आईएनवीसी ब्यूरो
नई दिल्ली.
दिवाली के पटाखे अंधा कर सकते हैं पटाखे और फूल झड़ियाँ जो दिवाली पर जलाई जाती है उनकी केमीकल इन्जुरीज़ से आंखों को नुकसान पहुँच सकता है। इस नुकसान से आंखों की रौशनी भी जा सकती है। यह कहना है हार्ट केयर फाउंडेशन ऑफ इंडिया के अध्यक्ष डॉ. के के अग्रवाल का. उन्होंने दिवाली पर सावधानी बरतने की सलाह दे है.

1. पटाखों को देखने के लिए ऊपर आसमान की तरफ न देखें। पटाखों के बिना जले हुए हिस्से आपकी आंखों में गिर सकते है और उससे नुकसान पहुँच सकता है।
2. बिना जले पटाखों के नज़दीक न जाएँ, वह फट भी सकता है
3. हाथों में पटाखे चलाना खतरनाक हो सकता है उनसे दूर रहे।
4. सूती कपड़े ही पहने वरना दूसरे कपड़े आग पकड़ सकते है।
5. एक से ज्यादा पटाखे एक ही समय पर न चलाएँ।
6. छोटे बच्चों को पटाखों से दूर रहना चाहिए।
7. घर की खिड़कियाँ बंद रखें, क्योंकि कोई भी पटाखा घर में घुस सकता है और इससे आग लग सकती है।
8. यदि ऑंख में कुछ चला जाए तो उसको कभी भी मलना नहीं चाहिए। तुरंत आंखों को बहते पानी से धोना चाहिए और ऐसा लगातार करना चाहिए जब तक जलन खत्म नहीं हो जाती। यदि चोट खुली हो तो स्टेराईल पट्टी आखों पर लगानी चाहिए और तुरंत पास के मेडिकल सेन्टर में जाना चाहिए।
9. अपने पटाखों के पास मोमबत्ती न रखें।
10. सीटी बजाने वाला पटाखा न चलाएँ यह खतरनाक हो सकता है।

फाउंडेशन ने आम लोगों को चेतावनी दी है के वह रात को देर से घर न जाएँ, जुआ न खेले और ज्यादा शराब का सेवन न करें। यह सब चीज़े दुर्घटना का कारण बन सकती हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here