Wednesday, October 16th, 2019
Close X

पंजीयन शुल्क नहीं लिया जाए

आई एन वी सी न्यूज़ भोपाल, राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने विश्वविद्यालय समन्वय समिति की 94वीं बैठक में कहा कि विश्वविद्यालयों के परीक्षा परिणाम समय पर घोषित किए जाएँ तथा एक जुलाई के पहले नये प्रवेश की प्रक्रिया पूरी की जाये। सभी विश्वविद्यालयों में एक जुलाई को प्रथम वर्ष में प्रवेश लेने वाले विद्यार्थियों के लिए स्वागत समारोह का आयोजन किया जाए। समारोह में पहले से अध्ययनरत विद्यार्थियों की उपस्थिति सुनिश्चित की जाये। यह भी सुनिश्चित किया जाए कि विश्वविद्यालय का कैलेण्डर सभी प्रवेश लेने वाले छात्रों तक समय पर पहुँचे। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालयों तथा महाविद्यालयों में एडमिशन लेने वाले अनुसूचित जाति-जनजाति के विद्यार्थियों तथा छात्राओं से प्रवेश पंजीयन शुल्क नहीं लिया जाए। राज्यपाल श्रीमती पटेल ने कुलपतियों से मध्यप्रदेश टी.बी मुक्त अभियान में सक्रिय भागीदारी निभाने का आव्हान किया। उन्होंने कहा कि जिला कलेक्टरों के सहयोग से विश्वविद्यालय के कुलपति, रजिस्ट्रार और प्रोफेसर शून्य से 18 वर्ष से कम आयु के एक-एक टी.बी रोगी बच्चे को गोद लें। टी.बी पीड़ित बच्चे को पौष्टिक आहार जैसे फल, गुड़ तथा दाल पहुँचाएँ। श्रीमती पटेल ने केन्द्र सरकार के स्वच्छता जागरूकता कार्यक्रम में विश्वविद्यालयों की भागीदारी तय करने के लिये ग्रीष्मकालीन योजना तैयार करें। इसमें गाँवों में 100 घंटे स्वच्छता के लिए कार्य किया जाए। इस दौरान छात्र-छात्राओं से स्वच्छता और शौचालयों की आवश्यकता पर निबंध और नाटक लिखवाये जायें, प्रतियोगिताएँ आयोजित की जायें तथा विजेता छात्र-छात्राओं को केन्द्र, राज्य सरकार और विश्वविद्यालय की ओर से पुरस्कार राशि दी जाए। स्वच्छता जागरूकता कार्यक्रम में किए गए कार्यों को वेबसाइट पर अपलोड कर केन्द्र और राज्य सरकार के विभागों को भेजा जाए। राज्यपाल ने कहा कि विश्वविद्यालयों में होने वाले कार्यक्रमों और समारोह में कुलपतियों की उपस्थिति सुनिश्चित होना चाहिए। अगर कुलपतियों को देश अथवा प्रदेश से बाहर जाना है, तो पूर्व में ही पूरे कारणों सहित आवेदन प्रस्तुत करना होगा। अनुमति प्राप्त होने के बाद ही वे दौरे पर जा सकते हैं। राज्यपाल ने कुलपतियों से उच्च शिक्षा विभाग को प्रोफेसरों, अध्यापकों तथा कर्मचारियों से संबंधित सही और सम्पूर्ण जानकारी उपलब्ध करवाने के निर्देश दिये। बैठक में अपर मुख्य सचिव वित्त श्री ए.पी. श्रीवास्तव, अपर मुख्य सचिव उच्च शिक्षा श्री बी.आर. नायडू, राज्यपाल के प्रमुख सचिव डॉ. एम. मोहन राव तथा विश्वविद्यालयों के कुलपति एवं संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment