Monday, February 24th, 2020

नहीं चलेंगी डीजल की बसें

आई एन वी सी न्यूज़
लखनऊ, प्रदेश के परिवहन राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार), प्रोटोकाल एवं ऊर्जा राज्यमंत्री श्री स्वतंत्र देव सिंह ने निर्देश दिये हैं कि प्रदेश में सड़क दुर्घटनाओं को कम करने के लिए सड़क सुरक्षा के प्रति लोगों को जागरूक करने हेतु जनपद स्तर पर जागरूकता अभियान चलाया जाए। उन्होंने कहा कि सड़क सुरक्षा के प्रति बच्चों को जागरूक करने के लिए विद्यालयों में जागरूकता कार्यक्रम कराये जायं। उन्होंने सड़क सुरक्षा के प्रति गंभीर न होने पर बस्ती सम्भाग के सम्भागीय परिवहन अधिकारी को कार्यशैली सुधारने की सख्त चेतावनी दी। उन्होंने राजस्व वसूली में खराब प्रदर्शन करने वाले मेरठ, आगरा, कानपुर, मुरादाबाद, गाजियाबाद व वाराणसी सम्भाग के आरटीओ को फटकार लगायी तथा राजस्व वसूली के निर्धारित लक्ष्य को समय से पूरा करने के निर्देश दिये। उन्होंने डग्गामार, ओवरलोडेड तथा अनफिट वाहनों के संचालन पर पूर्ण प्रतिबन्ध लगाने के निर्देश दिये।

परिवहन मंत्री सोमवार को मुख्यालय में परिवहन विभाग के सम्भागीय अधिकारियों तथा परिवहन निगम के पश्चिमांचल क्षेत्र के क्षेत्रीय व सेवा प्रबन्धकों के साथ उनके क्षेत्रों की प्रगति की समीक्षा बैठक की। उन्होंने जिलों के सभी स्कूलों में सड़क सुरक्षा संबंधी भाषण प्रतियोगिता, शपथ ग्रहण, वाल पेंटिंग, दौड़, वाकाथन, बैनर, पोस्टर लगाने जैसे कार्यक्रम कराने के निर्देश दिये। उन्होंने सड़क सुरक्षा संबंधी जागरूकता अभियान को जिला प्रशासन, जनप्रतिनिधियों तथा सामाजिक संगठनों के सहयोग से एक महीने चलाने के निर्देश दिये।

उन्होंने ओवरलोडिंग को पूरी तरह से बन्द करने के लिए एक महीने का अभियान चलाने का निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि सभी प्रकार के ओवरलोडेड ट्रको पर कार्रवाई की जाय। छोटे वाहनों की डग्गामारी को रोकें तथा वाहनों की ओवर स्पीडिंग, हेल्मेट व शीटबेल्ट न लगाने वालों की रिपोर्ट देने के निर्देश दिये। उन्होंने सभी टोल प्लाजा पर एक किलोमीटर पहले ही, मुख्य चैराहों व सार्वजनिक जगहों पर सड़क सुरक्षा संबंधी होर्डिंग लगाने के भी निर्देश दिये।

परिवहन मंत्री ने परिवहन निगम की समीक्षा में बसों की फिटनेस की अनदेखी करने वाले इटावा क्षेत्र के क्षेत्रीय प्रबन्धक एवं सेवा प्रबन्धक को निलंबित करने के निर्देश दिये। उन्होंने सभी क्षेत्रों का लोड फैक्टर बढ़ाकर निगम का घाटा कम करने के भी निर्देश दिये तथा अपेक्षित आय न अर्जित करने वाले मुरादाबाद, मेरठ, गाजियाबाद, अलीगढ़, बरेली, इटावा व सहारनपुर क्षेत्र के क्षेत्रीय प्रबन्धकों को फटकार लगाई। उन्होंने सभी क्षेत्रीय प्रबन्धकों को घाटे वाले मार्गों का निरीक्षण कर राजस्व बढ़ाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि सड़क दुर्घटनाएं न हों इसके लिए क्षेत्रीय प्रबन्धक सभी चालक/परिचालक के साथ भी बैठक करें। उन्होंने निर्देशित किया कि कुम्भ मेला के दौरान सभी निगम कर्मी वर्दी में रहें, इसके लिए इन्हें शीघ्र वर्दी दी जाय।

परिवहन मंत्री ने कहा कि कुम्भ के दौरान प्रदेश के हर ब्लाक को परिवहन सेवा के साथ जोड़ना है। साथ ही प्रत्येक गांव से भी कुम्भ के लिए यात्री आयें, इसके लिए परिवहन की व्यवस्था की जाए। उन्होंने कहा कि 254 सीएनजी बसें एनसीआर क्षेत्र में संचालित होनी हैं, इसके लिए सीएनजी पम्प की स्थापना प्रमुखता से करायी जाय। एटा एवं इटावा जनपद तक में भी सीएनजी पम्प लगाये जाने हैं। एनसीआर क्षेत्र में कहीं पर भी अब डीजल की बसें नहीं चलेंगी। उन्होंने सभी अधिकारियों को यात्री सुविधाएं बढ़ाने, अपने कार्यालयों के साथ बसों, बस स्टेशनों व डिपो की साफ-सफाई की बेहतर व्यवस्था कराने को कहा। बैठक में यूपीएसआरटीसी के अध्यक्ष श्री संजीव सरन, प्रमुख सचिव परिवहन श्रीमती आराधना शुक्ला, परिवहन आयुक्त एवं प्रबन्ध निदेशक, श्री पी0 गुरू प्रसाद के साथ सम्भागीय परिवहन अधिकारी, क्षेत्रीय प्रबन्धक तथा मुख्यालय के उच्चाधिकारी उपस्थित थे।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment