Thursday, January 23rd, 2020

पटाखों पर नहीं लगने देंगे रोक : हिन्दू संगठन

SWAMI OMJI, swami omji,mukeshjain dara saina, omjiswamiwithmukhesh jainआई एन वी सी न्यूज़

नई दिल्ली, ओजस्वी पार्टी के कार्यालय में हिन्दू संगठनों की बैठक में न्यायालयों द्वारा उल जलूल आदेश देकर हिन्दू पर्वो और हिन्दुओं की आस्थाओं को ठेस पहुंचाने को गम्भीरता से लिया गया।
बैठक में ओजस्वी पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष स्वामी ओम जी ने इसे सी आई ए -फोर्ड फाउन्डेशन-आतंकवादी ईसाई मिश्निरियों की साजिश बताते हुए कहा हाल ही में राष्ट्रीय हरित अधिकरन ने यमुना में पूजा सामग्री,अस्थि फूल और मूर्ति विसर्जन के खिलाफ जो आदेश दिया है,इस मामले में याचिका कर्ता मनोज मिश्रा और मधु भादुडी को फोर्ड फाउन्डेशन ने करोडो डालर दिये हैं। मधु भादुडी ने अरविन्द केजरीवाल और मेधा पाटेकर के साथ मिलकर देशद्रोही क्ट्टर नक्सली ईसाई आतंकवादी बिनायक सेन के समर्थन और रिहाई के लिये 18 से 22 जनवरी 2008 को छत्तीसगढ में जबर दस्त आन्दो लन चलाते हुए राज्यपाल और पुलिस महा निदेशक को ज्ञापन भी दिया था। यह सब राष्ट्रीय हरित आधिकरन के अध्यक्ष श्री स्वतन्त्र कुमार और न्यायमूर्ति यू डी साल्वी की जानकारी में लाने के बाद भी ये माननीय न्यायधीश हमारी न सुनकर इन फोर्ड फाउन्डेशन के देशद्रोही एजेन्टों की ही सुनते है। स्वामी ओम जी ने गृह मंत्रालय द्वारा आतंकवादी और भारत विरोधी गतिविधियों में लिप्त पायी गयी प्रतिबन्धित फोर्ड फाउन्डेशन के ऐजेन्टों के समर्थक इन पूर्व जजों की सम्पत्ति और भ्रष्टाचार की जांच सी बी आइ से इन पर छापे मारकर करने की की।
हिन्दू संगठनों के प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए दारा सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री मुकेश जैन के कहा कि सोनिया गांधी और राहुल गांधी के खिलाफ चल रहे नेशनल हेराल्ड मामले में इनके वकील और पूर्व कानून मंत्री श्री कपिल सिब्बल ने अपने मनपसन्द जज सुनील गौर द्वारा ही सुनवायी करने पर जोर दिया,उससे साफ हो गया कि न्यायपालिका के जी बालाकृष्णन् जैसे भ्रष्ट जजों से भरी पडी है। इन भ्रष्ट जजों को प्रशान्त भूषण,इन्दिरा जय सिंह जैसे वरिष्ठ वकील फोर्ड फान्डेशन के डालरों की झलक दिखलाकर अपनी उंगलियों पर नचाते हैं। बैठक में हिन्दू संगठनों ने तय किया कि यदि सर्वोच्च न्यायालय के मुख्य न्यायधीश एम एल दत्तू ने दीपावली के पटाखों पर रोक सम्बन्धी याचिका को खारिज नहीं किया तो धार्मिक आस्थाओं से खिलवाड कर रहे इन न्यायधीशों का पुतला दहन सर्वोच्च न्यायालय पर ही किया जायेगा।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment