Tuesday, October 15th, 2019
Close X

देश को काले धन और काले मन ने बर्बाद किया : नरेन्द्र मोदी

Prime-Minister,Narendra-Modआई एन वी सी न्यूज़ देहरादून , प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी ने आज उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में आयोजित विशाल परिवर्तन रैली को संबोधित किया और राज्य के विकास के लिए जनता से भारतीय जनता पार्टी की पूर्ण बहुमत की सरकार बनाने की अपील की। इससे पहले प्रधानमंत्री ने बद्रीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री की चार धाम यात्रा को जोड़ने वाली 12 हजार करोड़ रुपये की लागत के रोड प्रोजेक्ट की आधारशिला रखी।

प्रधानमंत्री ने कहा कि उत्तराखंड देवभूमि है, वीरों की भूमि है, वीर माताओं की भी भूमि है। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड विकास के लिए अब और इंतजार नहीं करना चाहता। उन्होंने कहा कि चार धाम यात्रा को जोड़ने वाली रोड प्रोजेक्ट्स का शिलान्यास उन हजारों परिवारों को भावभीनी श्रद्धांजलि है जिन्होंने केदारनाथ के भयावह प्राकृतिक हादसे में अपनों को खोया है। उन्होंने कहा कि चार धाम यात्रा को जोड़ने वाला रोड प्रोजेक्ट उत्तराखंड के विकास के लिए एक नया अवसर प्रदान करेगा। उन्होंने कहा कि हमारे देश में ऐसी सरकारें आई जिसने सवा सौ करोड़ देशवासियों के लिए आवश्यक सुविधाओं को भी पूरा करने की कोशिश नहीं की। उन्होंने कहा कि अगर मेरे लिए यह बस एक राजनीतिक कार्यक्रम होता, जनता-जनार्दन की आँखों में सिर्फ धूल झोंकने वाला काम होता तो प्रधानमंत्री बनते ही मैं इसका शिलान्यास कर देता जैसा कि कांग्रेस की पहले की सरकारों और मुख्यमंत्रियों ने किया है, अभी वाले (उत्तराखंड के वर्तमान मुख्यमंत्री हरीश रावत) तो शायद हर रोज कर रहे हैं। उन्होंने उत्तराखंड की कांग्रेस सरकार पर हमला करते हुए कहा जनता सब कुछ जानती है, बिना बजट के पत्थर गाड़ने का काम करोगे तो योजनायें बनेगी क्या? उन्होंने कहा कि जल्दबाजी में योजनायें लाने से राजनीति तो चल सकती है लेकिन समाज नहीं चल सकता, समाज का भला नहीं हो सकता इसलिए हमने व्यापक रिसर्च और दुनिया भर की कंसल्टेंसी एजेंसियों से डिस्कशन करने के बाद इस योजना की शुरुआत की है, मैं विश्वास दिलाना चाहता हूँ कि देश भर के लोग जब भी इस अद्भुत योजना का अनुभव करेंगें तो उन्हें सुखद अनुभूति होगी और वह केंद्र की भारतीय जनता पार्टी सरकार को याद करेंगें। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड की आय का सबसे बड़ा साधन टूरिज्म है, यदि व्यवस्थाएं ठीक हों, सुविधाएं उपयुक्त हों तो हिन्दुस्तान का कौन सा परिवार उत्तराखंड में चार-पांच दिन नहीं बिताना चाहेगा।

मोदी ने कहा कि ऐसा कहा जाता है कि पहाड़ का पानी और पहाड़ की जवानी कभी भी पहाड़ के काम नहीं आती लेकिन मैंने इस कहावत को बदलने की ठान ली है, पहाड़ का पानी और पहाड़ की जवानी - दोनों पहाड़ के काम आयेंगें। उन्होंने कहा कि हम ऐसा उत्तराखंड बनायेंगें कि यहाँ के युवाओं को हिमालय छोड़कर शहरों की तंग गलियों में जिंदगी गुजारने को मजबूर नहीं होना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि हम उत्तराखंड को विकास की नई ऊँचाइयों पर ले जाना चाहते हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज़ादी के 70 साल बाद भी केंद्र में हमारी सरकार बनते वक्त देश भर में 18,000  ऐसे गाँव थे, जहां तक बिजली नहीं पहुँची थी, हमने 1000 दिनों में इन 18000 गाँवों में बिजली पहुंचाने का बीड़ा उठाया, 1000 दिन से बहुत पहले ही हमने 12000 से अधिक गाँवों में बिजली पहुंचाने का काम पूरा कर लिया है, बांकी बचे गाँवों में भी तय समय के भीतर बिजली पहुंचाने का काम पूरा कर लिया जाएगा। उन्होंने जनता से सवाल करते हुए कहा कि क्या यह योजना अमीरों के लिए है, नहीं, यह योजना गरीबों का हक़ पूरा करने के लिए हो रही है। उन्होंने कहा कि पहले गैस सिलिंडर लेने के लिए नेताओं के चक्कर लगाने पड़ते थे। उन्होंने कहा कि 2014 के लोक सभा चुनाव से ठीक पहले कांग्रेस ने अपने अधिवेशन में यह घोषणा की कि यदि केंद्र में फिर से कांग्रेस की सरकार आती है तो लोगों को 9 की जगह 12 सिलिंडर मिलेगा और जब हमारी सरकार केंद्र में आती है तो फैसला करती है कि देश भर में गरीबी रेखा से नीचे जीने वाले पांच करोड़ गरीब परिवारों को फ्री में गैस कनेक्शन दिए जायेंगे, ये बुनियादी फर्क है दोनों सरकारों में।

