नई दिल्ली: आतंकी हमले के मद्देनजर जम्मू-कश्मीर प्रशासन द्वारा पर्यटकों और अमरनाथ यात्रा पर गए भक्तों को लौटने की एडवायजरी जारी हुई है. इस एडवायजरी के जारी होने के बाद से ही श्रीनगर से आने और जाने के हवाई किराये में 20 से 25 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई है. इन सबके बीच, सिविल एविएशन मंत्रालय ने एयरलाइंस कंपनियों को हिदायत दी है कि अमरनाथ यात्रा से लौट रहे भक्तों के लिए बढ़े हुए किराये पर लगाम लगाई जाए. न्यूज एजेंसी एएनआई के अनुसार, नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने यह बयान दिया है. 

जम्मू-कश्मीर प्रशासन द्वारा बीते शुक्रवार (2 अगस्त) को राज्य में आने वाले पर्यटकों और श्रद्धालुओं के लिए एडवायजरी जारी की थी. इसके बाद से ही श्रीनगर से आने और जाने के हवाई किराए में 20-25 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई है. इक्सिगो के सह-संस्थापक रजनीश कुमार ने बताया, "श्रीनगर के लिए तथा वहां से जानेवाली उड़ानों के हवाई किराए में 20 से 25 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है." कुमार ने कहा कि राज्य में अशांति के कारण आने वाले हफ्तों में पर्यटन बुकिंग में गिरावट आएगी. 

 


यात्रा डॉट कॉम के सीओओ शरद धल ने बताया, "पर्यटकों और श्रद्धालुओं के लिए जारी सुरक्षा सलाह के कारण हवाई किराए में बढ़ोतरी हुई है. इस सलाह के बाद श्रीनगर से बाहर जाने के लिए लोग तेजी से टिकट की बुकिंग करने लगे." राज्य सरकार ने शुक्रवार को एक सलाह में कहा था, "अमरनाथ यात्रा को लक्ष्य बनाते हुए आतंकवादी खतरों की खुफिया जानकारी और घाटी में सुरक्षा की मौजूदा स्थिति को देखते हुए पर्यटकों और अमरनाथ यात्रियों को यह सलाह दी जाती है कि वे घाटी में अपने प्रवास को संक्षिप्त कर जल्द से जल्द लौटने का आवश्यक उपाय करें." PLC