Close X
Tuesday, September 22nd, 2020

नागरिकता कानून पर सुनवाई के लिए सुप्रीम कोर्ट तैयार

नागरिकता कानून को लेकर देशभर में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। रविवार को दिल्ली स्थित जामिया मिल्लिया इस्लामिया और उत्तर प्रदेश की अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में हिंसक प्रदर्शन हुए। यह मामला आज सुप्रीम कोर्ट पहुंचा और अदालत इसपर कल सुनवाई करने के लिए तैयार हो गया है। वहीं पूरे यूपी में धारा 144 लागू कर दी गई है। लखनऊ के नदवा कॉलेज में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं, इलाहाबाद यूनिवर्सिटी आज बंद है और अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के छात्रों से कैंपस खाली कराया जा रहा है।

 

नदवा कॉलेज में प्रदर्शन

लखनऊ के नदवा कॉलेज में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन हो रहा है। पत्थर फेंके जा रहे हैं। पुलिस ने बाहर से गेट बंद कर दिया है। जामिया के छात्रों के समर्थन में नारे लगाए जा रहे हैं।

विपक्ष ने राष्ट्रपति से मांगा मिलने का समय

सूत्रों का कहना है कि विपक्षी पार्टियों ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मिलने का समय मांगा है। वह उन्हें नागरिकता कानून को लेकर देशभर की वर्तमान परिस्थिति के बारे में अवगत कराएंगे।

 

नागरिकता कानून पर सुनवाई के लिए सुप्रीम कोर्ट तैयार

सुप्रीम कोर्ट कांग्रेस और प्रद्युत देबबर्मन द्वारा नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ दायर की गई अर्जियों पर 18 दिसंबर को सुनवाई के लिए तैयार हो गया है।

असंवैधानिक कार्य करने से बचें ममता बनर्जी- राज्यपाल

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ सड़कों पर उतरने के मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के निर्णय की आलोचना की और कहा कि वह असंवैधानिक कार्य करने से बचें।

 

जामिया और अलीगढ़ हिंसा का मामला पहुंचा सुप्रीम कोर्ट

उच्चतम न्यायालय में वरिष्ठ वकील इंदिरा जयसिंह ने जामिया मिलिया इस्लामिया और अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में हुई घटना का मुख्य न्यायाधीश जस्टिस एसएस बोबडे के सामने उल्लेख किया। जयसिंह ने अदालत ने कहा कि उन्हें इस मामले में संज्ञान लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि यह पूरे देश में हो रहे गंभीर मानवाधिकारों का उल्लंघन है। वहीं दिल्ली उच्च न्यायालय में भी याचिका दाखिल। हालांकि उच्च न्यायालय ने सुनवाई के लिए तुरंत सूचीबद्ध करने से इनकार किया।

 

संपत्ति के नुकसान और दंगों को लेकर दो एफआईआर दर्ज

जामिया नगर इलाके में रविवार को विरोध प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा के सिलसिले में संपत्ति के नुकसान और दंगों को लेकर दिल्ली पुलिस ने दो एफआईआर दर्ज की है।

गुवाहाटी, डिब्रूगढ़ में कर्फ्यू में कुछ राहत

गुवाहाटी में सुबह छह बजे से रात नौ बजे तक कर्फ्यू में ढील देने से शहर में हालात कुछ हद तक सामान्य हुए हैं। हालांकि गुवाहाटी में रात का कर्फ्यू लागू रहेगा। जिला प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, प्रशासन की अनुमति के बिना डिब्रूगढ़ में आयोजित किसी भी प्रदर्शन बैठक को दोपहर तीन बजे से पहले खत्म करना जरूरी होगा। वहीं राज्य के 10 जिलों (लखीमपुर, तिनसुकिया, धेमाजी, डिब्रूबढ़, छराइदेव, शिवसागर, जोरहाट, गोलाघाट, कामरूप (मेट्रो), कामरूप) में इंटरनेट सेवाएं 24 घंटे और बंद रहेंगी।

 

जामिया में स्थिति तनावपूर्ण, घर का रुख कर रहे हैं छात्र-छात्राएं

जामिया मिल्लिया इस्लामिया में रविवार को हुई हिंसा के बाद स्थिति सोमवार सुबह भी तनावपूर्ण बनी हुई है और कई छात्र-छात्राएं अपने घरों के लिए निकल रहे हैं। छात्र-छात्राएं अब विश्वविद्यालय परिसर में भी खुद को सुरक्षित महसूस नहीं कर रहे हैं। विश्वविद्यालय ने पांच जनवरी तक शीतकालीन अवकाश की घोषणा शनिवार को कर दी थी। परीक्षाएं भी स्थगित कर दी गई हैं।

 

जामिया के छात्रों को लेकर चिंतित हूं : इरफान पठान

तेज गेंदबाज इरफान पठान ने जामिया मीलिया इस्लामिया के कई छात्रों के घायल होने पर चिंता जताई है। पठान ने ट्वीट किया, ‘राजनीतिक आरोप-प्रत्यारोप तो चलते रहेंगे लेकिन मैं और हमारा देश जामिया मीलिया के छात्रों को लेकर चिंतित है।’

 

विरोध में उतरे केरल के सीएम

केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन और विधानसभा में विपक्ष के नेता रमेश चेन्निथला ने नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ हो रहे प्रदर्शन में हिस्सा लिया।

योगी आदित्यनाथ ने की शांति की अपील

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेशवासियों से शांति और सौहार्द बनाए रखने की अपील करते हुए कहा है कि वे नागरिकता संशोधन कानून के बारे में कुछ स्वार्थी तत्वों द्वारा फैलाई जा रही अफवाहों पर ध्यान ना दें। उन्होंने कहा कि वे नागरिकता संशोधन कानून के सन्दर्भ में कुछ निहित स्वार्थी तत्वों द्वारा फैलाई जाने वाली किसी भी प्रकार की अफवाह पर ध्यान न दें। उन्होंने कहा कि राज्य में कायम अमन-चैन के माहौल को प्रभावित करने की किसी को अनुमति नहीं हैं।

 

पश्चिम बंगाल में प्रदर्शन जारी

पश्चिम बंगाल में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन सोमवार को चौथे दिन भी जारी रहा। राज्य के विभिन्न क्षेत्रों में सड़क और रेल मार्ग बाधित करने की खबरे हैं। पूर्वी मिदनापुर और मुर्शिदाबाज जिलों में सुबह से ही प्रदर्शनकारियों ने रास्ते बंद कर दिए हैं, जिससे राहगीरों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। प्रदर्शनों की वजह से कई ट्रेनें रद्द कर दी गई हैं या विलंब से चल रही हैं। रेलवे के एक प्रवक्ता ने बताया कि प्रदर्शनकारियों ने सियालदह-डायमंड हार्बर और सियालदह-नमखाना सेक्टर में पटरियों को जाम कर दिया है। उन्होंने बताया कि भीड़ को तितर-बितर करने का प्रयास किया जा रहा है। PLC.

Comments

CAPTCHA code

Users Comment