Saturday, February 29th, 2020

तो नाराज होगा हिंदू समाज

अयोध्या । अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद (विहिप) के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया ने कहा अगर अयोध्या में मस्जिद बनानी है तो इसे शास्त्रीय सीमा के बाहर बनाया बनाया जाना चाहिए, क्योंकि अयोध्या आध्यात्मिक नगरी है। प्रवीण तोगड़िया ने कहा कि अयोध्या की शास्त्रीय सीमा में मस्जिद का निर्माण नहीं कराना चाहिए और यह सही भी नहीं होगा। पूरे देश मे भी अगर बाबर के नाम से कहीं भी मस्जिद बनी तो हिंदू समाज नाराज हो जाएगा। तोगड़िया ने कहा कि यह उसी तरह सही है, जैसे कि मक्का में मंदिर का निर्माण नहीं हो सकता। तोगड़िया ने कहा अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण होना चाहिए, हालांकि वह इसके ट्रस्ट में शामिल होने के इच्छुक नहीं हैं। उन्होंने कहा मंदिर निर्माण एक धार्मिक कार्य है, इसलिए ट्रस्ट में हमारे पूज्य संत, अखाड़े, वैष्णव संत और धार्मिक प्रवृत्तियों के लोगों को शामिल किया जाना चाहिए। मंदिर के ट्रस्ट में राजनीतिक व्यक्तियों को शामिल करने से बचना चाहिए, जिससे कि यह राजनैतिक अखाड़ा नहीं बने। तोगड़िया ने केंद्र सरकार से मांग की है कि जिस तरह सोमनाथ मंदिर के सामने हमीर सिंह गोहिल की समाधि और सरदार बल्लभ भाई पटेल की प्रतिमा लगी है, उसी तरह राम मंदिर के सामने भी आंदोलन के योद्धा महंत रामचंद्र दास, महंत अवैद्यनाथ और अशोक सिंघल की मूर्ति लगनी चाहिए। इससे लोग इन सभी के जीवन और मंदिर निर्माण आंदोलन की बातों को जान सकेंगे। PLC.

Comments

CAPTCHA code

Users Comment