दिल्ली की रोहिणी क्षेत्र से ”आप” के उम्मीदवार राजेश गर्ग से INVC की ख़ास बातचीत

0
46

1268416_457420267709402_1023889425_oरोहिणी से “आप” उम्मीदवार राजेश गर्ग की छवि एक ऐसे आरटीआई कार्यकर्ता की है जो आम लोगों से जुड़े मुद्दों को जोर-शोर से उठाते हैं। आम जनता के अधिकारों की लड़ाई लड़ने के कारण उनके खिलाफ कई मुकदमे दायर कर दिए गए लेकिन राजेश गर्ग ने बिना विचलित हुए लड़ाई जारी रखी है। आम आदमी पार्टी से जुड़ने से पहले राजेश कांग्रेस के साथ थे। उनसे उनके कार्यालय में चुनावी मुद्दोँ पर आई एन वी सी की सब एडिटर सोनाली बोस से बातचीत हुई :

सोनाली बोस: राजेश जी सबसे पहले मैं आपसे ये जानना चाहुंगी कि आप कांग्रेस छोड़कर ”आप” के साथ क्यूँ जुड़े?इसका प्रमुख कारण?
राजेश गर्ग: इसका प्रमुख कारण है कि मैं अपने कुछ ईश्यूस को लेकर पिछले कई सालोँ से लड़ रहा हूँ। जिनमेँ बीजेपी के विधायक जय भगवान अग्रवाल और पंजाब केसरी जैसे मीडिया हाउस के खिलाफ सरकारी ज़मीन हड़पने का मामला है।कांग्रेस ने इन मुद्दोँ पर मेरा साथ नहीं दिया,और मुझे कहा कि आप इन ईशूज़ को मत उठाईये और इन्हेँ भूल जाइये।
सोनाली बोस: तो basically आपने इन issues में कांग्रेस का साथ ना मिल पाने की वजह से उन्हेँ छोड़ा?
राजेश गर्ग: जी जी..इन्ही बांतो की वजह से मैं उनसे दूर हुआ हूँ।
सोनाली बोस:आपको लगता है कि ”आप”, आपका साथ इन मुद्दोँ पर बेहतर देगा?
राजेश गर्ग: हाँ बिल्कुल, और दिया भी है,यही वजह है कि मैं आज ”आप” में शामिल हूँ और उनके उम्मीदवार के रूप में आपके सामने हूँ। चूंकि कांग्रेस पार्टी ने मेरा इन इशूज़ पर साथ नहीं दिया और जैसा समर्थन एक पार्टी को अपने activist का करना चाहिये जब वैसा सपोर्ट मुझे उनसे नहीं मिला तब मैने अरविंद केजरिवाल को मैसेज किया।पहले फेसबूक पे किया फिर ट्वीट किया और उन्हेँ सारा मामला बतलाया।मैने उन्हेँ कहा कि मैं कांग्रेस का एक एक्टिविस्ट हूँ और मैं चाहता हूँ कि आप मेरी मदद करेँ।आप पूरे देश में भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ रहे हैं और मैं एक छोटे क्षेत्र में अपनी लड़ाई लड़ रहा हूँ।तकरीबन छह महिने तक मुझे उनकी तरफ से कोई जवाब नहीं मिला।और मुझे ये भी नहीं पता था कि वो मेरे दिये हुए जानकारियोँ की डिटेल्स निकलवा रहे हैं, फिर एक दिन उनके पास से मुझे फोन आया।और मुझसे सभी मुद्दोँ की फाइलेँ मांगी गई।प्रशांत भूषण और विनय मित्तल जी से मेरी बातचीत हुई और इस तरह मैंने सारी बांते ”आप” को ई मेल के ज़रिये भेज दी।10 अगस्त 2013 को संजय सिन्ह जी से मुलाकात और उनसे आश्वासन पाने के बाद कि आम आदमी पार्टी मुझे मेरे संघर्ष में सहयोग देगी मैंने  अपने मित्रोँ और सहयोगियोँ से मशविरा करने के बाद ‘आप” को जॉईन कर लिया।
सोनाली बोस: आपने अपनी राजनैतिक महत्वाकांक्षाओँ को परे रख अपनी लड़ाई  को जारी रखा?
राजेश गर्ग: जी, मुझे मुख्यमंत्री जी ने कहा था कि आप हमारी पार्टी की ओर से विधानसभा के चुनाव में खड़े होईए लेकिन आपको इसके लिये अपने इन मुद्दोँ को छोड़ना होगा। लेकिन मैं इन बांतो को नहीं मान सकता था क्योंकि मेरे लिये मेरे मन की आवाज़ ज़्यादा ज़रूरी है और जिन भी लोगोँ से मेरी इन मुद्दोँ पर मेरा साथ देने की बात हुई उन सभी ने मुझसे किनारा कर लिया। इसमेँ बीजेपी के कुछ बड़े नेता भी हैं जिन्होने मुझे कहा कि तुममेँ मरने की ईच्छा होगी हम इन मीडिया वालोँ से पंगा नहीं लेना चाहते हैं इसलिये तुम चाहो तो अपना आंदोलन अपने बूते पर चलाओ, हमसे कोई आशा मत रखो। फिर तब मुझमेँ बड़ी हिम्मत आ गई क्योंकि जब इंसान अकेला होता है तब अचानक उसमे एक अलग ही शक्ति आ जाती है,और इसी अकेलेपन की मेरी शक्ति को आज ”आप” का मज़बूत साथ मिला है।
सोनाली बोस: क्या आपको लगता है कि आपको जनता का पूरा support मिलेगा?
राजेश गर्ग: मुझे लगता है कि ये समर्थन पूरा आम आदमी पार्टी को मिलेगा।
सोनाली बोस: लेकिन ”आप” से जुड़े राजेश गर्ग को कितना support मिलेगा?
राजेश गर्ग: मुझे लगता है कि मेरी वजह से भी वोटोँ में थोड़ा इज़ाफा होगा, क्योंकि अब जनता भी ये जान चुकि है कि ये जो उम्मीदवार केजरीवाल ने चुना है वो ग़लत नहीं है और जिसने भ्रष्टाचार जैसे मुद्दे के लिये लड़ाई जारी रखने के लिये कांग्रेस छोड़ कर आम आदमी पार्टी को चुना है वो सही आदमी होगा।
सोनाली बोस: मतलब ”आप” और आप मिलकर कुछ अच्छा करने की ठान चुके हैं?
राजेश गर्ग: जी बिल्कुल, हम इस बार सब कुछ बेहतर और साफ करके ही मानेंगे। जनता परिवर्तन चाहती है और आज सभी वर्गोँ के लोग हमारे साथ जुड़ कर दिल्ली की बेहतरी में सहयोगी होना चाह्ते हैं। मुझे भी मेरी पहले वाली पार्टी से जोड़कर नहीं देखा जा रहा है और मुझे यहाँ जनता को भरपूर समर्थन मिल रहा है।
सोनाली बोस:इसका मतलब है कि ”आप” की वजह से आपको भी फायदा मिल रहा है?
राजेश गर्ग: (हंसते हुए) हाँ हाँ बेशक। ”आप” की वजह से हम सबको फायदा ही फायदा होगा, हमेशा।
सोनाली बोस:रोहिणी विधानसभा क्षेत्र में किस तरह की समस्याओँ पर आप काम करेंगे?
राजेश गर्ग: हमारा ये विधानसभा क्षेत्र चार हिस्सोँ में बंटा हुआ है। ग्रुप हाउसिंग सोसायटी,unauthorized colony, झोपड़पट्टी और DDA flats भी हैं।हमने सोसायटी की समस्याओ से शुरुआत की है।यहाँ  पर internal maintenance और मैंनेजमेंट के issues को हमने सामने रखा है।हमारे चुनावी manifesto में हमने ये मांग रखी है कि ये internal maintenance सिविक बॉडिज़ के पास होना चाहिये।हमारी मांग है कि कानून में हाउसिंग सोसायटी की लीज़ डीड और DDA Act में amendment किया जाये। किसी भी सोसायटी के साथ किसी किस्म का भेदभाव ना किया जाये और हर वर्ग की सोसायटीज़ के साथ समान व्यवहार हो,ये हमारी मांग है।दूसरा मुद्दा हमारा है सिनियर सिटीज़ंज़ को लेकर,इनकी हमारे यहाँ काफी बड़ी मात्रा है। हम इनके लिये हर एरिया में एक रिक्रियेशनल  सेंटर बनवायेंगे। जिसमेँ हर तरह की सुविधा मुहय्या कराई जायेगी जैसे की लायब्रेरी, हॉल,बाथरूम, टी.वी आदी वहाँ हो ताकि किसी भी किस्म की तकलीफ उन्हे ना हो।और इन रीक्रियेशनल सेंटर का रखरखाव किसी सरकार के पास हो ना कि किसी एनजीओ के पास।एक और मुद्दा हमारा है और वो है CGHS dispensary की कमी का।लेकिन हमारे एमएलए साहब की बदौलत सभी ज़मीनेँ ना जाने किस काम में आ रही हैं।कहीँ पर ये दवाखाने फर्स्ट फ्लोर पर हैं और हर एक के लिये उपर चढ़ना पॉसिबल नहीं है।एक और समस्या पोस्ट ऑफिस की कमी का है। स्पीड पोस्ट करने के लिये तीन तीन घंटे इंतज़ार करना पड़ता है।लोगोँ को सामान नहीं मिल पाता है। सेक्टर 09,13,14 के लिये सिर्फ एक ही पोस्ट ऑफिस है।जबकि इस एरिया के लिये इयर मार्क्ड ज़मीन पड़ी हुई है। इस मुद्दे पर भी हम काम करेंगे।एक और अहम मुद्दा है सुलभ शौचालय की कमी का। विशेषकर महिलाओँ को इस कमी से काफी परेशानी हो रही है हम इस समस्या के निदान के लिये भी काम करेंगे।यहाँ भी हम मार्केट्स में एरिया वाइज़ इन शौचालयोँ का निर्माण करायेंगे।हम community halls की कमी को भी पूरा करेंगे।हम ये भी करेंगे कि हर वर्ग के लोगोँ के लिये इन community halls का किराया एक जैसा हो।
सोनाली बोस:आपका चुनावी खर्चा कैसे चल रहा है?
राजेश गर्ग: हम अपना खर्चा अपनी जेब से चला रहे हैं और हमारी पार्टी की ओर से हमेँ 14 लाख का फंड दिये जाने की बात हुई है।हमेँ आम लोग भी मदद कर रहे हैं और हम 10 रुपये से लेकर 10,000 रुपये तक की रसीद काट कर उन्हेँ  दे रहे हैं। हमारे यहाँ हर खर्चे और मदद का पूरा पूरा हिसाब रखा जा रहा है।
सोनाली बोस: अगर ”आप” को पूर्ण बहुमत नहीं मिलता है तो आप किसके साथ जुड़्ना चाहेंगे?
राजेश गर्ग: हमें पूरा विश्वास है कि हमें पूर्ण बहुमत मिलेगा,और अगर ऐसा नहीं होता है तो क्या करना है इसका निर्णय पार्टी की लीडरशीप करेगी। हमेँ या तो पूरा समर्थन मिलेगा या हमेँ कुछ भी नहीं मिलेगा इसका हमे यकीन है।आज पूरी दिल्ली में एक सी लहर है और वो लहर है आम आदमी पार्टी के समर्थन की लहर।
सोनाली बोस: सुप्रीम कोर्ट के ”राईट टू रिजेक्ट” के बारे में आपका क्या मानना है?
राजेश गर्ग: इससे हमेँ फायदा ही होगा क्योंकि यदी जनता हमेँ नहीं चुनेगी तो वो किसी और को भी नहीं चुनेगी और none o the above के इस्तेमाल से सभी को समान नुकसान ही होगा।लेकिन हमारी पार्टी ने बहुत छानबीन करके अपने उम्मीदवारोँ को चुना है। और सभी की पूरी पूरी कानूनी जांच हुई है। जब हमारे सारे उम्मीदवार हर लिहाज़ से साफ सुथरे हैं तो हमेँ किस बात का डर्। हम डंके की चोट पर चुनावी समर में कूदे हैं।
सोनाली बोस: अन्ना हज़ारे जी के आशीर्वाद के बिना सब कुछ ठीक लग रहा है?
राजेश गर्ग: हम सब तो अन्ना जी के ‘एकलव्य’ हैं, उन्हेँ दिल से अपना गुरू मानते हैं,और अगर उनका साथ और आशीर्वाद मिला तो सिर माथे पर और नहीं  तो भी हम तो उनके एकलव्य हैं ही। बिना उनके साथ के भी उनकी पूजा करेंगे और आगे बढ़ते ही जायेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here