ब्यूरो

नई दिल्ली.  केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री कपिल सिब्बल ने विद्यालय शिक्षा बोर्डों की परिषद को कल यहां संबोधित करते हुए कहा कि अगले तीन वर्षों में गणित और विज्ञान के लिए एक समन्वित पाठयक्रम की दिशा में सभी बोर्ड किस प्रकार चल सकते हैं,  ताकि हमारे पास व्यावसायिक तौर पर प्रतियोगिता के लिए समान रूप से शिक्षा प्राप्त लोगों का समूह तैयार हो सके। देश में एक साझा परीक्षा के माध्यम से विश्वविद्यालय शिक्षा प्रणाली में उन व्यावसायिक पाठयक्रमों से यह संभव होगा जिनके लिए गणित और विज्ञान मौलिक विषय है। श्री सिब्बल ने देश भर से आए स्कूल शिक्षा बोर्डों के प्रमुखों से बताया कि इस मुद्दे पर चर्चा के आधार पर उन्हें इसके लिए एक मार्गनिर्देश तैयार होने की आशा है। उन्होंने उपस्थित समूह को यह भी याद दिलाया कि इन विषयों के लिए सचमुच समतुल्यता सुनिश्चित करने के क्रम में शिक्षकों की गुणवत्ता को भी सुनिश्चित करना होगा।

 इस अवसर पर विद्यालय शिक्षा और साक्षरता विभाग के संयुक्त सचिव एससी खूंटिया ने अपना विचार व्यक्त किया। सीबीएसई के कार्यकारी अध्यक्ष विनीत जोशी और एनसीईआरटी के निदेशक कृष्ण कुमार भी इस कार्यक्रम में उपस्थित थे।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here