Close X
Sunday, June 13th, 2021

देश की सबसे बेहतर खेल नीति राज्य में लागू होगी : अखिलेश यादव

akhilesh yadavआई एन वी सी, लखनऊ, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने कहा है कि देश की सबसे बेहतर खेल नीति राज्य में लागू की जाएगी। यह नीति खिलाड़यों को नौकरी व रोजगार के अवसर मुहैया कराने मेें भी मददगार साबित होगी। उन्होंने खेल विभाग में 100 नए तदर्थ खेल प्रशिक्षकों की भर्ती तथा तदर्थ प्रशिक्षकों के मानदेय में वृद्धि किए जाने की घोषणा की है। साथ ही, स्पोर्ट्स कॉलेज व स्पोर्ट्स हॉस्टल में रहने वाले खिलाड़ियों की डाइट मनी में बढ़ोत्तरी और डाइट में सुधार किया जाएगा। उन्हांेने कहा कि खिलाड़ियांे के सम्मान के साथ-साथ उनके कोच को भी सम्मानित किया जाएगा। मुख्यमंत्री आज यहां अपने सरकारी आवास 5, कालिदास मार्ग पर राष्ट्रमण्डल व एशियाई खेल-2014, सैफ गेम्स-2010, एशियाई खेल-2006 तथा राष्ट्रीय खेलों के पदक विजेताओं के सम्मान हेतु आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित कर रहे थे। इस अवसर पर उन्होंने राष्ट्रमण्डल व एशियाई खेल-2014 में हिस्सा लेने वाले उत्तर प्रदेश के खिलाड़ियों को भी सम्मानित किया। साथ ही, उन्होंने कौमी एकता व साम्प्रदायिक सौहार्द को बढ़ावा देने के लिए साहित्य जगत के जाने-माने नाम श्री वाहिद अली ‘वाहिद’ (वर्ष 2012-13) तथा मेरठ जनपद के  काजी ज़ैनुल राशिदीन (वर्ष 2013-14) को गुरू गोविन्द सिंह राष्ट्रीय एकता पुरस्कार के तहत 01-01 लाख रुपये के चेक तथा प्रशस्ति पत्र से सम्मानित किया। मुख्यमंत्री ने ग्लास्गो राष्ट्रमण्डल खेल में स्वर्ण तथा एशियाई खेलों में इंचियोन में निशानेबाजी में स्वर्ण पदक पाने वाले श्री जीतू राई को 50-50 लाख  (कुल 01 करोड़) रुपये की धनराशि का चेक प्रदान किया। इसी प्रकार उन्होंने एशियाई खेल-2014 में हॉकी टीम के स्वर्ण पदक तथा राष्ट्रमण्डल खेल में रजत पदक प्राप्त टीम के सदस्य श्री दानिश मुजतबा को क्रमशः 30 व 15 लाख रुपये का चेक प्रदान किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने सभी पदक विजेताओं व खिलाड़ियों को बधाई व शुभकामनाएं देते हुए कहा कि समाजवादी सरकार ने सदैव खेलों व खिलाड़ियों को प्रोत्साहित किया है। राज्य सरकार खेलों के लिए सुविधाओं में बढ़ोत्तरी करने के साथ-साथ खिलाड़ियों के सम्मान का भी ध्यान रखती है। राष्ट्रमण्डल व एशियाई खेलों तथा राष्ट्रीय खेलों में उत्तर प्रदेश के खिलाड़ियों ने पदक जीतकर देश व राज्य का नाम रौशन किया है। खिलाड़ियों की मेहनत, लगन व हिम्मत की प्रशंसा करते हुए श्री यादव ने कहा कि इन खिलाड़ियों ने संसाधनों की कमी के बावजूद उत्कृष्ट प्रदर्शन किया है। वर्तमान सरकार खेलों व खिलाड़ियों को विश्वस्तरीय प्रशिक्षण, उपकरण व सुविधाएं दिलाने के लिए प्रतिबद्ध है। इस दिशा में निरंतर प्रयास किए जा रहे हैं। मुख्यमंत्री ने इंचियोन में स्वर्ण पदक तथा राष्ट्रमण्डल खेलों में रजत प्राप्त सुश्री सीमा पुनिया (डिस्कस थ्रो), राष्ट्रमण्डल खेल-श्री राजीव कुमार (कुश्ती) रजत, सुश्री स्वाती सिंह व सुश्री पूनम यादव (भारोत्तोलन) कांस्य पदक, श्री मोहम्मद असब (निशानेबाजी) कांस्य पदक को चेक व प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। इसी प्रकार एशियाई खेलों में पदक विजेताओं-सुश्री प्रियंका पंवार (एथलेटिक्स) स्वर्ण पदक, श्री नरसिंह यादव (कुश्ती) कांस्य पदक, श्री सतीश कुमार यादव (मुक्केबाजी) कांस्य पदक, श्री रवि कुमार (निशानेबाजी) कांस्य पदक, सुश्री अनुरानी (जैवलिन थ्रो) कांस्य पदक, सुश्री श्वेता चौधरी (निशानेबाज) कांस्य पदक, श्री कपिल शर्मा व श्री मोहम्मद आजाद (रोइंग) कांस्य पदक टीम इवेन्ट, श्री कुश कुमार (स्क्वैश) स्वर्ण पदक टीम इवेन्ट, सुश्री वन्दना कटारिया (हॉकी) कांस्य पदक को चेक व प्रशस्ति पत्र प्रदान किए गए। श्री यादव ने एशियाई खेल-2006 के पदक विजेताओं श्री अनवर सुल्तान (निशानेबाजी) रजत पदक, श्री विश्वास (तीरंदाजी) कांस्य पदक तथा सैफ गेम्स ढाका-2010 के पदक विजेताओं श्री सौरभ सिंह (एथलेटिक्स) रजत पदक, सुश्री श्रद्धा दीक्षित व सुश्री सृष्टि सिंह (ताइक्वान्डो) कांस्य पदक को भी सम्मानित किया। मुख्यमंत्री ने व्यक्तिगत स्पर्धा के स्वर्ण पदक विजेताओं को 50 लाख रुपये रजत पदक विजेताओं को 30 लाख रुपये तथा कांस्य पदक विजेताओं को 15 लाख रुपये की धनराशि का चेक दिया। इसी प्रकार उन्होंने टीम स्पर्धाओं में स्वर्ण, रजत व कांस्य पदक विजेताओं को क्रमशः 30 लाख रुपए, 15 लाख रुपए तथा 10 लाख रुपए की धनराशि का चेक प्रदान किया। मुख्यमंत्री ने पहली बार कॉमनवेल्थ व एशियन गेम्स प्रतियोगिताओं में भाग लेने वाले राज्य के 32 खिलाड़ियों को 05-05 लाख रुपये की धनराशि का चेक देकर सम्मानित किया। मुख्य सचिव श्री आलोक रंजन ने समारोह को सम्बोधित करते हुए कहा कि आज सम्मानित किए जा रहे खिलाड़ियों ने उत्तर प्रदेश को गौरवान्वित किया है। उन्हांेने कहा कि खिलाड़ियों की पुरस्कार राशि में वृद्धि की गई है। राज्य सरकार खिलाड़ियों को आधुनिक एवं अन्तर्राष्ट्रीय स्तर के स्टेडियम तरणताल बहुउद्देशीय हॉल, प्ले ग्राउण्ड आदि उपलब्ध करा रही है। तीन स्पोर्ट्स कॉलेज प्रदेश में स्थापित किए जा चुके हैं। खेलों के लिए अवस्थापना सुविधाओं को बढ़ाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस आयोजन में 497 खिलाड़ियों को 7 करोड़ 55 लाख 80 हजार रुपए की कुल पुरस्कार राशि वितरित की जा रही है। इस अवसर पर राज्य सरकार के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री श्री अहमद हसन, कारागार मंत्री श्री बलराम यादव, राजनैतिक पेंशन मंत्री श्री राजेन्द्र चौधरी, खेल एवं युवा कल्याण राज्यमंत्री श्री फरीद महफूज किदवाई व श्री रामकरन आर्य,  खेल सलाहकार श्री रामवृक्ष यादव, ब्रिगेडियर अमोल अस्थाना, सचिव मुख्यमंत्री श्री पार्थ सारथी सेन शर्मा, खेल सचिव श्री भुवनेश कुमार सहित शासन व प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी, प्रदेश के विभिन्न मण्डलों से आए खिलाड़ी, खेल-प्रेमी व मीडियाकर्मी उपस्थित थे।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment