देश मेँ आठवेँ दौर का मतदान जारी- सात राज्यों की 64 सीटों पर डाले जा रहे हैँ वोट

0
55

imagesआई एन वी सी,

दिल्ली,

2014 के लोकसभा चुनावों में आज आठवेँ चरण का मतदान जारी है.  सात राज्यों की 64 सीटों पर वोट डाले जा रहे हैं.  ग़ौर तलब है कि मतदान के दौरान पहली बार ऐसा हो रहा है कि राहुल अमेठी में मौजूद हैं.

आठवें चरण के चुनाव में आंध्रप्रदेश की 25. बिहर की सात हिमाचल प्रदेश की चार जम्मू कश्मीर की दो. उत्तरप्रदेश की 15.उत्तराखंड की पांच और पश्चिम बंगाल की छह लोकसभा सीटों पर मतदान हो रहे हैं. इसके साथ ही आज आंध्रप्रदेश की 175 विधानसभासीटों के लिए भी मतदान हो रहे हैं. शाम छह बजे मतदान की अवधि की समाप्ति के बाद ईवीएम मशीनें लॉक होने के के साथ ही कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी, लोकजनशक्ति पार्टी के रामविलास पासवान तथा तीन पूर्व मुख्यमंत्रियों बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबडी देवी,हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री शांता कुमार तथा उत्तराखड के दो पूर्व मुख्यमंत्री बी सी खंडूरी और रमेश पोखरियाल निशंक सहित कई दिग्गजों का चुनावी भविष्य भी लॉक हो जायेगा.

आज का मतदान जिन नेताओं की भावी ताबीर लिखेगा उनमें मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के वासुदेव आचार्य. पूर्व केन्द्रीय मंत्री राजीव प्रताप रुड़ी और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री राम सुंदर दास के अलावा केन्द्रीय मंत्री बेनी प्रसाद वर्मा. प्रसिद्ध क्रिकेट खिलाडी मोहम्मद कैफ और  पूर्व विदेश मंत्री दिनेश सिंह की बेटी रत्ना सिंह शामिल हैं. चुनाव आयोग ने लोकसभा चुनाव के इस आठवें चरण में 64 सीटों पर महत्वपूर्ण हस्तियों के चुनाव मैदान में होने से संवदेनशीलता के मद्देनजर संवेदनशील मतदान केन्द्रों पर सुरक्षा इंतजामों में फेरबदल करते हुए अर्धसैन्य बलों को सीधे हस्तक्षेप का अधिकार देने के साथ ही उम्मीदवारों की मांग पर और अधिक बूथों पर सीसीटीवी कैमरे लगाने का निर्णय लिया है.

बुधवार को हिमाचल प्रदेश की मंडी से मुख्यमंत्री की पत्नी प्रतिभा सिंह और पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल के पुत्र अनुराग ठाकुर हमीरपुर से उम्मीदवार हैं, का फैसला होना है. हिमाचल में सीधी लड़ाई कांग्रेस और भाजपा के बीच है जहां पर पिछले चुनाव में भाजपा ने तीन सीटें जीती थी. रायलसीमा और तटवर्ती आंध्र क्षेत्रों वाले सीमांध्र की लोकसभा की 25 और विधानसभा की सभी सीटों के लिए वोट डाले जा रहे हैं. पिछले दो संसदीय चुनावों में कांग्रेस ने काफी अच्छा प्रदर्शन किया था जिससे केंद्र में संप्रग सरकार बनने में मदद मिली थी. वर्ष 2009 में कांग्रेस ने इस क्षेत्र की 25 सीटों में से 19 पर जीत दर्ज की थी. कांग्रेस ने इसके साथ ही दोनों मौकों पर आंध्र प्रदेश में सरकार बनायी थी. इस चुनाव के कुछ ही समय बाद कांग्रेस के दिग्गज नेता वाईएस राजशेखर रेड्डी की हेलीकाप्टर दुर्घटना में मौत, उनके पुत्र वाईएस जगन मोहन रेड्डी द्वारा अलग पार्टी बनाये जाने तथा राज्य के बंटवारे को लेकर राजनीति से वर्तमान चुनाव में पार्टी के लिए बड़ी बाधाएं खड़ी हो गई हैं.

तेदपा नेता चंद्रबाबू नायडू और जगन मोहन रेड्डी की भी साख दांव पर है. नायडू को वर्ष 2004 और 2009 के विधानसभा चुनाव में हार का मुंह देखना पड़ा था जबकि जगन की पार्टी विधानसभा चुनाव पहली बार लड़ रही है. इस समय तेदेपा के चार जबकि वाईएसआर कांग्रेस के दो सांसद हैं. दो केंद्रीय मंत्रियों वी किशोर चंद्रदेव और एमएम पल्लम राजू के भाग्य का फैसला उत्तर तटवर्ती आंध्र के अराकू और काकीनाडा में होगा. उत्तर प्रदेश में जिन 15 सीटों के लिए मतदान हो रहा है जिनमें से कांग्रेस की सात तथा बसपा एवं सपा के पास पांच-पांच सीटें हैं. बिहार में सात सीटें दांव पर हैं.   इनमें से राज्य में सत्ताधारी जदयू के पास चार जबकि राजद के पास दो और भाजपा के पास एक सीट है. पश्चिम बंगाल की छह सीटों के लिए वोट डाले जाएंगे. इनमें से माकपा के पास चार जबकि भाकपा और एआईएफबी के पास एक-एक सीट है. उत्तराखंड की पांच सीटों पर कांग्रेस और भाजपा के बीच कड़ा और सीधा मुकाबला है. पिछले चुनाव में कांग्रेस ने पांच में से चार सीट पर जीत दर्ज की थी. टिहरी गढ़वाल सीट भाजपा ने जीती थी. जम्मू कश्मीर की दो सीटों बारामूला और लद्दाख के लिए चुनाव होने के साथ ही राज्य की सभी सात सीटों पर चुनाव पूरा हो जाएगा. बारामूला सीट पर फिलहाल नेशनल कान्फ्रेंस के कब्जे में है जबकि निर्दलीय हसन खान लद्दाख से वर्तमान सांसद हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here