स्वर्गीय श्री लीलाधर शास्त्री के दोनों पुत्रों ललित तथा पप्पल के पालन-पोषण के लिए हरियाणा पत्रकार संघ द्वारा समावधि जमा (फिक्सड डिपाजिट) के रूप में एकमुश्त पांच लाख रुपये की राशि के रूप में आर्थिक सहायता उपलब्ध करवाई थी। इस राशि का भुगतान आज मुख्यमंत्री श्री हुड्डा द्वारा स्वर्गीय श्री शास्त्री के बालिग बच्चों को किया गया। हरियाणा पत्रकार संघ द्वारा पत्रकारों के कल्याण के लिए किये जा रहे कार्याें की सराहना करते हुए श्री हुड्डा ने कहा कि पत्रकारिता समाज का प्रतिबिम्ब है और समाज को पत्रकारिता का लाभ तभी मिल सकता है, जब पत्रकार अपने भविष्य को लेकर सुरक्षित महसूस करें और निष्पक्ष हो। उन्होंने कहा कि पत्रकारों को आत्मविश्वास दिलाने के लिए उन्हें सुविधाओं की आवश्यकता है। पत्रकारिता के व्यावसायीकरण पर चिंता जताते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि पत्रकारिता का व्यावसायीकरण देश के हित में नहीं है।  इस अवसर पर इंडियन जर्नलिस्ट यूनियन द्वारा श्रमजीवी पत्रकारों के लिए मजीठिया वेज बोर्ड की सिफारिशों को लागू करवाने में सहयोग के आग्रह पर श्री हुड्डा ने यूनियन की मांग का समर्थन किया और कहा कि सांसद होते हुए उन्होंने भी पत्रकारों के हित में आवाज उठाई थी और यह पत्रकारों के हित में है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने ‘सर्च’ राज्य संसाधन केन्द्र हरियाणा(एसआरसी), रोहतक द्वारा देश के स्वतंत्रता संग्राम में महिलाओं की भूमिका को लेकर तैयार किये गये एक कैलेंडर का विमोचन भी किया। मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव तथा सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के प्रधान सचिव डॉ के के खण्डेलवाल ने कहा कि हरियाणा पहला राज्य है, जहां पत्रकारों के कल्याण के लिए 50 लाख रुपये की राशि से ‘मीडिया राहत कोष’ गठित किया गया है और इसका लाभ मान्यता प्राप्त पत्रकारों के साथ-साथ गैर मान्यता प्राप्त पत्रकारों को भी मिल रहा है। इस कोष के गठन का श्रेय मुख्यमंत्री श्री हुड्डा के व्यक्तिगत प्रयासों को जाता है। इसके अलावा, प्रदेश में पत्रकारों के कई अन्य प्रकार की सुविधाएं भी दी जा रही हैं। हरियाणा पत्रकार संघ की ओर से मुख्यमंत्री को अवगत करवाया गया कि प्रदेश में लगभग 900 पत्रकार संघ के सदस्य है और संघ द्वारा पत्रकारों के कल्याण के लिए अब तक एक करोड़ 6 लाख रुपये की राशि प्रदान की जा चुकी है, जिसमें से 22 पत्रकारों को 44 लाख रुपये की राशि हरियाणा सरकार के सहयोग से प्रदान की गई है। इसके लिए उन्होंने मुख्यमंत्री श्री हुड्डा का आभार जताया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए इंडियन जर्नलिस्ट यूनियन के अध्यक्ष श्री सुरेश अखोरी ने कहा कि यूनियन 22 राज्यों में पत्रकारों के कल्याणकारी गतिविधियां चल रही है और हरियाणा में हरियाणा पत्रकार संघ द्वारा पत्रकारों के कल्याण के लिए किये जा रहे कार्य सराहनीय है। इस अवसर पर हरियाणा पत्रकार संघ के अध्यक्ष श्री के बी पंडित ने मुख्यमंत्री श्री हुड्डा को एक भद्र राजनीतिज्ञ बताते हुए कहा कि श्री हुड्डा पत्रकारों के कल्याण के लिए हमेशा आगे आये है। कार्यक्रम को चंडीगढ़ पंजाब यूनियन आफ जर्नलिस्ट के अध्यक्ष श्री विनोद कोहली ने भी संबोधित किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here