Monday, August 3rd, 2020

दो गज की दूरी-मास्क और छोटा परिवार है जरूरी

आई एन वी सी न्यूज़  
लखनऊ ,

उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव गृह एवं सूचना श्री अवनीश कुमार अवस्थी ने आज यहां लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि मुख्यमंत्री जी ने आज विश्व जनसंख्या दिवस पर आयोजित कार्यक्रम का शुभारम्भ किया। इस अवसर पर उन्होंने 07 नई लैब का शुभारम्भ किया। इससे प्रदेश में सभी मण्डल मुख्यालयों पर लैब उपलब्ध हो गई है। उन्होंनेे घर-घर मेडिकल स्क्रीनिंग में संदिग्ध लक्षणों वाले लोगों का सैम्पल लेकर टेस्ट कराने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि जांच के पश्चात अस्वस्थ पाए गए लोगों के समुचित उपचार की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। उन्होंने बताया कि पूरे प्रदेश में लगभग 1,40,000 से अधिक टीमों द्वारा घर-घर स्क्रीनिंग का कार्य किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि कोविड-19 से बचाव ही इस रोग का उपचार है, इसलिए मास्क का उपयोग तथा सोशल डिस्टेंसिंग अत्यन्त महत्वपूर्ण है। उन्होंने लोगों को कोविड-19 के बचाव के सम्बन्ध में निरन्तर जागरूक किए जाने के निर्देश देेते हुए कहा है कि इसके लिए पब्लिक एड्रेस सिस्टम, पोस्टर-बैनर के साथ-साथ प्रिंट व इलेक्ट्राॅनिक मीडिया का उपयोग किया जाए।
श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने टेस्टिंग क्षमता में निरन्तर वृद्धि किए जाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि आर0टी0पी0सीआर0 विधि से 30 हजार टेस्ट प्रतिदिन, रैपिड एन्टीजन टेस्ट के माध्यम से 15 हजार से 20 हजार टेस्ट प्रतिदिन तथा ट्रूनैट मशीन के द्वारा 2 हजार टेस्ट प्रतिदिन किए जाएं। उन्होंने कोविड चिकित्सालयों में बेड की संख्या में बढ़ोत्तरी करने के भी निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि बिना लक्षण वाले कोविड संक्रमित मरीजों को एल-1 कोविड चिकित्सालय में उपचारित किया जा सकता है। मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि जनपद कानपुर नगर, झांसी व मथुरा में विशेष सतर्कता बरतने की आवश्यकता है। उन्होंने निर्देश दिए हैं कि जनपद झांसी में विशेष सचिव स्तर के नोडल अधिकारी तथा स्वास्थ्य विभाग एवं चिकित्सा शिक्षा विभाग के वरिष्ठ अधिकारी संक्रमण को नियंत्रित करने की प्रभावी रणनीति तैयार करें।
श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए ट्रेन व हवाई जहाज से आने वाले यात्रियों की मेडिकल स्क्रीनिंग की बेहतर व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। उन्होंने पुलिस व पी0ए0सी0 कार्मिकों को संक्रमण से सुरक्षित रखने के लिए सभी आवश्यक उपाय किए जाने के निर्देश दिए हैं। स्वच्छता को जीवनचर्या का अंग बनाए जाने पर बल देते हुए मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि साफ-सफाई अनेक बीमारियों से लोगों को सुरक्षित रखती है। स्वच्छता के कार्यों मंे जनसहभागिता की बड़ी भूमिका है। उन्होंने ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों में सेनिटाइजेशन, फाॅगिंग एवं स्वच्छता की प्रभावी कार्यवाही किए जाने के निर्देश दिए हैं।
श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि यह सुनिश्चित किया जाए कि कहीं भी जल भराव न हो। शुद्ध पेयजल हेतु पाइप पेयजल योजनाओं पर कार्य तेजी से किया जाए। पीने के पानी में क्लोरीन की टैबलेट आदि का उपयोग किया जाए। ग्राम पंचायतों में तेजी से सामुदायिक शौचालयों का निर्माण कराया जाए तथा उनके साफ-सफाई पर विशेष ध्यान दिया जाय। मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि प्रत्येक ग्राम पंचायत में साॅलिड वेस्ट के लिए खाद का गड्ढा अनिवार्य रूप से तैयार किया जाए। इस प्रक्रिया से जहां एक ओर गांव में साफ-सफाई रहेगी, वहीं दूसरी ओर किसानों को जैविक खाद भी मिलेगी। उन्होंने टिड्डी दल पर प्रभावी नियंत्रण के लिए सभी सम्बंधित विभाग को जरूरी कदम उठाने के निर्देश देते हुए कहा है कि यह सुनिश्चित करें कि किसानों को कोई हानि न हो। उन्होंने कहा है कि स्वास्थ्य विभाग के प्रोटोकाॅल का पालन करते हुए औद्योगिक इकाइयों का संचालन सुनिश्चित किया जाए।
श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कल कोविड-19 व संचारी रोगों की रोकथाम तथा विशेष स्वच्छता अभियान के सम्बन्ध में वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग की। उन्होंने प्रदेश के सभी मण्डलायुक्तों, जिलाधिकारियों सहित वरिष्ठ पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा है कि विशेष स्वच्छता अभियान सभी जनपदों में प्रत्येक स्तर पर चलाया जाए। उन्होंने जिलाधिकारियों तथा पुलिस अधीक्षकों को इस दौरान अपने-अपने जनपदों में भ्रमण कर शासन स्तर से जारी प्रतिबंधों का अनुपालन सुनिश्चित कराये जाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने आज शासन द्वारा जारी प्रतिबन्धों की समीक्षा की।
श्री अवस्थी ने बताया कि गृह विभाग की धारा 188 के तहत 90,009 एफआईआर दर्ज करते हुये 2,27,354 लोगों को नामजद किया गया है। प्रदेश में अब तक 9़0,24,630 वाहनांे की सघन चेकिंग में 61,950 वाहन सीज किये गये। चेकिंग अभियान के दौरान 42,99,37,047 रूपए का शमन शुल्क वसूल किया गया। कालाबाजारी एवं जमाखोरी करने वाले 985 लोगों के खिलाफ 739 एफआईआर दर्ज करते हुए 355 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया कि फेक न्यूज के तहत अब तक 1772 मामलों को संज्ञान में लेते हुए कार्यवाही की गई है। 11 जुलाई को कुल 10 मामले, जिनमें ट्विटर के 06, फेसबुक के 04 मामले को संज्ञान में लिया गया हंै तथा साइबर सेल को आवश्यक कार्यवाही हेतु प्रेषित किया गया। उन्होंने बताया कि प्रदेश के 3650 हाॅट स्पाॅट के 846 थानान्तर्गत 9,41,502 मकानों के 53,79,642 लोगों को चिन्हित किया गया है। इन हाॅट स्पाॅट क्षेत्रों में कोरोना पाॅजीटिव लोगों की संख्या 11,395 है। इंस्टीट्यूशनल क्वारेंटाइन किये गये लोगों की संख्या 10,787 है।
अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में टेस्टिंग का कार्य तेजी से किया जा रहा है। कल एक दिन में सर्वाधिक 42,354 सैम्पल की जांच की गयी। इस प्रकार प्रदेश ने कोविड-19 की जांच में 10 लाख का आकड़ा पार करते हुए अब तक कुल 11,16,466 सैम्पल की जांच की गयी है। इससे प्रदेश कोरोना टेस्ट में देश के अग्रणी राज्यों में शामिल हो गया है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 11,490 कोरोना के मामले एक्टिव हैं। उन्होंने बताया कि अब तक 22,689 मरीज पूरी तरह से उपचारित हो चुके हैं। उन्होंने बताया कि पूल टेस्ट के अन्तर्गत कुल 2916 पूल की जांच की गयी, जिसमें 2443 पूल 5-5 सैम्पल के तथा 473 पूल 10-10 सैम्पल की जांच की गयी।
श्री प्रसाद ने बताया कि 1,64,017 सर्विलांस टीम द्वारा 1,19,14,911 घरों के 6,08,71,541 लोगों का सर्वेक्षण किया गया है। उन्होंने बताया कि आरोग्य सेतु ऐप से अलर्ट जनरेट आने पर कन्ट्रोल रूम द्वारा निरन्तर फोन किया जा रहा है। अलर्ट जनरेट होने पर अब तक लगभग 1,75,000 लोगों को कंट्रोल रूम द्वारा फोन कर जानकारी प्राप्त की गयी। उन्होंने बताया कि सी0एम0 हेल्प लाइन से भी निरन्तर फोन किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में विभिन्न विभागों द्वारा लगभग 36 हजार से अधिक कोविड हेल्प डेस्क स्थापित किये जा चुके है। उन्होंने कहा कि कोविड हेल्प डेस्क एक उपयोगी प्लेटफार्म है। उन्होंने बताया कि लखनऊ, गोण्डा, मिर्जापुर, बरेली, मुरादाबाद, वाराणसी और अलीगढ़ में आर0टी0पी0सी0आर0 की 01-01 कुल 07 नयी प्रयोगशाला क्रियाशील हो गयी हैं, जिसका लोकार्पण मा0 मुख्यमंत्री जी द्वारा आज विश्व जनसंख्या दिवस के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में किया गया। उन्होंने बताया कि अब प्रदेश के सभी मण्डल मुख्यालयों पर कोरोना से सम्बंधित लैब स्थापित हो गयी हैं।
श्री प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में आशा, ए0एन0एम0 एवं आंगनबाड़ी कार्यकत्रियां जनसंख्या स्थरीकरण के लिए बेहतर कार्य कर रही हैं। उन्होंने कहा कि आगामी 16 से 31 जुलाई के मध्य चलने वाले दस्तक अभियान में आशा वर्कर्स, ए0एन0एम0 एवं आंगनबाड़ी कार्यकत्रियां घर-घर जाकर सर्विलांस के कार्यों के साथ-साथ काॅन्ट्रासेप्टिवस एवं परिवार नियोजन की अन्य सुविधाएं उपलब्ध कराएंगी, जिससे प्रदेश में मातृ एवं शिशु मृत्यु दर को कम किया जा सके।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment