आई.एन.वी.सी,,
लखनऊ,,
बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष तथा उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री माननीया सुश्री मायावती जी के आदेशानुसार, बहुजन समाज पार्टी ने मेरठ जनपद के हस्तिनापुर विधानसभा क्षेत्र के वर्तमान बी० एस० पी० विधायक श्री योगेश वर्मा को बी0एस0पी0 से निलम्बित कर दिया है। श्री मौर्य ने कहा कि भविष्य में श्री वर्मा को पार्टी व संगठन के किसी भी कार्यक्रम में न तो बुलाया जाएगा और न ही शामिल किया जाएगा। बी0एस0पी0 की उत्तर प्रदेश यूनिट के अध्यक्ष श्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने आज यहां इस फैसले की जानकारी देते हुए कहा कि श्री वर्मा ने जब बी० एस० पी०  की सदस्यता ग्रहण की थी, तो उन्होंने अवगत कराया था कि निजी रंजिशवश उनके विरूद्ध आपराधिक मुकदमे दर्ज कर गलत कारणों से फंसाया गया है। श्री वर्मा द्वारा उस समय यह भी स्पष्ट किया गया था कि उनका आचरण कभी भी समाज विरोधी नहीं रहा और भविष्य में भी उनका आचरण समाज विरोधी नहीं रहेगा। श्री वर्मा के इस आश्वासन के मद्दे नजर उन्हें पार्टी में शामिल किया गया था।  श्री मौर्य ने कहा कि इसके अलावा बी0एस0पी0 के कार्यकर्ताओं द्वारा भी लगातार यह शिकायत की जा रही थी कि श्री योगेश वर्मा की गतिविधियां अभी भी समाज-विरोधी बनी हुईं हैं और इनके आचरण में कोई सुधार नहीं आया है। इसके अतिरिक्त यह भी जानकारी प्राप्त हुई कि श्री वर्मा अपने विधानसभा क्षेत्र की जनता की उपेक्षा भी कर रहे थे और लोगों के उत्पीड़न तथा शोषण में लगे हुए थे। प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि श्री वर्मा का आपराधिक इतिहास रहा है और अब भी आपराधिक गतिविधियों में लिप्त थे। उन्होंने कहा कि 02 नवम्बर, 2009 को श्रीमती  लक्ष्मी बंसल पत्नी श्री ज्ञानेन्द्र बंसल की हत्या हुई थी और इनकी सम्पत्ति को कब्जा करने का प्रयास किया गया था। इस डकैती एवं हत्या जैसे गम्भीर प्रकरण की विवेचना के दौरान श्री वर्मा के सहयोगियों तथा इनकी भी संलिप्तता प्रकाश में आयी। श्री मौर्य ने कहा कि कल 7 अक्टूबर को मृतका श्रीमती लक्ष्मी बंसल के पुत्र श्री निकुंज बन्सल ने पुलिस को एक तहरीर दी थी, जिसमें उन्होंने बी० एस० पी० विधायक के भाई श्री राजन वर्मा एवं उनके अन्य सहयोगियों द्वारा उन्हें बन्दूक एवं रिवाल्वर से फायर करके जान से मारने का आरोप लगाया था, इस मामले में पुलिस मुकदमा दर्ज करके जांच कर रही है। श्री निकुंज बन्सल ने यह भी आरोप लगाया था कि इसके पीछे विधायक श्री योगेश वर्मा का हाथ है। श्री वर्मा को डर है कि इस मामले में उनका नाम आने से उनके खिलाफ कार्यवाही भी हो सकती है। श्री मौर्य ने कहा कि इसलिए वह पार्टी के खिलाफ अनाप-शनाप बयानबाजी कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि पार्टी द्वारा बार-बार आगाह करने के बाद भी श्री योगेश वर्मा के आचरण में कोई सुधार नहीं आ रहा था। प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि उपरोक्त तथ्यों को गम्भीरता से लेते हुए पार्टी हाईकमान ने उनका टिकट काटने का फैसला पहले ही ले लिया था और पार्टी के इस इस निर्णय से उन्हें अवगत भी करा दिया गया था। श्री वर्मा का यह कहना कि पश्चिमी
उत्तर प्रदेश के बी0एस0पी0 प्रभारी एवं सांसद श्री मुनकाद अली पर उनका टिकट कटवाया है तथा उनकी हत्या कराना चाहते हैं, इस तरह का आरोप पूरी तरह असत्य और आधारहीन है। उन्होंने कहा कि श्री वर्मा का टिकट कटवाने में श्री मुनकाद अली की कोई भूमिका नहीं है। उन्होंने कहा कि टिकट कटने से बौखलाए हुए श्री वर्मा श्री मुनकाद अली पर इस तरह का झूठा और अनर्गल आरोप लगा रहे हैं। उन्होंने कहा कि श्री वर्मा का यह आचरण अनुशासनहीनता की परिधि में आता है। उन्होंने कहा कि जो दूसरों की हत्या में संलिप्त हो और उसके द्वारा इस तरह का बयान देना पूरी तरह हास्यास्पद है। श्री मौर्य ने कहा कि बी0एस0पी0 एक अनुशासनप्रिय राष्ट्रीय पार्टी है और किसी भी कीमत पर पार्टी विरोधी आचरण तथा निर्देशों का उल्लंघन बर्दाश्त नहीं करती।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here