Monday, July 13th, 2020

नोटबंदी गांधी परिवार के लिए ट्रेजेडी

सुरेंद्र अग्निहोत्री आई एन वी सी न्यूज़ लखनऊ, केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी ने नोटबंदी के एक वर्ष पूरे होने पर भाजपा मुख्यालय में प्रधानमंत्री मोदी के फैसले की सराहना की और जनता के प्रति आभार जताया।नोटबंदी को सफल बताते हुए केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा, "पीएम मोदी की इस ऐतिहासिक पहल के बाद नोटबंदी चर्चा का विषय बन गया है।स्मृति ईरानी ने कहा-"पिछली कांग्रेस की सरकार के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि एसआईटी बनाकर कालेधन की जांच की जाए और उसको वापस लाया जाए। लेकिन कांग्रेस ने एसआईटी नहीं बनाई 17 लाख 77 हजार करोड़ रुपए की कैरेंसी चलन में थी। नोटबंदी के बाद 3 लाख करोड़ तक की कमी आयी है। नोटबंदी के बाद अब सभी नोट को उनकी जगह मिल गयी है। नोट कहां हैं सबको उसकी जानकारी है।पिछली सरकार में चर्चा होती थी, कॉमनवेल्थ और कोल घोटाले की, लेकिन मोदीजी की सरकार में आजतक किसी प्रकार के घोटाले की आवाज नहीं आयी। सब कुछ ऑनलाइन आ गया।नोटबंदी के बाद 22,4000 शेल कम्पनियों को बंद किया गया। अब सरकार द्वारा शेल कंपनी की जांच की जा रही है।कैश होल्डिंग को नियंत्रित किया किया गया है। 1.60 लाख करोड़ संदिग्ध ट्रांसकेक्शन एक वर्ष में हुए हैं। पिछली बार बैंको ने 631361 ऐसे ट्रांसकेक्शन रिपोर्ट किये थे इस बार यह संख्या 3.60 लाख पहुंच गई है। नोट कहां गए, सबको जानकारी है कहा नोटबंदी गांधी परिवार के लिए निश्चित ही ट्रेजेडी है जिनका परिवार करप्शन का पयार्यवाची है। नोटबंदी गांधी के लिये निश्चित ही ट्रेजेडी है क्योंकि एक के बाद एक चुनाव हार रहे हैं।दो राज्यों के चुनाव में भी वही परिणाम आने वाले हैं। स्थिति यह है अब कांग्रेस पेशोपेश में पड़ी है कि राहुल गांधी को अध्यक्ष बनाए कि नहीं है। जिस नेता पर उनकी पार्टी विश्वास नहीं करती उस पर गुजरात की जनता क्यों विश्वास करेगी। राहुल गांधी आंतरिक रूप से ऐसी तमाम चुनौती से घिरे हैं तो वह मोदी जी पर निशाना साध रहे हैं। अगर कांग्रेस को गुजरात जीत का भरोसा रहता तो कांग्रेस राहुल को अध्यक्ष बना देती।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment