Close X
Wednesday, December 8th, 2021

निवेश के लिए इण्डस्ट्री फ्रैन्डली माहौल तैयार किया जायेगा : सत्यदेव पचैरी

INVCNEWSआई एन वी सी न्यूज़
लखनऊ, प्रदेश के मंत्री सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम तथा निर्यात प्रोत्साहन श्री सत्यदेव पचैरी ने कहा है कि वर्तमान में अर्थव्यवस्था के विकास में सेवा क्षेत्र का योगदान दिन-प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है। सेवा क्षेत्र की बढ़ती भागीदारी उत्तर प्रदेश की अर्थव्यवस्था के लिए अवसर भी है और वर्तमान आर्थिक परिदृश्य में प्रदेश के लिए इसकी नितांत आवश्यकता भी है। उन्होंने कहा कि विश्व की सर्वाधिक युवा जनसंख्या वाले देश में सेवा क्षेत्र ही एक ऐसा क्षेत्र है जो कि न्यूनतम प्राकृतिक संसाधनों के दोहन एवं न्यूनतम प्रदूषण के साथ सर्वाधिक लोगों को रोजगार के अवसर प्रदान कर सकता है।
श्री पचैरी आज दिनांक 17 अप्रैल को ग्रेटर नोयडा में इण्डिया ट्रेड प्रमोशन आर्गनाइजेशन एवं काॅन्फेडरेशन आॅफ इण्डियन इण्डस्ट्री के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित ळसवइंस म्गीपइपजपवद व्द ैमतअपबमे कार्यक्रम में अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। उन्होंने कहा कि उ0प्र0 की अर्थव्यवस्था में भी लगभग 56 प्रतिशत की भागीदारी के साथ सेवा क्षेत्र राज्य की जी0डी0पी0 में सर्वाधिक योगदान कर रहा है। उत्तर प्रदेश निर्यात में सतत् विकास के पथ पर अग्रसर रहते हुए देश व प्रदेश के सामाजिक एवं आर्थिक विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। उत्तर प्रदेश उत्तर भारत का सर्वाधिक बड़ा निर्यातक प्रदेश है तथा अपने विशिष्ट हस्तशिल्प उत्पादन के लिए उ0प्र0 पूरे विश्व में एक अलग स्थान रखता है। उन्होंने कहा कि आई.टी. व साॅफ्टवेयर, टूरिज्म एवं हाॅस्पिटेलिटी, मेडिकल, लीगल, एंटरटेनमेंट, मार्केटिंग, एजूकेशनल, कन्सलटेंसी आदि प्रदेश के प्रमुख सेवा क्षेत्र है। उन्होंने कहा कि साॅफ्टवेयर क्षेत्र में उ0प्र0 देश के अग्रिणी राज्यों में रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार का लक्ष्य आई.टी./आई.टी.ई.एस. कम्पनियों के निवेश के लिए प्रदेश में सुदृढ़ कानून व्यवस्था के साथ इण्डस्ट्री फ्रैन्डली माहौल तैयार करना है तथा नये आई0टी0 पाक्र्स व आई0टी0 सिटीज के विकास से इस क्षेत्र में आवस्थापना सुविधाओं का विकास करना है ताकि उ0प्र0 निवेश के लिए एक आकर्षक स्थल के रूप में स्थापित हो।
उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश से होकर गुजरने वाले निर्माणाधीन दिल्ली से कोलकत्ता एवं दिल्ली से मुम्बई रेल फ्रेट काॅरीडोर के किनारे उपयुक्त क्षेत्रों में चार औद्योगिक एवं लाॅजेस्टिक हब भी विकसित किये जायेंगे। इससे औद्योगीकरण एवं सर्विस क्षेत्र को बढ़ावा मिलेगा जिससे रोजगार के अधिक अवसर भी सृजित होंगे। उन्होंने कहा कि सेवा क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए प्रदेश सरकार कृत संकल्पित है। इसी दिशा में प्रदेश सरकार द्वारा नई औद्यागिक नीति बनाये जाने की पहल भी की जा रही है।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment