Close X
Sunday, January 24th, 2021

दलित, महादलित, अल्पसख्यंक के नाम पर लोगों को अलग तो कर दिया

बिहार चुनाव प्रचार के दौरान बसपा सुप्रिमो मायवती ने यह घोषणा कर दी कि ये अलग गठबंधन है। बिहार में 15 साल लालू ने राज किया तो 15 साल नीतीश कुमार ने। अब समय आ गया है कि तीसरे गठबंधन की सरकार बनानी होगी। तब ही बिहार का विकास हो पाएगा। चुनावी सभा खत्म होने के बाद पुरुष और महिलाओं ने मायावती के गीतों पर जमकर ठुमके लगाए।
मायावती का भाषण सुनने जिले भर के दलित वर्ग के लोग पहुंचे थे।बिहार विधानसभा चुनाव के लिए आयोजित एक जनसभा के बाद बसपा के गीत पर जब ठुमके लगाने लगी जनता जनार्दन, तो नेता हुए खुश। कैमुर में रालोसपा प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा ने भभुआ के हवाई अड्डा के मैदान में अपने गठबंधन प्रत्याशियों के पक्ष में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा कि आज भी विकास के मामले में बिहार पूरी तरह पीछे है। यहां कोई कल कारखाने नीतीश सरकार नहीं खोल पाई है। जो मजदूर लॉकडाउन में अपने प्रदेश आए थे वे रोजगार के अभाव में फिर अन्य प्रदेशों में रोजी रोटी के लिए पलायन कर रहे हैं। यहां दलित, महादलित, अल्पसख्यंक के नाम पर लोगों को अलग तो कर दिया गया है, लेकिन उनकी दुर्दशा आज भी जस की तस है।  भभुआ की सीट को जीतने के लिए सभी दल एड़ी चोटी का जोर लगाए हुए हैं।
आज मायावती और उपेन्द्र कुशवहा की सभा में जितनी भीड़ जुटी थी, उसे देख कई प्रत्याशियों को होश उड़ गए। अब तो मतगणना के दिन ही पता चल पाएगा कि सभा में जुटने वाली भीड़ नेताओं को कितना अपना वोट देती है या भूल जाती है। खैर सभी दल अपनी चुनावी सभा में भीड़ जुटाने में लगे हुए हैं।  PLC.
 

Comments

CAPTCHA code

Users Comment