Sunday, January 19th, 2020

डॉनल्ड ट्रंप को करना होगा महाभियोग का सामना

वॉशिंगटन,अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप के खिलाफ अब महाभियोग चलना तय हो गया है। यूएस की प्रतिनिधि सभा की स्पीकर नैंसी पेलोसी ने कहा कि डॉनल्ड ट्रंप को महाभियोग का सामना करना होगा। बुधवार को ही डेमोक्रेटिक पार्टी की बहुमत वाली प्रतिनिधि सभा ने महाभियोग जांच की प्राथमिक रिपोर्ट जारी करते हुए उन्हें दोषी करार दिया था। इस रिपोर्ट में कहा गया कि निजी और राजनीतिक लाभ के लिए ट्रंप ने राष्ट्रहित से समझौता किया है।
इस जांच रिपोर्ट में कहा गया है कि ट्रंप ने दोबार निर्वाचित होने के लिए यूक्रेन से भी मदद मांगी थी। इसमें यूक्रेन के राष्ट्रपित और ट्रंप के बीच टेलीफोनिक वार्ता की भी बात कही गई है। ट्रंप पर आरोप है कि उन्होंने अपने प्रतिद्वंद्वियो की छवि धूमिल करने के लिए यूक्रेन से अवैध रूप से मदद मांगी। आरोप है कि उन्होंने अपने विरोधी और उनके बेटे के खिलाफ जांच शुरू करने की मांग की थी। हालांकि ट्रंप ने इन आरोपों से इनकार किया है।
पेलोसी ने ऐतिहासिक घोषणा करते हुए कहा, ‘हमारा लोकतंत्र दांव पर है, राष्ट्रपति ने हमारे समक्ष कोई विकल्प नहीं छोड़ा सिवाय इसके कि कार्रवाई की जाए।’ इस घोषणा के साथ डेमोक्रेटिक पार्टी ने महाभियोग प्रस्ताव पर मतदान की प्रक्रिया को आगे बढ़ा दिया है और माना जा रहा है कि क्रिसमस के दौरान यह होगा। उन्होंने कहा कि वह ‘दुखी होकर लेकिन भरोसे और विनम्रता’ से महाभियोग की धाराओं का मसौदा तैयार करने की मंजूरी दे रही हैं।
पेलोसी ने कहा, ‘राष्ट्रपति के कार्यो से संविधान का घोर उल्लंघन हुआ है।’ महाभियोग के केंद्र में जुलाई में राष्ट्रपति ट्रंप की यूक्रेन के राष्ट्रपति से फोन पर की गई बातचीत है। आरोप है कि ट्रंप ने डेमोक्रेटिक पार्टी के नेता और राजनीतिक प्रतिद्वंद्वी जो बाइडेन के खिलाफ जांच के लिए यूक्रेन पर दबाव बनाया। पेलोसी ने कहा, ‘राष्ट्रपति ने कोई विकल्प नहीं छोड़ा सिवाय कार्रवाई करने के क्योंकि वह एक बार फिर अपने फायदे के लिए चुनाव को भ्रष्ट करने की कोशिश कर रहे हैं। राष्ट्रपति सत्ता के दुरुपयोग, राष्ट्रीय सुरक्षा को कमतर करने और हमारे चुनाव की शुचिता को खतरे में डालने के कृत्य में शामिल हैं।’
ट्रंप ने भी ट्वीट करके अपने प्रतिद्वंद्री समेत डेमोक्रेट्स पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि मतदान में वह ही विजयी होंगे और पेलोसी की असलियत सामने आ जाएगी। ट्रंप ने भरोसा जताया है कि महाभियोग में भी उनकी जीत होगी।
इन दिनों ट्रंप पर महाभियोग चलाने या न चलाने पर फैसला करने के लिए सुनवाई चल रही थी। महाभियोग मामले पर सुनवाई प्रतिनिधि सभा की जूडिशल कमिटी कर रही है। समिति के सामने कानूनी मामलों के जानकारों ने अपनी बात रखी और अब तय हो गया है कि मतदान कराया जाएगा। बता दें कि साल 2020 के आखिरी में अमेरिका में राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव होने हैं। PLC.

Comments

CAPTCHA code

Users Comment