Saturday, February 29th, 2020

नए DGP की तलाश शुरू

लखनऊ. योगी सरकार ने नए पुलिस महानिदेशक (DGP) की तलाश शुरू कर दी है. सूत्रों के मुताबिक, शासन ने प्रदेश में नए डीजीपी के लिए केंद्र को सात वरिष्ठ आईपीएस अफसरों के नाम भेजे हैं. मौजूदा डीजीपी ओपी सिंह (DGP OP Singh) 31 जनवरी को रिटायर हो रहे हैं, इसलिए इससे पहले नए डीजीपी की नियुक्ति की जानी है. सूत्रों के मुताबिक, वरिष्ठता के क्रम में जिन पुलिस अफसरों के नाम भेजे गए हैं, उनमें 1985 बैच के आईपीएस अफसर हितेश चंद्र अवस्थी हैं. वह वर्तमान में विजिलेंस विभाग में डायरेक्टर के पद पर तैनात हैं. साफ छवि के अफसरों में गिने जाने वाले हितेश चंद्र अवस्थी करीब 14 वर्ष तक सीबीआई में तैनात रहे हैं.

आईपीएस सुजानवीर सिंह

इसके बाद 1986 बैच के आईपीएस सुजानवीर सिंह हैं. उनकी सर्विस सितंबर 2021 तक है. वहीं, 1987 बैच के आईपीएस आरपी सिंह का नाम भी इस लिस्‍ट में है. वह वर्तमान में ईओडब्ल्यू के डीजी हैं. आरपी सिंह फरवरी 2023 में रिटायर हो रहे हैं. वर्ष 1987 बैच के ही आईपीएस विश्वजीत महापात्रा और जीएल मीना भी डीजीपी बनने की दौड़ में शामिल हैं. इनके अलावा 1988 बैच के आनंद कुमार और राजकुमार विश्वकर्मा हैं, दोनों की सर्विस तीन साल से अधिक बची हुई है.


आरके विश्वकर्मा भी रेस में शामिल

वर्ष 1988 बैच के आरके विश्वकर्मा भी डीजीपी बनने की रेस में हैं. उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती और प्रोन्नति बोर्ड के डीजी के पद पर तैनात आरके विश्वकर्मा की गिनती भी तेजतर्रार अफसरों में होती है. पिछड़ा वर्ग से होने के चलते भी वह सरकार की पसंद हो सकते हैं.

आनंद कुमार के नाम पर चर्चा तेज

वर्ष 1988 बैच के आईपीएस डीजी जेल आनंद कुमार का नाम भी चर्चा में है. इसी सरकार में उन्होंने लंबे समय तक एडीजी कानून ए‌वं व्यवस्था की कुर्सी संभाली है. वहीं, जेलों में चल रही आराजकता से निपटने के लिए सीएम ने उन्हें आईजी जेल की जिम्मेदारी सौंपी है. इसके अलावा उन्हें होमगार्ड विभाग में डीजी का अतिरिक्त प्रभार भी सौंपा गया है.

सूत्रों के मुताबिक, मौजूदा डीजीपी ओपी सिंह का नाम रिटायरमेंट के बाद यूपी के मुख्य सूचना आयुक्त और नैशनल डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी के उपाध्यक्ष और सदस्य के लिए चल रहा है. फिलहाल भेजे गए नामों पर अंतिम फैसला केंद्र सरकार को लेना है, वो किसे डीजीपी के पद पर तैनात करता है. PLC

Comments

CAPTCHA code

Users Comment