Sunday, March 29th, 2020

दलितों पर अत्याचार और अन्याय बढ़ रहा है : अशोक तंवर

Ashok Tanwar,Ashok Tanwarinvcnewsआई एन वी सी न्यूज़ भिवानी(चांग), हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष एवं पूर्व सांसद डॉ. अशोक तंवर गांव चांग स्थित श्री श्री 1008 स्वामी रामानंद जी महाराज की तीसरी पुण्यतिथि के मौके पर संत आश्रम में पहुंचे और श्रद्धांजलि अर्पित की। डॉ. अशोक तंवर के साथ राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के सदस्य ईश्वर सिंह, डॉ. तंवर के पिता दिलबाग राय, पूर्व मुख्य संसदीय सचिव रामकिशन फौजी, पूर्व विधायक नरेश सेलवाल, पूर्व स्पीकर वासुदेव शर्मा, पूर्व विधायक लहरी सिंह, देवेंदर बबली, चौ.संजय सिंह, चौ.जगन्नाथ, राजरानी पूनम, राजवीर संधू, आदमपुर हलका के कांग्रेस प्रभारी सतेंद्र सिंह, स. करनैल सिंह ओढां सहित हरियाणा,पंजाब आदि राज्यों से आए संत महात्माओं ने भी स्वामी रामानंद को अपने श्रद्धासुमन अर्पित किए। राज्यसभा सांसद कुमारी शैलजा ने संत आश्रम को अपनी तरफ से 11 लाख की राशि देने की घोषणा की। उपस्थित श्रद्धालुओं को सम्बोधित करते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि इस आश्रम से उनका बहुत पुराना नाता है और जबसे उन्होंने होश संभाला है, वे इस संत आश्रम में आते रहते हैं। उन्होंने कहा कि आश्रम में संत रामानंद जी से बहुत कुछ सीखने को मिला। उनका आध्यात्मिक ज्ञान काफी गूढ़ था और वे आत्मा और परमात्मा के रहस्य को नजदीक से जानते थे। इस आश्रम में आकर काफी शांति और सुकून मिलता है। स्वामी जी की पुण्यतिथि पर भारी संख्या में और श्रद्धालु भी पहुंचे हुए थे। बाद में यहां पहुंचे पत्रकारों से बातचीत के दौरान डॉ. तंवर ने कहा कि इनेलो और भाजपा ने सदैव स्वार्थ और धोखे की राजनीति की है। जिन मुद्दों को लेकर भाजपा सत्ता में आई थी, उनसे पीछे हट रही है। सरकार से जनता का हर वर्ग दुखी है और लोग सड़कों पर उतर रहे हैं। बुजुर्गों, निशक्तजनों और विधवाओं को पेंशन के लिए चक्कर कटवाए जा रहे हैं। सरकार के मंत्रियों की हर रोज जुबान फिसल जाती है और वे उलटबयानी करके जनता को गुमराह कर रहे हैं। विधानसभा में भी मंत्री विपक्ष के विधायकों को गुमराह करने की कोशिश करते हैं जोकि लोकतंत्र का मजाक है। उन्होंने कहा कि 15 दिनों में सरकार ने चिकित्सकों की भर्ती का आश्वासन दिया था लेकिन आज तक अस्पतालों में चिकित्सकों का घोर अभाव है। डॉ. तंवर ने कहा कि देश के लिए अपनी जान न्यौछावर करने वाले सैनिकों को वृद्धावस्था में वन रैंक वन पेंशन के लिए संघर्ष करना पड़ रहा है जो सरकार की नाकामी का उदाहरण है। उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेश में सफेद मक्खी ने किसानों की फसल तबाह कर दी है। किसान अपने ही खेतों पर ट्रैक्टर चलाकर फसल नष्ट करने को मजबूर हैं। उन्हें गन्ने का भी पर्याप्त भाव नहीं दिया गया। इससे पहले यूरिया के लिए पुलिस की बर्बरता सहन करनी पड़ी। किसानों को उचित मुआवजे की मांग करते हुए डॉ. तंवर ने कहा कि किसानों को उनकी फसल का जायज भाव दिया जाए। साथ ही उन्होंने दलित उत्पीडऩ की घटनाओं पर भी सरकार को घेरा। उन्होंने कहा कि प्रदेश में दलितों पर अत्याचार और अन्याय बढ़ रहा है। उन्हें प्रताड़ित और तिरस्कृत किया जा रहा है। गांव खांडाखेड़ी में दलितों के साथ मारपीट हुई लेकिन पुलिस ने केस दर्ज नहीं किया। इस गांव के लोग उनसे मिलने के लिए आए थे। उन्होंने कहा कि केवल खांडाखेड़ी ही नहीं बल्कि पूरे प्रदेश में दलितों की स्थिति इस सरकार ने दयनीय बनाकर रख दी है।

डॉ. तंवर ने कहा कि प्रदेश की स्थिति को समझने के लिए 6 महीने का समय बहुत होता है लेकिन इस सरकार के नेतृत्व को 10 महीने में भी सत्ता चलाने की समझ परिपक्व नहीं हुई है जिसका खामियाजा जनता को भुगतना पड़ रहा है।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment