Friday, November 15th, 2019
Close X

डेंगू, स्वाइन फ्लू रोग की जांच की सुविधा प्रदेश के समस्त मेडिकल कालेजों में कराने हेतु आवश्यक उपकरण एवं स्टाफ की व्यवस्था: आलोक रंजन

Alok Ranjan INVCNEWSआई एन वी सी न्यूज़ लखनऊ, उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव श्री आलोक रंजन ने प्रदेश में चिकित्सकों की कमी को दृष्टिगत रखते हुए प्रदेश में संचालित 13 मेडिकल कालेजों के अतिरिक्त जौनपुर, चन्दौली, नजीबाबाद (बिजनौर) में नये मेडिकल कालेज खोलने के अतिरिक्त जिला अस्पताल फैजाबाद, बस्ती, बहराइच, शाहजहांपुर, फिरोजाबाद को अपग्रेड कर मेडिकल कालेज खोले जाने के प्रस्ताव पर यथाशीघ्र आवश्यक कार्यवाही प्राथमिकता से सुनिश्चित कराने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि प्रदेश में संचालित मेडिकल कालेजों में 1740 एमबीबीएस सीटें, 751 पी0जी0 एवं 112 सुपर स्पेशियालिटी (डी0एम0/एम0सी0एस0) सीटों को बढ़ाने तथा खोले जाने वाले नये प्रत्येक मेडिकल कालेज में 100-100 सीटों की व्यवस्था कराने के भी निर्देश दिये। उन्होंने चिकित्सा विश्वविद्यालय गे्रटर नोएडा में 150 सीटें व लोहिया मेडिकल संस्थान लखनऊ  में 150 सीटों में आगामी सत्र 2017 से ही पढ़ाई शुरू कराने हेतु आवश्यक कार्यवाही प्राथमिकता से सुनिश्चित कराई जाये। उन्होंने गरीब लोगों के असाध्य रोग के इलाज हेतु प्रदेश सरकार द्वारा मेडिकल कालेजों में उपलब्ध कराई गई धनराशि 05 लाख रूपये का उपयोग पारदर्शिता के साथ कर पात्र लोगों को लाभान्वित कराने हेतु वरिष्ठ चिकित्सकों को सख्त निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि प्रदेश में आयुष मिशन संचालित कराने हेतु लगभग 60 करोड़ रूपये की धनराशि का उपयोग पारदर्शिता से कराने हेतु कार्य योजना यथाशीघ्र बनाकर प्रस्तुत की जाये। मुख्य सचिव आज शास्त्री भवन स्थित अपने कार्यालय कक्ष के सभागार में चिकित्सा विभाग की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि डेंगू, स्वाइन फ्लू रोग की जांच की सुविधा प्रदेश के समस्त मेडिकल कालेजों में कराने हेतु आवश्यक उपकरण एवं स्टाफ की व्यवस्था सुनिश्चित करा दी गई है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में पैरामेडिकल शिक्षा व्यवस्था के नियामक व्यवस्था को सरल एवं सुदृढ़ कराये जाने हेतु यथाशीघ्र पैरामेडिकल एजुकेशन पालिसी का भी प्रस्ताव बनाकर सक्षम स्तर से अनुमोदन प्राप्त किया जाये। श्री रंजन ने निर्देश दिये हैं कि लखनऊ में नवनिर्मित संचालित ट्रामा सेन्टर की 30 बेड की क्षमता को 180 बेड करने हेतु आवश्यक कार्यवाही प्राथमिकता से सुनिश्चित की जाये। उन्होंने कहा कि सुपर स्पेशियालिटी बाल्य चिकित्सालय एवं शैक्षणिक संस्थान नोएडा को माह आगामी मार्च तक पूर्ण रूप से क्रियाशील कराने हेतु आवश्यक व्यवस्थाएं समय से सुनिश्चित करा ली जायें। उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि प्रदेश के गोरखपुर, मेरठ, झांसी तथा इलाहाबाद मेडिकल कालेजों का उच्चीकरण करने हेतु प्रत्येक मेडिकल कालेज के लिए भारत सरकार के सहयोग से 150 करोड़ रूपये की योजना से सुपर स्पेशियालिटी विभाग स्थापित कराये जाने हेतु प्रदेश सरकार द्वारा भारत सरकार को भेजे गये प्रस्ताव का अनुस्मारक पुनः भेजकर स्वीकृत कराये जाने का अनुरोध करते हुए धनराशि प्राप्त करने के प्रयास किये जायें। मुख्य सचिव ने कहा कि लखनऊ में निर्माणाधीन कैंसर अस्पताल का ओ0पी0डी0 एवं रेडियोलाॅजी विभाग को आगामी दिसम्बर माह से प्रारम्भ कराने हेतु आवश्यक उपकरणों एवं स्टाफ की व्यवस्था समय से सुनिश्चित करा ली जाये। उन्होंने पी0जी0आई0 लखनऊ व मेडिकल कालेज झांसी में टर्शरी केयर कैंसर केन्द्र एवं बोनमैरोट्रान्स प्लान्ट यूनिट क्रियाशील कराने हेतु आगामी 31 मार्च तक वित्तीय स्वीकृति अवश्य निर्गत करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि प्रदेश के उच्च शिक्षण संस्थानो में शोध कार्यों को प्रोत्साहित करने हेतु लैबोरेटरी एवं आनलाइन जनरल की व्यवस्था सुनिश्चित की जाये ताकि रिसर्च करने हेतु छात्रों एवं अध्यापकों को बेहतर सुविधा उपलब्ध हो सके। बैठक में प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा डाॅ0 अनूप चन्द्र पाण्डेय सहित स्वास्थ्य विभाग केे वरिष्ठ अधिकारीगण तथा पी0जी0आई0 एवं राम मनोहर लोहिया संस्थान सहित अन्य संस्थानों के वरिष्ठ चिकित्सकगण उपस्थित थे।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment