Close X
Saturday, May 8th, 2021

देश के टॉप 3 शहरों में जल्द जाना जाएगा लखनऊ

आई एन वी  सी न्यूज़
लखनऊ,
लखनऊ के सांसद/रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, सड़क परिवहन राजमार्ग केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा टेढ़ी पुलिया फ्लाईओवर का लोकार्पण एवं खुर्रम नगर - सेक्टर 25 इन्दिरा नगर फ्लाईओवर का शिलान्यास किया गया। विकास नगर मिनी स्टेडियम में आयोजित कार्यक्रम में रक्षा मंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि आज का दिन लखनऊ नगर और विशेष रूप से उत्तर एवं पूर्व विधानसभा क्षेत्रवासियों के लिये बहुत हर्ष और उल्लास का दिन है। आज टेढ़ी पुलिया चैराहे पर 1830 मीटर लम्बे 4 लेन चैड़े और 5.5 मीटर ऊंचे फ्लाई ओवर का लोकार्पण हो रहा है। जिसकी निर्माण लागत लगभग 88 करोड़ की है। इस चैराहे के ट्रैफिक सर्वे में औसत दैनिक ट्रैफिक वाहनों की संख्या 42 हजार तक पायी गयी जो दिनों
दिन बढ़ती ही जा रही है जिसके फलस्वरूप हर समय भारी जाम की स्थिति बनी रहने से गति अत्यन्त धीमी रहती थी। वर्तमान और भविष्य की आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए 4 लेन के इस पलाईओवर के निर्माण की स्वीकृति वर्ष 2017 में माननीय श्री गडकरी जी, मंत्री राजमार्ग एवं सड़क परिवहन द्वारा प्रदान की गयी थी जिसके लिये धनराशि राज्य को उपलब्ध करायी गयी सेन्ट्रल रोड फण्ड से माननीय मुख्यमंत्री जी के अनुमोदन से माननीय लोक निर्माण मंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य जी द्वारा निर्गत की गयी थी जून 2019 को कार्य प्रारम्भ किया गया और कोरोना काल के होते हुए भी नियम समय में यह कार्य पूरा किया गया।इस फ्लाई ओवर की विशेषता है कि आधुनिक तकनीकि पर सिंगल पिलर पर यह ‘सेन्ट्रल बर्ज’ पर खड़ा हुआ है जिससे भूतल पर मार्ग की अधिकतम चैड़ाई आवागमन के लिये अभी भी उपलब्ध है। पुल की ऊंचाई भी 5.5 मीटर के असाधारण स्तर पर रखी गयी है जिससे भविष्य में भी नीचे डबल डेकर वाहन भी आ जा सकें। इस फ्लाई ओवर के बन जाने से अब बक्शी का तालाब की ओर से मुंशी पुलिया होते हुए अयोध्या मार्ग की ओर जाने वाले और कुकरैल फ्लाई ओवर से होकर कालीदास मार्ग चैराहे की ओर जाने वाले वाहनों का समय अत्यधिक घट जायेगा और इस चैराहे पर कभी भी जाम की स्थिति न रहने से वायु प्रदूषण में भारी कमी आयेगी।


इस अभूतपूर्व कार्य की स्वीकृति के लिये मैं नगर की जनता एवं क्षेत्रीय निवासियों की ओर से श्री गडकरी जी. श्री योगी आदित्यनाथ जी और श्री केशव प्रसाद मौर्य जी का हार्दिक आभार व्यक्त करता हूँ। मुझे यह बताते हुए खुशी हो रही है कि अभी कुछ माह पूर्व लखनऊ के लधानी गुप द्वारा साउथ कोरिया की एडिसन मोटर्स नाम की इलेक्ट्रिकल VECE निर्माता कम्पनी के साथ मेमोरेंडम हस्ताक्षरित किया गया है इससे लखनऊ में यह इकाई स्थापित की जायेगी।

राजनाथ सिंह ने गडकरी जी से कुछ अन्य स्थानों पर भी फ्लाईओवर निर्माण के लिये अनुरोध किया जिससे यहां के भारी जाम की स्थिति से निजात पाया जा सके, इंजीनियरिंग कालेज और टेढ़ी पुलिया चैराहे के बीच में इंजीनियरिग कालेज चैराहे पर 60 मीटर लंबाई का फ्लाईओवर, खुर्रम नगर से इंदिरा नगर सेक्टर- 25 तक जो पलाईओवर का शिलान्यास हुआ है उससे कुकरेल 6 लेन फ्लाईओवर को जोडने के लिये कल्वर लीफ बनाने, मुंशी पुलिया चैराहे पर जाम की समस्या समाप्त करने हेतु फ्लाईओवर और ऊपरगामी मार्ग से पालीटेक्निक  फ्लाईओवर को जोडने की, राष्ट्रीय राजमार्ग 24 ए और राष्ट्रीय राजार्म सं० 27, के जंक्शन पर स्थित पॉलिटेक्निक फ्लाईओवर को इंदिरा नगर की ओर उपरिगामी मार्ग, राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 27 स्थित मटियारी फ्लाईओवर को उपरिगामी मार्ग द्वारा शहीद पथ से जोड़ने, शारदा नहर के दोनों और निर्मित  6 लेन मार्ग जो आउटर रिंग रोड का हिस्सा है, को उपरिगामी मार्ग के माध्यमसे गोसाईगंज- मोहनलालगंज-बनी जाने वाले स्टेट हाईवे संख्या 136 से जोड़ने, लखनऊ- हरदोई राष्ट्रीय राजमार्ग सं0 731 और अवध हास्पिटल से आईआईएम तिराहा जाने वाले मार्ग के इन्टर सेक्शन के ऊपर एक फ्लाईओवर तथा, मेरा मा0 मुख्य मंत्री जी से भी अनुरोध है कि समता मूलक चैराहे की ज्यामेटरी् और भारी वाहन संख्या देखते हुए एक फ्लाईओवर. निर्मित करने की स्वीकृति राज्य सरकार द्वारा, कानपुर रोड से बारा विरवा चैराहे से दुबग्गा की ओर मुड़ने वाले मार्ग पर निरन्तर जाम से मुक्ति हेतु एक फ्लाईओवर की स्वीकृति तथा श्रद्धालुओं के आवागमन को सुगम बनाने के लिये अयोध्या में चैरासी कोसीय परिक्रमा मार्ग को राष्ट्रीय राजमार्ग घोषित किया जाय और आवश्यक नवीनीकरण के कार्य कराये जायें। उक्त कार्यों की तुरंत नितिन गडकरी ने तथा मुख्यमंत्री ने सहमति प्रदान की।

राजनाथ सिंह ने कहा कि श्री गडकरी जी द्वारा खुर्रम नगर चैराहे से लेकर इन्दिरा नगर सेक्टर 25 चैराहे तक 4 लेन लागत 180 करोड़ के फ्लाईओवर निर्माण को भी स्वीकृति प्रदान कर दी गयी है जिसका आज शिलान्यास सम्पन्न हो रहा है इसके बन जाने से लम्बी दूरी वाला ट्रैफिक भी बहुत कम समय में निकल जायेगा इस सम्बन्ध में मैं अनुरोध करना चाहता हूं कि 5 कि.मी. लम्बे कुकरैल फ्लाईओवर से तेज गति से आने वाला ट्रैफिक खुर्रम नगर चैराहे पर जाम में फस जाता है इससे मुक्ति हेतु खुर्रमनगर फ्लाईओवर से 2 क्लवर इण्टर चेंज लीफ कुकरैल फ्लाईओवर पर जोड़ दी जायें तो भविष्य की इस सेन्ट्रल ट्रैफिक आर्ट्री पर अनुमानित 01 लाख प्रतिदिन से अधिक वाहनों के आवागमन के समय की बचत और जाम तथा प्रदूषण से मुक्ति प्राप्त हो सकेगी। इसके साथ ही क्षेत्र के निवासियों को यह भी बताते हुये मुझे खुशी हो रही है कि श्री गडकरी जी द्वारा मड़ियांव चैराहे से आईआईएम मोड़ तक लगने वाले भीषण जाम से मुक्ति हेतु लगभग 1970 मीटर लम्बे फ्लाईओवर की भी स्वीकृति प्रदान कर दी गयी है जिससे जाम मुक्ति होगी। मड़ियांव से टेढ़ी पुलिया चैराहे के बीच में इंजीनियरिंग कालेज चैराहा भी भीषण जाम का केन्द्र है क्योंकि इससे होकर महानगर- अलीगंज और जानकीपुरम बड़े रिहायशी क्षेत्रों के लोगों का आना जाना है श्री गडकरी से मेरा अनुरोध है कि इंजीनियरिंग कालेज चैराहे पर यदि 70 मीटर लम्बा एक फ्लाईओवर स्वीकृत कर दिया जाय तो फिर सम्पूर्ण विशाल क्षेत्र में कहीं कोई जाम की स्थिति नहीं रहेगी। इस प्रकार एक योजनाबद्ध तरीके से आईआईएम मोड़ से मड़ियांव होते हुये टेढ़ी पुलिया फ्लाईओवर फिर खुर्रम नगर फ्लाईओवर और कुकरैल फ्लाईओवर हात हुए तेज गति से वाहन गुजर सकेंगे। मैं यह पुनः दोहराना चाहता हूं कि किसी भी क्षेत्र की आर्थिक उन्नति उतनी ही तेज गति से होती है जिस तेजी एवं सुविधा से वहां आवागमन होता है और उसी के फलस्वरूप बड़े पैमाने पर रोजगार सृजन होता है और निवासियों की सुख और समृद्धि बढ़ती है।  लखनऊ नगर के अन्दर क्षेत्र से होकर जम्मू-पंजाब से आकर वाराणसी, बिहार, बंगाल जाने वाला और असम से गुजरात (पूरब पश्चिम कॉरिडोर) जाने वाला भारी वाहन ट्रैफिक निरन्तर गुजरता था जिससे अत्यधिक जाम और प्रदूषण की स्थिति बनी रहती थी। इसके अलावा शहर में पंजीकृत वाहनों की संख्या जो वर्ष 2000 में 50 हजार के लगभग थी वह एक लाख प्रतिवर्ष की दर से बढ़ रही थी जो वर्तमान में 26 लाख के करीब पहुंच गयी है, के कारण अत्यधिक जांबा प्रदूषण की स्थिति बनी रहती है।

इसी दृष्टि से वर्ष 2014-15 में गडकरी जी के सहयोग से लखनऊ के चारों ओर 5.400 करोड़ की लागत से 104 किलोमीटर 8 लेन वाली आउटर रिंग रोड का निर्माण कार्य प्रारम्भ किया गया था जिसमें सुल्तानपुर रोड़ से अयोध्या मार्ग तक लगभग 300 करोड रुपये की लागत से 12 कि.मी. 6 लेन मार्ग राज्य सरकार के अंशदान के रूप में स्वीकृत हुआ था। जिसका निर्माण पूर्ण हो चुका है। पंचायत चुनाव की आचार संहिता लागू हो जाने के कारण इसका लोकार्पण नहीं हो सका है। आचार संहिता समाप्त हो जाने के तुरंत बाद इसका लोकार्पण कर दिया जायेगा जिससे शहीद पथ और पॉलिटेक्निक चैराहे से इन्दिरा नहर चैराहे तक आन्तरिक जाम से मुक्ति मिल सकेगी। अयोध्या मार्ग से कुर्सी रोड तक 15 कि.मी. रिंग रोड का हिस्सा मार्च 2019 में ही पूर्ण होकर लोकार्पण किया जा चुका है। रिंग रोड निर्माण कार्य तेजी से चल रहा है और दिसम्बर 2021 तक इसके पूर्ण होने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।आन्तरिक क्षेत्रों को जाम एवं प्रदूषण मुक्त करने के उद्देश्य से लगभग 300 करोड़ रुपये लागत से 5 कि.मी. लम्बा एक्सप्रेस फ्लाईओवर भी मार्च 2019 में लोकार्पण करके आवागमन प्रारम्भ हो चुका है जिसकी तेज गति से समय और प्रदूषण दोनों में बड़ी कमी आई है।अभी कुछ माह पूर्व नाका और बांसमंण्डी जैसे 2 व्यस्ततम चैराहों पर 133 करोड़ की लागत से 1528 मी० लम्बे फ्लाईओवर का लोकार्पण किया जा चुका है । जिस पर वाहनों की तेज गति और सुविधा से यात्रा समय और प्रदूषण में बहुत कमी आयी है।इसी के साथ ही हैदरगंज तिराहे से राजाजीपुरम के लिये लगभग 65 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित 1 कि.मी. लम्बे फ्लाईओवर से बड़ी सुविधा प्राप्त हुई है। बड़े इमामबाड़े से लेकर हैदरगंज तिराहे तक 135 करोड़ की लागत से लगभग 2.5 कि.मी. लम्बे फ्लाईओवर का निर्माण लगभग 90 प्रतिशत पूरा हो चुका है। इसके चल जाने के बाद इमामबाड़ा हेरिटेज एरिया से रेलवे स्टेशन और एयरपोर्ट पहुंचने में लगने वाला समय बहुत घट जायेगा। इसी कड़ी में रायबरेली रोड से वृन्दावन योजना, शहीद पथ से एयरपोर्ट और बगला बाजार में रेलवे क्रासिंग के ऊपर भी फ्लाईओवरों का निर्माण प्रगति पर है जससे वाहन ट्रैफिक को बहुत सुविधा प्राप्त हो जायेगी। लखनऊ के चहुमुखी विकास के क्रम में ही 127 कि.मी. लखनऊ सुलतानपुर राजमार्ग के 4 लेन चैड़ीकरण का कार्य लागत लगभग 3300 करोड़ मार्च 2019 में पूर्ण हो चुका है। रेलवे टर्मिनस गोमती नगर अनुमानित लागत 1800 करोड़ रुपये का निर्माण कार्य प्रगति पर है। रेल लाइन के दोहरी करण और 2 अतिरिक्त प्लेटफार्म आदिका कार्य पूर्ण हो चुका है। 33 करोड की लागत से आलमनगर सेटेलाइट रेल स्टेशन में फुट ओवर ब्रिज, यार्ड तथा स्टेशन बिल्डिंग का निर्माण कार्य प्रगति पर है।मानक नगर रेल स्टेशन का विकास, ट्रांसपोर्ट नगर, नये यात्री रेल स्टेशन का विकास और आलमनगर से उत्तरठिया रेल लाइन की डबलिंग का कार्य लागत 360 करोड़ में काफी प्रगति हो चुकी है। एयरपोर्ट में 1300 करोड़ की लागत से 2 नये टर्मिनल का निर्माण प्रगति पर है और कोरोना काल में बाधित होने के बाद भी 1 टर्मिनल शीघ्र ही पूर्ण हो जायेगा।

334 करोड़ की लागत से हैदर कैनाल एस.टी.पी. का निर्माण कार्य चल रहा है। लखनऊ से हरदोई होते हुए शाहजहांपुर तक रोड का 4 लेन चैड़ीकरण और पलिया (लखीमपुर) तक लगभग 4000 करोड़ की लागत से 4 लेन चैड़ीकरण का कार्य तेजी से चल रहा है। यह मार्ग राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 731 घोषित किया गया है। श्री गडकरी जी द्वारा सितम्बर 2016 में आउटर रिंग रोड के शिलान्यास समारोह में मेरे अनुरोध पर जो 9 फ्लाईओवर स्वीकृत किये गये थे उनमें 3 नादरगंज, सरोजनी नगर और बंथरा शामिल थे बाद में लखनऊ-कानपुर राष्ट्रीय राजमार्ग पर दैनिक वाहनों की संख्या अत्यधिक होने के फलस्वरूप उनके द्वारा नई 65 कि.मी. लम्बी 4300 करोड़ लागत से ग्रीन फील्ड लखनऊ-कानपुर 6 लेन एक्सप्रेसवे की स्वीकृति घोषणा की गयी जो शहीद पथ और कानपुर रोड के इण्टर. सेक्शन से प्रारम्भ होकर उन्नाव ट्रास गंगा सिटी तक जायेगी। 15 दिसम्बर 2020 के प्रकाशित गजट में इसे एन ई-6 का नाम दिया गया है। इसका कार्य अगले एक दो माह में प्रारम्भ होने की आशा है। गत वर्ष लखनऊ और कानपुर को डिफेन्स कॉरिडोर में शामिल करने का निर्णय लिया गया। इस क्रम में फरवरी 2020 में डिफेन्स एक्सपो का भी आयोजन किया गया जिसमें देश-विदेश से अनेक निर्माण कम्पनियों ने भाग लिया। मेरे अनुरोध पर माननीय मुख्यमंत्री जी के निर्देश पर रक्षा निर्माण इकाईयों की आवश्यकता अनुसार भूमि की उपलब्धता करायी जा रही है और इसके साथ ही डीआरडीओ का भी एक केन्द्र लखनऊ में स्थापित हो गया है जो रक्षा सामग्री निर्माण हेतु आवश्यक तकनीकी मार्गदर्शन और रिसर्च सेन्टर तथा स्टार्टअप प्रमोशन और स्किल डेवलपमेंट की दिशा में कार्य करेगा। लखनऊ-कानपुर डिफेन्स कॉरिडोर को देखते हुए लखनऊ-कानपुर एक्सप्रेसवे भावी विकास की धुरी बनकर उभरेगा और लखनऊ वासियों को बड़े संख्या में रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगे। इस प्रकार बड़े पैमाने पर इन्फ्रास्ट्रक्चर के विकास के साथ-साथ ही 4जी नेटवर्क डालने का कार्य भी तेजी से चल रहा है। जो निकट भविष्य में 5जी लान्च होते ही विश्व स्तर पर साइबर कैनेक्टिविटी प्रदान करेगा जिससे विकास और रोजगार सृजन में बड़े पैमाने पर वृद्धि होगी। इस प्रकार इन्फ्रास्ट्रक्चर निर्माण से लखनऊ के चारों ओर दूर दराज के जिले भी हाई मोबिलिटी मार्गों से जुड़ जाने से लखनऊ वेयरहाउसिंग और लॉजिस्टिक्स उद्योग के बड़े केन्द्र के रूप में उभरना प्रारम्भ हो गया है। जिसका लाभ आने वाले दिनों में यहां की जनता को बड़े पैमाने पर प्राप्त होगा। रक्षा मंत्री जी ने यह भी कहा कि इसके अतिरिक्त भी अगर लखनऊ के किसी भी क्षेत्र में जनता को आवश्यकता है तो स्वयं आगे बढ़ कर उसके समाधान के लिए प्रयास करना चाहिए मैं उसके निदान का पूरा प्रयास करूंगा। बहुत जल्द हमारा लखनऊ देश के टॉप 3 शहरों के रूप में जाना जाएगा।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि मैं आभारी हूं केंद्रीय मंत्री गडकरी जी का और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह जी का जिन्होंने प्रदेश के विकास के लिए आज अपना समय दिया और लोकार्पण के कार्यक्रम उपस्थिति से प्रदेश की जनता को एक नया संदेश दिया है हम सब जानते हैं 2014 में देश के प्रधानमंत्री के रूप में शपथ लेते ही प्रधानमंत्री मोदी जी ने देश की जनता को एक ही संकल्प कराया था और वह विकास का इस देश को ऊंचाइयों तक पहुंचाने का जहां पर वह एक नागरिक के जीवन में नया परिवर्तन ला सकें। और मुझे प्रसन्नता है कि जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में चाहे वो जन कल्याण से या गरीब कल्याण से जुड़े हुए हो और इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट से जुड़ी हुई, रोड से जुड़ी योजनाएं, अंतरराष्ट्रीय मानकों से जुड़ी हुए संस्थान, आईआईटी आईआईएम या अन्य सभी संस्थान आज तेजी के साथ देश के अंदर भी और प्रदेश के अंदर भी बनते हुए दिखाई दे रहे हैं मुझे बहुत प्रसन्नता है कि आज यहां पर हो रहे फ्लाईओवर लोकार्पण से यातायात की बहुत बड़ी समस्या का समाधान होगा और लोगों का आवागमन सुगम होगा। आम जनजीवन के दिन मैं ज्यादा ट्रैफिक जाम से घटित होने वाली घटनाओं से निजात होगी। इस अवसर पर विशेष रूप से गडकरी जी  का अभिनंदन है और जो भी प्रस्ताव प्रदेश सरकार के सामने प्रस्तुत किया है उसको अवश्य पूरा करने का प्रयास किया जाएगा। आज हम दावे के साथ कह सकते हैं कि हाईवे की संख्या और उसके किलोमीटर की संख्या मैं हम तेजी के साथ आगे बढ़े है और आपके द्वारा प्रस्तावित योजनाओं से उसे आगे और तेजी से बढ़ाने में मदद मिलेगी। सरकार गोमती नदी के दोनों तटों का उपयोग करते हुए एक नए ग्रीन कॉरिडोर का कार्य और माननीय रक्षा मंत्री जी द्वारा रिंग रोड   कार की स्वीकृति देते हुए इस कार्य को आगे बढ़ाने का कार्य किया है जो कि लखनऊ की लाइफलाइन बनेगी और लखनऊ के विकास को नई ऊंचाइयों तक ले जाएगा।  मुझे बताते हुए प्रसन्नता है कि प्रदेश सरकार ने गोमती नदी के दोनों तटों का उपयोग करते हुए एक नए ग्रीनफील्ड कॉरिडोर के निर्माण को अपने हाथों में लिया है। प्रदेश में रोड कनेक्टिविटी में बेहतर कार्य हुए हैं। इंटरस्टेट कनेक्टिविटी को फोर लेन से जोड़ने, हर जनपद मुख्यालय को फोर लेन और तहसील एवं ब्लॉक मुख्यालय को 02 लेन से जोड़ने की प्रक्रिया अंतिम चरण में चल रही है। उन्होंने कहा कि जिन परियोजनाओं की आज घोषणा की है, खासतौर पर लखनऊ-कानपुर के बीच ग्रीनफील्ड एक्सप्रेस-वे के बारे में, यह देश के उभरते दो बड़े महानगरों को गति देगा। टेढ़ीपुलिया फ्लाईओवर के लोकार्पण से लखनऊ में यातायात की समस्या का समाधान होगा। इसके बनने से आमजन को प्रतिदिन की समस्याओं से मुक्ति मिल जाएगी। लखनऊ के विकास को राजधानी के रूप में प्रस्तुत करते हुए आज बड़ी योजनाओं की घोषणा के साथ लोकार्पण हुआ है और मैं एक बार फिर से आभार प्रकट करता हूं कि आज लखनऊ के विकास के लिए जितने भी प्रस्ताव प्रस्तुत हुए हैं, प्रदेश सरकार उन्हें सहज स्वीकार करते हुए पूरी प्रतिबद्धता के साथ आगे बढ़ाएगी। एक बार फिर से मैं प्रदेशवासियों को हृदय से बधाई एवं शुभकामनाएं देता हूं। उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या ने कहा लखनऊ में सड़क व पुलों से यातायत सुगम होगा। इससे पूर्व सड़क परिवहन मंत्री, नितिन गडकरी, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह व मुख्यमंत्री योगी अदित्यनाथ ने बटन दबाकर टेढ़ी पुलिया फ्लाइओवर का उद्घाटन किया। 

विकास नगर स्टेडियम में कार्यक्रम के उपरांत सभी मंचासीन मंत्री गण नवनिर्मित फ्लाईओवर पर पहुंचे। जहां रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, नितिन  गडकरी व मुख्यमंत्री द्वारा रिबन काटकर नवनिर्मित फ्लाईओवर का शुभारंभ किया गया इस अवसर पर उपमुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा, केशव प्रसाद मौर्य, मंत्री आशुतोष टंडन, बृजेश पाठक, डॉ महेंद्र सिंह, सिद्धार्थ नाथ सिंह, मोहसिन  रजा,  प्रदेश महामंत्री/महानगर प्रभारी गोविंद नारायण शुक्ला सांसद अशोक बाजपाई, संजय सेठ, सांसद प्रतिनिधि दिवाकर त्रिपाठी, महानगर अध्यक्ष मुकेश शर्मा, महापौर संयुक्ता भाटिया, विधायक डॉक्टर नीरज बोरा, सुरेश श्रीवास्तव, सुरेश चंद्र तिवारी, उमेश द्विवेदी, राम नारायण साहू महानगर महामंत्री त्रिलोक सिंह अधिकारी, रामौतार कनौजिया आदि मुख्य रूप से
उपस्थित रहे।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment