Saturday, April 4th, 2020

देश को तोड़ने की किसी भी राजनीतिक साजिश को सफल नहीं होने देंगे 

भोपाल ।  मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा है कि ‘‘मध्यप्रदेश में जब तक कांग्रेस की सरकार है कोई भी संविधान विरोधी, जन विरोधी और धर्म विरोधी कानून प्रदेश में लागू नहीं होगा। उन्होंने भाजपा की केन्द्र सरकार पर आरोप लगाया कि वह हमारे संविधान की मूल भावना पर आक्रमण कर रही है और देश की जनता को गुमराह करके उन्हें बाँटने की कोशिश कर रही है। मुख्यमंत्री ने हुँकार भरते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी इस देश को तोड़ने की किसी भी राजनीतिक साजिश को सफल नहीं होने देगी“ । श्री नाथ आज मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी द्वारा आयोजित संविधान बचाओ मार्च के पूर्व रोशनपुरा चौराहे पर एक विशाल जनसभा को संबोधित कर रहे थे।
मुख्यमंत्री कमल नाथ ने कहा कि आज इस मार्च में शामिल विभिन्न धर्मों, वर्गों के लोग बड़ी संख्या में शामिल हुए। इस मार्च से हम देश के हृदय प्रदेश मध्यप्रदेश से हर भारतवासी को संदेश देना चाहते हैं कि केन्द्र सरकार संविधान विरोधी कृत्य करके आने वाली पीढ़ियों का भविष्य खतरे में डाल रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारे देश की पहचान पूरी दुनिया में एक ऐसे संविधान लागू करने वाले देश के रूप में है, जहाँ हर धर्म, जाति, संस्कृति, भाषा को अपने तरीके से जीने का न केवल अधिकार है बल्कि उसे अभिव्यक्ति की भी पूरी स्वतंत्रता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी मेल-जोल की संस्कृति, आपसी रिश्तों और सभी धर्मां को एक-दूसरे से जोड़ने की ताकत को विभाजनकारी शक्तियाँ कमजोर करने का प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि यह कानून हमारे संविधान पर आक्रमण ही बल्कि देश के हर नागरिक के अधिकारों पर आक्रमण है। हमारी विविधता में एकता को और एक झण्डे के नीचे खड़े लोगों को गुमराह करने का व उन्हें तोड़ने का प्रयास केन्द्र की सरकार कर रही है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि लोकतंत्र के सर्वोच्च मंदिर लोकसभा में केन्द्र सरकार के गृह मंत्री एनआरसी को पूरे देश में लागू करने का बयान देते हैं वहीं उनके प्रधानमंत्री सार्वजनिक मंच में इससे इंकार करते हैं। साफ है कि भाजपा की नीयत में खोट है। देश के प्रधानमंत्री झूठ बोलकर जनता को बरगलाने का अपराध कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी द्वारा आज निकाले जा रहे ‘‘संविधान बचाओ शांति मार्च" का उद्देश्य यह है कि हम आने वाली पीढ़ियों को वही भारत सौंपे, जहाँ पर मिलजुलकर एक-दूसरे के प्रति सहयोग की भावना की संस्कृति हो।
मुख्यमंत्री कमल नाथ ने आरोप लगाया कि सीएए और एनआरसी के माध्यम से भारतीय जनता पार्टी की केन्द्र सरकार पूरे देश में आरएसएस का हिंडन एजेण्डा लागू कर रही है। इस कानून के प्रति इनकी नीयत और नीति दोनों संदिग्ध है और देश को तोड़ने की घिनौनी साजिश है।
मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी द्वारा निकाले गए ऐतिहासिक संविधान बचाओ और शांति मार्च में मुख्यमंत्री कमल नाथ लाखों लोगों के साथ व विभिन्न धर्मों के प्रमुखजन के साथ रोशनपुरा से पैदल मार्च करते हुए मिंटो हॉल पहुँचे। मार्च में लोग बड़ी संख्या में हाथो में तिरंगा ध्वज लेकर व गांधी टोपी लगाकर शामिल हुए। लाखों की संख्या में शामिल सभी धर्मों, वर्गों, जातियों, के लोगों के साथ व विभिन्न सामाजिक व व्यापारिक संस्थाओ, संगठनो, युवा वर्ग के साथ मिंटो हॉल स्थित गाँधी जी की प्रतिमा पर उन्होंने पुष्पांजलि अर्पित कर भाजपा को सद्बुद्धि, संविधान को बचाने की व देश को बाँटने की साजिश को असफल करने की प्रार्थना की। इस मार्च में विभिन्न दलों के कई प्रतिनिधियों व विभिन्न धर्मों के प्रमुखों ने भी शिरकत की। वर्षों बाद भोपाल की सड़कों पर इतना बड़ा जनसैलाब आज देखने को मिला। पूरे मार्ग पर लाखों लोगों की भीड़ जमा थी जो शांतिपूर्ण ढंग से राष्ट्रीय ध्वज लेकर इस मार्च में मुख्यमंत्री कमलनाथ जी की अगुवाई में इस काले कानून का विरोध करते हुए चल रही थी।
इस मार्च में पूर्व केन्द्रीय मंत्री सुरेश पचौरी, पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ‘राहुल भैया’, मीनाक्षी नटराजन, अशोक सिंह, राजेंद्र सिंह, मंत्रिमंडल के सदस्य पी.सी. शर्मा, सज्जन वर्मा, आरिफ अकील, बाला बच्चन, जयवर्धन सिंह, डाॅ. विजय लक्ष्मी साधौ, तुलसी सिलावट, तरूण भनोत, हुकुम सिंह कराड़ा, बाला बच्चन, बृजेन्द्र सिंह राठौर, प्रदीप जायसवाल, लाखन सिंह यादव, श्रीमती इमरती देवी, डॉ. प्रभुराम चैधरी, प्रियवत सिंह, हर्ष यादव, जीतू पटवारी, कमलेश्वर पटेल, लखन घनघोरिया, सचिन यादव, ओंकार मरकाम आदि उपस्थित थे। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष चन्द्रप्रभाष शेखर, प्रकाश जैन, गोविंद, गोयल, राजीव सिंह, शोभा ओझा, नरेन्द्र सलूजा, भूपेन्द्र गुप्ता, अभय दुबे, मो.सलीम, कैलाश मिश्रा भी इस अवसर पर उपस्थित थे। वयोवृद्ध समाजवादी नेत्री श्रीमती सविता वाजपेयी, लोकतांत्रिक समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष रघु ठाकुर, भारतीय कम्युनिष्ट पार्टी के बादल सरोज, समाजसेवी राकेश दीवान, राजेन्द्र कोठारी सहित अनेक समाज के गणमान्य लोग भी इस मार्च में सम्मिलित हुए। मार्च में बड़ी संख्या में विधायक गण और प्रदेशभर से आए लाखों कांग्रेस कार्यकर्ता गण तथा नागरिक शामिल हुए।  PLC

 

Comments

CAPTCHA code

Users Comment