Friday, February 28th, 2020

पंजाब : पाकिस्तानी ड्रोन की गतिविधियां फिर बढ़ी

पाकिस्तान अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। छह दिन बाद सोमवार की रात फिर से भारतीय क्षेत्र में पाक ने ड्रोन भेजा है, जिसे सीमांत ग्रामीणों ने सरहदी गांव हजारा सिंह वाला स्थित एचके टावर और गांव भखड़ा के ऊपर मंडराते देखा है। दोनों गांवों के ऊपर मंडराने के बाद ड्रोन पाकिस्तान की तरफ चला गया। ड्रोन क्या फेंक गया है, इसके बारे में किसी को कुछ नहीं मालूम है।
खुफिया सूत्रों के मुताबिक सोमवार रात करीब 9.50 बजे ग्रामीणों ने सीमांत गांव हजारा सिंह वाला स्थित एचके टावर और गांव भखड़ा के ऊपर पाक ड्रोन मंडराते देखा है। ड्रोन काफी ऊंचाई पर उड़ रहा था। दोनों गांवों के ऊपर मंडराने के बाद ड्रोन पाकिस्तान की तरफ चला गया।

बताया जा रहा है कि ड्रोन भारतीय सीमा में लगभग एक किलोमीटर अंदर आ गया था। रात के अंधेरे में खेत और सतलुज नदी के बीच पाक ड्रोन क्या फेंक गया है, इसके बारे में किसी को कुछ नहीं मालूम है।
हुसैनीवाला बार्डर की तरफ पाकिस्तानी ड्रोन की गतिविधियां कुछ दिनों से बढ़ गई है, बीएसएफ के पास ऐसा कोई यंत्र नहीं है कि जमीन से काफी ऊंचाई में हवा में उड़ रहे पाक ड्रोन को गिरा सके। बीएसएफ जवानों ने आठ अक्तूबर को जब पाक ड्रोन भारतीय सीमा के ऊपर मंडरा रहे थे तो फायरिंग भी की थी, लेकिन काफी ऊंचाई पर उड़ने के कारण ड्रोन को कोई नुकसान नहीं पहुंचा था।

हुसैनीवाला बार्डर की तरफ नदी का बड़ा हिस्सा है, यहां पर पाक ड्रोन आसमान से कोई वस्तु भी फेंक देता है तो सुरक्षा एजेंसियों के लिए तलाशना बहुत मुश्किल है, जबकि भारतीय तस्करों के लिए नदी से फेंकी हुई चीज लाना बहुत ही आसान है, ये लोग तैराकी में माहिर है।

उल्लेखनीय है कि सात और आठ अक्तूबर को भी पाकिस्तानी छह ड्रोन भारतीय सीमावर्ती क्षेत्र के ऊपर मंडराते हुए देखे गए थे, इसके बाद बीएसएफ, पुलिस, काउंटर इंटेलीजेंस के अलावा अन्य सुरक्षा एजेंसियां सीमावर्ती क्षेत्र में सर्च अभियान चला चुकी है, लेकिन किसी के हाथ कुछ नहीं लगा है। इससे पहले पाकिस्तान में बैठे आतंकी संगठन ड्रोन के माध्यम से तरनतारन और अमृतसर के सीमांत इलाके में हथियार की खेप भेज चुके हैं। PLC

 
 

Comments

CAPTCHA code

Users Comment