Tuesday, March 31st, 2020

डोनाल्ड ट्रंप की भारत यात्रा - दो दोस्त लिखेंगे रिश्तों की नई इबारत

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भारत की दो दिवसीय यात्रा के लिए सोमवार को अहमदाबाद पहुंचेंगे। वह भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ हवाई अड्डे से मोटेरा क्रिकेट स्टेडियम तक 22 किमी रोड शो करेंगे और साबरमती आश्रम जाएंगे। स्टेडियम में ‘नमस्ते ट्रंप’ का आयोजन होगा, जिसमें दोनों नेता एक लाख लोगों को संबोधित करेंगे। शाम को ट्रंप आगरा पहुंचेंगे, जहां वह ताजमहल को निहारने के लिए परिवार के साथ करीब 45 मिनट मौजूद रहेंगे। रात को ही वह दिल्ली लौट आएंगे। देश और दुनिया की निगाहें ट्रंप और मोदी के बीच मंगलवार को होने वाली द्विपक्षीय वार्ता पर टिकी है। ट्रंप पहले ही भारत के साथ कोई व्यापार समझौता नहीं करने की घोषणा कर चुके हैं। हालांकि ट्रंप ने यह भी संकेत दिया है कि द्विपक्षीय वार्ता में कुछ बड़ा होगा। दूसरी ओर सरकारी सूत्रों का भी कहना है कि द्विपक्षीय वार्ता दुनिया को बड़ा संदेश देगी। वैसे भी बीते वित्त वर्ष 2018-2019 में भारत-अमेरिका का कारोबार चीन-अमेरिका व्यापार की तुलना में करीब एक अरब ज्यादा रहा है।

आतंकवाद, कश्मीर और धार्मिक स्वतंत्रता

द्विपक्षीय वार्ता के दौरान आतंकवाद, कश्मीर और भारत में धार्मिक स्वतंत्रता के मुद्दे पर राष्ट्रपति ट्रंप के रुख पर दुनिया की निगाहें हैं। दौरे से पूर्व व्हाइट हाउस ने कहा था कि ट्रंप भारत में धार्मिक स्वतंत्रता पर बात कर सकते हैं। आतंकवाद पर पाकिस्तान को कई बार खरी खरी सुनाने के बावजूद ट्रंप कश्मीर के मुद्दे पर भारत पाकिस्तान के बीच कई बार मध्यस्थता की पेशकश भी कर चुके हैं। हालांकि भारतीय पक्ष सीमा पार आतंकवाद पर पाकिस्तान को ट्रंप की ओर से नसीहत दिए जाने के लेकर आश्वस्त है।

भारत में दोस्तों से मिलने को बेताब हूं : ट्रंप

भारत यात्रा से एक दिन पूर्व ट्रंप ने ट्वीट में कहा, ‘भारत में अपने बहुत सारे दोस्तों से मिलने के लिए बेताब हूं।’ इसके साथ उन्होंने एक फैन द्वारा हिंदी फिल्म बाहुबली पर बनाया वीडियो रीट्वीट किया। इसमें ट्रंप के चेहरे को बाहुबली के चेहरे पर सुपरइंपोज तकनीक से लगाया गया जिससे वह बाहुबली की तरह घुड़सवारी करते, युद्ध लड़ते और लोगों की मदद करते नजर आ रहे हैं।

भारत पोटस का स्वागत करने के इंतजार में : मोदी

पीएम मोदी ने रविवार को ट्वीट में लिखा ‘भारत पोटस (प्रेजीडेंट ऑफ द यूनाटेड स्टेट्स) डोनाल्ड ट्रंप के स्वागत का इंतजार कर रहा है। यह सम्मान की बात है कि सोमवार को वह हमारे साथ होंगे, इसकी शुरुआत अहमदाबाद में ऐतिहासिक कार्यक्रम से होगी।’ उन्होंने गुजरात सीएम विजय रूपाणी के ट्वीट पर यह लिखा, जिसमें कहा गया था ‘पूरा गुजरात एक आवाज में बोल रहा है - नमस्ते ट्रंप।’

'हाउडी मोदी' से ज्यादा उत्साह

ट्रंप की यात्रा से भारतीय-अमेरिकियों ने भी कई अपेक्षाएं जताई हैं। कई इस आयोजन के गवाह बनने भारत पहुंच रहे हैं। 22 सितंबर के बाद केवल पांच महीने में विश्व के दो प्रमुख नेताओं द्वारा दूसरी बार एक मंच साझा करने को महत्वपूर्ण माना जा रहा है। न्यूजर्सी से अहमदाबाद पहुंचे राहुल वालिया ने बताया कि वे नमस्ते ट्रंप को अनुभव करने आए हैं।

1997 से अमेरिका में रह रहे वालिया ने बताया कि पीएम मोदी की सत्ता में आने से भारतीय-अमेरिकी अमेरिका के निर्माण में ज्यादा योगदान देने लगे हैं, इस वजह से उनकी प्रतिष्ठा बढ़ी है। वाशिंगटन से आए जय कंसेरा ने कहा कि नमस्ते ट्रंप दो लोकतांत्रिक व्यवस्थाओं में रह रहे लोगों से जोड़ने वाला आयोजन है। जय हाउडी मोदी आयोजन में भी मौजूद थे, उन्होंने कहा कि भारत में नमस्ते ट्रंप को लेकर ज्यादा उत्साह  है।

भारत दौरे पर ऐसा है अमेरिकी राष्ट्रपति का सुरक्षा चक्र

सीक्रेट सर्विस प्रोटोकॉल के अनुसार विदेशी यात्रा का बिंदुवार कार्यक्रम 30 दिन पहले तय कर दिया गया था।
10-12 एजेंट्स की एक टीम महीनेभर पहले भारत पहुंच गई थीं। नई दिल्ली स्थित अमेरिकी दूतावास में सीक्रेट सर्विस के मार्गदर्शन में बेस कैंप बना।
कार्यक्रम स्थलों का ब्योरा सीक्रेट सर्विस एजेंटों ने लिया। इनपुट अमेरिकी कंट्रोल रूम को भेजा। हर जगह का डाटा विश्लेषण किया।
स्थानीय पुलिस के साथ अमेरिकी टीम ने स्थल का डाटा जुटाया। सैटेलाइट इंटैलिजेंस से मिलान।
50 सीक्रेट एजेंट की दूसरी टीम ने उपकरणों से तकनीकी सर्वे किया।
एकत्र जानकारी सीआईए और अन्य अमेरिकी एजेंसियों से साझा की गई।
दौरे से 10 दिन पहले तीसरी टीम पहुंची। इसमें सीक्रेट सर्विस के आंतरिक शाखा कर्मी, विस्फोटक विशेषज्ञ व डॉग स्क्वॉड थे।
हर रूट का नक्शा बनाया। हर मार्ग के तीन विकल्प रखे गए। सीक्रेट सर्विस की जमीनी टीम को भी रूट का आखिर तक पता नहीं चला।
रास्ते में कम से कम हर 10 मिनट में एक अस्पताल है। ड्रोन से हर चहलकदमी की निगरानी होगी।

सफर की शुरुआत से लैंडिंग तक

व्हाउट हाउस से ‘मरीन वन हेलीकॉप्टर’ से उड़ान भरकर मैरीलैंड स्थित एंड्रयूज एयरफोर्स वन बेस पहुंचेंगे।
बेस से एयरफोर्स वन में निकलेंगे। एयरफोर्स वन 13,750 मी. की ऊंचाई तक उड़ने में सक्षम।
बीस्ट लिमोजिन राष्ट्रपति को लैंडिंग करते ही ले जाने को तैयार मिलती है।

यह है पूरा कार्यक्रम

सोमवार 24 फरवरी

11.55 बजे अहमदाबाद हवाईअड्डे पर आगमन
12.05 बजे साबरमती आश्रम
12.05 से 12.30 बजे तक साबरमती आश्रम से मोटेरा स्टेडियम तक रोड शो
12.30 बजे मोटेरा में ‘नमस्ते ट्रंप’ कार्यक्रम में संबोधन
3.30 बजे आगरा के लिए प्रस्थान
4.45 बजे आगरा आगमन
5.10 बजे पूरे परिवार के साथ ताजमहल का दीदार
6.45 बजे आगरा से दिल्ली रवाना
7.30 बजे दिल्ली पालम हवाईअड्डे पर आगमन
8.00 बजे होटल मौर्या आगमन


मंगलवार 25 फरवरी

सुबह 9.55 बजे राष्ट्रपति भवन में स्वागत
सुबह 10.45 बजे राजघाट पर महात्मा गांधी को शृद्धांजलि
सुबह 11.25 बजे ट्रंप-मोदी द्विपक्षीय वार्ता, संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस, पीएम के साथ लंच
दोपहर 2.55 बजे अमेरिकी दूतावास में सीईओ राउंड टेबल मीटिंग
दोपहर 4.00 बजे दूतावास के अधिकारियों कर्मचारियों से मुलाकात
शाम 4.45 बजे होटल मौर्या शैरेटन आगमन
रात 7.25 बजे राष्ट्रपति भवन में भोज, राष्ट्रपति कोविंद से मुलाकात
रात 10.00 बजे जर्मनी रवाना पीएलसी। PLC.

Comments

CAPTCHA code

Users Comment