मोदी ने कहा कि 40 सालों से हमारे सेना के जवान हिन्दुस्तान की सरकार से “वन रैंक, वन पेंशन' की मांग कर रहे थे लेकिन देश में 40 सालों तक जिस परिवार ने राज किया, उसने कभी भी हमारे सेना के जवानों की मांगों को पूरा करने का सोचा ही नहीं, जब लोक सभा चुनाव सिर पर आया तो उन्होंने इसके लिए 500 करोड़ का प्रावधान कर दिया जबकि वन रैंक, वन पेंशन का बजट 10 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा का है जिसका प्रावधान हमने बजट में कर दिया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की यूपीए सरकार ने 500 करोड़ से सेना के जवानों की आँखों में धूल झोंकने का काम किया गया या नहीं? उन्होंने कहा कि वन रैंक, वन पेंशन के तहत अब तक 6600 करोड़ रुपया सेना के जवानों तक पहुंचा दिया गया है, बांकी भी जल्द ही पहुंचा दिया जाएगा।

प्रधानमंत्री ने कहा कि देश की जनता ने मुझे काम दिया है देश की चौकीदारी करने का, आज मैं चौकीदारी कर रहा हूँ तो कुछ लोग परेशान हैं, उन्हें तकलीफ़ हो रही है कि चौकीदार तो चोरों के सरदारों पर ही पहले वार कर रहा है। उन्होंने कहा कि देश को काले धन ने भी बर्बाद किया है, देश को काले मन ने भी बर्बाद किया है। उन्होंने कहा कि देश से भ्रष्टाचार को जड़ से ख़त्म करने की लड़ाई मैंने आपके आशीर्वाद से छेड़ दी है। उन्होंने कहा कि वर्ग तीन और वर्ग चार में हमने नौकरी के लिए इंटरव्यू को ख़त्म कर दिया ताकि मेरिट के आधार पर नौकरी मिल सके। हमने सभी राज्य सरकारों से भी इसे लागू करने का आह्वान किया, कई राज्यों ने इसे लागू कर दिया है, लेकिन उत्तराखंड की सरकार इसे लागू नहीं करना चाहती। उन्होंने कहा कि बस थोड़े दिनों की बात है, जैसे ही उत्तराखंड में भाजपा सरकार आयेगी, ये काम भी पूरा हो जाएगा।

मोदी ने कहा कि 1000 और 500 के पुराने नोटों को बंद करके हमने अच्छे-अच्छों के पोल खोल दिए हैं लेकिन बेईमानों की आदत आसानी से जाती नहीं है, वे पिछले रास्ते से नोट बदलने में लग गए, उनको तो लगता था कि मोदी को दिखता नहीं है लेकिन उन बेईमानों को पता नहीं था कि हमें पूरी जानकारी है, आज हर दिन लोग पकड़े जा रहे हैं, नोटों और सोने के ढेर बरामद हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह सफाई अभियान है, देशवासियों ने इस धर्मयुद्ध में मेरी मदद की है, इसलिए मैं यह लड़ाई लड़ पा रहा हूँ। उन्होंने कहा कि इस लड़ाई में यदि मुझे देश की जनता का साथ न मिला होता तो पता नहीं लोग मेरा क्या-क्या कर देते, लेकिन जब तक 125 करोड़ देशवासियों का रक्षा कवच मेरे साथ है, भ्रष्टाचार, आतंकवाद, मानव-तस्करी, जाली नोट, नक्सलवाद और काले-धन के खिलाफ लड़ाई लड़ता रहूँगा।

उत्तराखंड की कांग्रेस सरकार पर करारा प्रहार करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि इंसान पैसे खाता है, यह तो हमने सुना था लेकिन उत्तराखंड में तो स्कूटर भी पैसे खा जाता है। उन्होंने कहा कि दुराचार और भ्रष्टाचार ने भारत जैसे होनहार देश को तबाह करके रख दिया है, हमें इस को बचाना है। उन्होंने कहा कि तकलीफों के बावजूद यह देश ईमानदारी की लड़ाई लड़ने के लिए आगे आया, इससे ज्यादा देश का सौभाग्य क्या हो सकता है? उन्होंने कहा कि मैं जनता के इस ऋण को चुकाने के लिए जिंदगी भर प्रयास करता रहूँगा। उन्होंने कहा कि देश को बचाना है तो देश से लूट-खसोट बंद होना चाहिए। उन्होंने कहा कि देश का सामान्य व्यक्ति बेईमानों से नफरत करता है, कुछ मुट्ठी भर बेईमानों ने ईमानदारों की ताकत को दबा कर रखा है, मुझे ईमानदार लोगों को ताक़तवर बनाना है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि  अटल बिहारी वाजपेयी जी ने हमें उत्तराखंड दिया, इसे उत्तम उत्तराखंड बनाना हमारी जिम्मेवारी है। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड को विकास के पथ पर अग्रसर करने के लिए दो इंजन की जरूरत है - एक इंजन तो उत्तराखंड की जनता ने दिल्ली में लगा दिया है, दूसरा इंजन देहरादून में भी लगा दीजिये तो देखते-देखते उत्तराखंड विकास के रास्ते पर दौड़ पड़ेगा।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment