Wednesday, May 27th, 2020

नैतिक ज़िम्मेदारी लेते हुए शाज़िया इल्मी का चुनाव में खड़े होने से इंकार, स्टिंग ऑपरेशन ने खोले ''आप'' के नकली चेहरे

images (6)सोनाली बोस, आई एन वी सी, दिल्ली, जैसे जैसे दिल्ली विधानसभा चुनाव नज़दीक आ रहे हैं वैसे वैसे लगता है कि आम आदमी पार्टी की मुसीबतेँ भी बढ़ती जा रही हैं। अभी तक तो ''आप'' का संघर्ष बाहरी विरोधियोँ से था लेकिन आज के स्टिंग ऑपरेशन को देखने के बाद तो यही लगता है कि  'आप' को ज़्यादा नुकसान भीतरी दग़ाबाज़ोँ से है। 'मीडिया सरकार' ने जिस स्टिंग ऑपरेशन की सी डी को सबके सामने पेश किया है उसे देखने के बाद और दिनभर की नाटकिय गतिविधियोँ के बाद 'आप' की उम्मीदवार शाज़िया इल्मी ने गुरूवार रात को  ये एलान कर दिया कि वो मॉरल ग्राउंड पर आने वाले दिल्ली विधानसभा चुनाव से अपना नामांकन और उम्मीदवारी वापस ले रही हैं। शाज़िया ने कहा कि वो नहीं चाहती हैं कि किसी भी बेवजह के विवाद के चलते और स्टिंग ऑपरेशन में उजागर हुए गैरक़ानूनी तरिके से इकट्ठा किये हुए पैसे को लेकर 'आप'  की गरिमा को कोई नुकसान पहुंचे। इसीलिये अपनी पार्टी के  सम्मान के मद्देनज़र वो चुनाव में नहीं खड़ी होंगी। ''दिल्ली विधानसभा चुनाव  AAP के लिये बेहद अहम हैं। लेकिन कुछ असंतुष्ट और अराजक तत्वोँ की साज़िश के चलते जो नकली sting operation हुआ है उसके कारण मैं नहीं चाहती हूँ कि मेरी पार्टी की इज़्ज़त खराब हो,इसलिये जब तक  मैं और मेरा नाम निर्दोष साबित नहीं हो जाते हैं में चुनावोँ से अपनी उम्मीदवारी वापिस लेती हूँ'' शाज़िया ने कहा। Media Sarkar ने जिस स्टिंग को अंजाम दिया है उसमे AAP के कई वरिष्ठ नेताओँ से संपर्क किया गया था और उन सभी को पार्टी को चंदा दिलाने के एवज़ में लोगोँ से पैसा उगाहने, और कुछ खास deals को पूरा करवाने का आश्वासन लिया गया था। लेकिन AAP के सयोजक अरविंद केजरीवाल ने इस स्टिंग ऑपरेशन को अपनी पार्टी के ख़िलाफ एक 'षडयंत्र' कहा है और उनका कहना है कि इस तरह की हरकतोँ से उनके विरोधी जनता का ध्यान भ्रष्टाचार के अहम मुद्दोँ से नहीं हटा पायेंगे। ''हम दोषियोँ को किसी भी किमत में नहीं बख्शेंगे" केजरीवाल ने कहा, और ये भी कहा कि'' हम जानते है कि हम कांग्रेस और बीजेपी की असलियत सबके सामने लाने की सज़ा पा रहे हैं''। ग़ौरतलब है कि विडियो में दिखाये गये फुटेज में ये साफ नज़र आ रहा है कि कैसे रिपोर्टर एक कंपनी की कर्मचारी बनकर शाज़िया से अपनी दुश्मन कंपनी को मज़ा चखाने के लिये मदद करने की मांग करती है जिसे सुनकर पहले तो क़ानूनी दस्तावेज़ ना होने की वजह से,ईल्मी उसकी मदद से इंकार करती है लेकिन  जैसे ही वो रिपोर्टर कैश में पैसे देने की ऑफर करती है तो शाज़िया दस्तावेज़ोँ की कमी को नज़रंदाज़ कर  उसकी मदद करने के लिये  राज़ी हो जाती है। इस विडियो में ये भी साफ नज़र आ रहा है कि शाज़िया रिपोर्टर को बता रही है कि उनकी पार्टी कैश में भी चंदा ले लेती है। ये sting operations AAP के दूसरे बड़े नेता कुमार विश्वास और पार्टी के उम्मीदवारोँ कोंडली से मनोज कुमार,संगम विहार से दिनेश मोहनिया, ओखला से इरफ़ान उल्ला ख़ान, रोहताश से मुकेश हुडा, देउली से प्रकाश और पालम से भावना गौर पर भी किये गये हैं। इन पैसोँ की गड़बड़ीयोँ और चंदे के लेन देन को देख कर  बीजेपी नेता वी.के.मल्होत्रा का कहना है कि ''आप का पर्दाफाश हो चुका है''। "अन्ना हज़ारे भी इन पर उनके नाम का इस्तेमाल कर पैसा खाने के आरोप लगा चुके हैं। चुनाव तो दिल्ली में हैं लेकिन पार्टी के खर्चे के लिये पैसे USA, UK और भी ना जाने कहाँ कहाँ से आ रहे हैं'' मल्होत्रा ने कहा। इस sting operation के बाद AAP की एक आपातकालीन बैठक बुलाई गई जिसमेँ ये निर्णय लिया गया कि पार्टी की political affairs committee सी डी के फुटेज देखकर 24 घंटे के भीतर अपना फैसला सुना देगी। "हम इस सीडी के फुटेज देखकर 24 घंटे के भीतर अपना फैसला सुना देंगे," आम आदमी पार्टी के नेता योगेंद्र यादव ने कहा।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment