Tuesday, May 26th, 2020

नारायण सांई को उनके ही संचालको ने जानलेवा धमकी देकर कैद कर रखा है :स्वामी ओमजी

swami omjiआई एन वी सी , दिल्ली,

कालभैरव जयन्ती के सुुअवसर पर कर्मठ कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए तथा अनेकों वैश्विक न्यूज चैनलों में प्रसारण (टेलीकास्ट) के दौरान ओम जी विश्व हिन्दू वीर सेना के संस्थापक व वैश्विक अध्यक्ष तथा श्री नारायण सांई जी द्वारा स्थापित ओजस्वी पार्टी के वैश्विक वरिष्ठ उपाध्यक्ष स्वामी ओमजी ने संत आसाराम व उनके आश्रम के निम्नलिखित अपराधियों व वाले फर्जी संचालकों का निम्नलिखित रूपेण पर्दाफाश व भंडाफोड़ किया। उपरोक्त प्रेस टी वी प्रसारण (टेलीकास्ट) के दौरान ओजस्वी पार्टी के वरिष्ठ उपाध्यक्ष स्वामी ओमजी ने कहा कि दिनांक 30-09-2013 को दिल्ली के करौलबाग आश्रम में सुबह 7 बजे से दोपहर 1 बजे तक तथा दिनांक 05-10-2013 को साबरमती स्थित वाटिका फार्म हाऊस में दोपहर 2 बजे से रात को 11 बजे तक स्वामी ओमजी से मुलाकात के दौरान उपरोक्त सभी बातें श्री नारायण साईं जी ने खुद ही डरे हुए दुखी मन से निम्नलिखित सभी फर्जी संचालकों के उपरोक्त साजिशों का पर्दाफाश करते हुए नारायण साईं जी ने स्वामी ओमजी से कहा था कि दिल्ली स्थित करौल बाग आश्रम के फर्जी संचालकगण सर्वश्री मनोज वेले, विजय साहनी, नीलम दुबे तथा अहमदाबाद स्थित मोटेरा आश्रम के फर्जी संचालक गण सर्व श्री अर्जुन, श्रीनिवास, सुनील वानखेरे, अजय पटेल आदि के संयुक्त गिरोह के सदस्यगण बापूजी, साईंजी व मंच के सामने तो उनके प्रति झूठी भक्ति का दिखावा करते हुए उनकी तारीफ करते हैं लेकिन उनके पीठ पीछे बापूजी, साईंजी व उनके सभी परिजनों के विरुद्ध साजिशपूर्ण गालियां भी देते रहते हैं व उनके विरुद्ध उनके मासूम साधकों को भी भड़काते रहते हैं। दिनांक 05.10.2013 को साई जी ने ओम जी से कहा था कि अर्जुन व मनोज वेले आदि के नेतृत्व में उपरोक्त सभी संचालकों ने साईं जी को जानलेवा धमकी देते हुए कहा था कि दिनांक 6-10-2013 को साईं जी सहित उनके सभी परिजनों के विरुद्ध उनके सूरत वाली दोनो प्रेमिकाओं द्वारा वे लोग बलात्कार के झूठे मुकद्दमें दर्ज करा रहे हैं और उसमें यदि साईं जी खुद ही पुलिस के सामने पेश हो जाएंगे तो उपरोक्त षड्यंत्रकारी संचालकगणों के काली करतूतों का सांई जी पर्दाफांश कर देगे जिससे वे लोग सजाय मौत के भागी बन जायेगे। अतः संयुक्तरूपेण मिलकर साईं जी सहित उनके सभी परिजनों की हत्या करा देंगे इसीलिए जब तक उपरोक्त षड्यंत्रकारी गैंग चाहेंगे तब तक साईं जी को उनके कैद में रखकर उनके द्वारा बताए गए जगहों पर ही वायुयानों द्वारा आवागमन कराते हुए उससे पहले ही वे लोग अज्ञातवास के रूप में साई जी को रहना पड़ेगा वर्ना उपरोक्त सभी ब्लैकमेलर्स साईं जी व उनके सभी परिजनों की हत्या कराकर उनके सभी जमीन-जायदादों व धन-दोलतों पर उपरोक्त संचालकगण कब्जा करा लेंगे तथा साईं जी के सभी परिजनों को बचाने का दिखावा करके उन दोनों पिता-पुत्रों के शिष्यों से अरबों रुपये भी ठग लेंगे। उसके आगे बताते हुए साईं जी ने ओमजी को निर्देश दिया था कि यदि आपको ऐसी सम्भावना नजर आए तो उपरोक्त सभी साजिशों का पर्दाफाश आप मीडिया के सामने कर देना ताकि उपरोक्त सभी साजिशकर्तागण अपनी उपरोक्त सभी साजिशों को पूरा करने में कामयाब न हो सकें इसीलिए स्वामी ओमजी ने सूरत पुलिस से प्रार्थना की थी कि उपरोक्त सभी षड्यंत्रकारी संचालकों को गिरफ्तार करके उनसे साईं जी के वर्तमान छिपने के स्थान का पता लेकर सांईं जी को अपनी सुरक्षा घेरे में ले लें लेकिन उसके ठीक विपरीत उपरोक्त साजिशकर्ताओं से रिश्वत खा कर सूरत पुलिस ने बापू भक्त श्री कोशिक भाई पी0 वाणी आदि को ही झूठे मुकद्दमों में गिरफ्तार करके उनका उत्पीड़न करते हुए उपरोक्त फर्जी संचालकों के पक्ष में उनसे सादे कागजातों पर हस्ताक्षर कराने में लगे हुए हैं और अब उपरोक्त सभी फर्जी संचालकगण संयुक्तरूपेण अनेको राज्यों के रिश्वतखोर पुलिस वालों को रिश्वत खिलाकर स्वामी ओमजी, सुरेशानन्द सहित अन्य सभी बापू समर्थकों को झूठे जघन्य अपराधों वालो मुकदमों में गिरफ्तार कराकर उनकी भी हत्या कराने के कुप्रयासों में कार्यरत हैं जिसका विरोध करते हुए ओमजी ने उपरोक्त नामित फर्जी संचालकों को गिरफ्तार करके उन लोगों का नार्को टैस्ट कराकर साईं जी को बरामद कराने की तथा उपरोक्त सभी साजिशों का पर्दाफांश करने की अपील सूरत पुलिस आयुक्त सहित श्री नरेन्द्र मोदी जी से भी तथा अन्य राज्यों के मुख्यमंत्रियों सहित सभी पार्टियों के वरिष्ठतम नेताओं से एवं सभी राज्यों के व केन्द्र सरकार के सभी सम्बद्ध विभागों के मंत्रियों व उच्चाधिकारियों से स्वामी ओम जी ने की है। उल्लेखनीय है कि पिछले सप्ताह आयोजित प्रेस कान्फ्रेन्स में व अनेकों वैश्विक न्यूज चैनलों में लाईव टेलीकास्ट के दौरान स्वामी ओमजी ने कहा था बापूजी के व सांई जी शिष्यों से करोड़ों रुपये ठगने हेतु तथा सरकार के खिलाफ लोगों को भड़काने हेतु गुमराह करने वाले दिल्ली के उपरोक्त फर्जी संचालकगण मनोज वेले, अजय पटेल आदि अनेकों फर्जी संचालकों ने पूणर््िामाव्रतियों के सम्मेलन के नाम से बल्क में झूठे एस एम एस करके नशेड़ी व फर्जी साधुओं की उपस्थिति दिखाकर दिनांक 17-11-2013 को जन्तर-मन्तर पर नकली सन्त सम्मेलन किया था तथा उपरोक्त मंच के व संत सम्मेलन के माध्यम से अनेकों नकली नामों से नकली पत्र-पत्रिकाएं व दवाएं बेचकर उन नकली संचालकों ने उन मासूम लोगों से करोड़ों रुपये ठग लिए थे अतः उपरोक्त व अन्य अनेकों फर्जी संचालकों के षड्यंत्रों से भविष्य में सरकार व मासूम लोगों को गुमराह होने से बचाने हेतु ओमजी ने सभी एकादशीव्रती व पूणर््िामाव्रती बापू जी के व सांई जी के शिष्यों को अपील करते हुए कहा कि जन्तर-मन्तर स्थित उपरोक्त आशाराम के मंच को उखाड़ फेंकने का आवाह्न भक्तों से करें तथा सरकार को भी ज्ञापन देते हुए उपरोक्त मांग ओमजी ने की है एवं भविष्य मे जब कभी भी उपरोक्त सभी फर्जी संचालकगण सन्त सम्मेलन, धरना, प्रदर्शन आदि के नाम पर जन्तर-मन्तर पर  या किसी अन्य स्थान पर भक्तों को बल्क एस एम एस या अन्य किसी भी संचार माध्यमों से बुलाये ंतो वहॉ पर कोई भी नही जायें। ओम जी ने भक्तों को याद दिलाया कि इससे पहले भी अनेको बार संत श्री आसाराम बापू जी ने अपने सभी शिष्यों को फतवा जारी करते हुए कहा था कि संत आसाराम जी के जो भी शिष्यगण ओजस्वी पार्टी का व ओमजी का सहयोग करेंगे वो तो बापू जी के शिष्य कहलायेंगे तथा जो शिष्यगण स्वामी ओमजी का व ओजस्वी पार्टी का विरोध करेंगे वो लोग बापू जी के परमशत्रु कहलाते हुए नरकगामी बनेंगे तथा बापूजी ने व सांई जी ने उपरोक्त सभी षड्यंत्रकारी संचालकों को फर्जी संचालक व फर्जी प्रवक्ता भी उसी समय घोषित कर दिया था।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment