press_release_14644_20-08-2015आई एन वी सी न्यूज़
रांची,
स्थानीय श्री कृष्ण लोक प्रषासन संस्थान में 21 और 22 अगस्त को ग्रामीण विकास विभाग, सर्ड और इंस्टीट्यूट ऑफ ह्यूमेन डेवलपमेंट के संयुक्त तत्वाधान में दो दिवसीय ‘‘ नेषनल कन्वेंषन ऑन स्मार्ट विलेज‘‘ आदर्ष ग्राम राष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन किया जायेगा। यह जानकारी सूचना भवन सभागार में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में ग्रामीण विकास विभाग के प्रधान सचिव श्री एन॰एन॰ सिन्हा ने दी।

श्री सिन्हा ने बताया कि कार्यक्रम का उद्घाटन माननीय मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास व ग्रामीण विकास मंत्री श्री नीलकंठ सिंह मुंडा द्वारा संयुक्त रूप से किया जायेगा। उन्होंने बताया कि दो दिनों तक आयोजित इस सम्मेलन में देष के विख्यात विषेषज्ञ भाग लेंगे जिनमें मुख्य रूप से ट्राई के अध्यक्ष श्री आर॰एस॰ शर्मा, टिफैक के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर प्रोफेसर प्रभात रंजन, बैंगलोर से संमोक्ष के सी॰ई॰ओ॰ डॉक्टर अषोक दास  समेत कई अन्तर्राष्ट्रीय व राष्ट्रीय विषेषज्ञ शामिल हैं।

श्री सिन्हा ने जानकारी दी कि कार्यक्रम का मुख्य उद्देष्य स्मार्ट विपेज योजना के तहत सर्वांगीण विकास के तमाम तकनीकी बिन्दुओं पर फोकस करना है। उन्होंने कहा कि सम्मेलन में कुल 6 तकनीक सेषन होंगे जिनमें ग्राम पंचायतों में गुड गवर्नेंस, उर्जा, तकनीकी, सामुदायिक स्वास्थ्य, षिक्षा, पेयजल एवं कौषल विकास के साथ साथ ग्रामीणों के स्वाबलंबन आदि विषय पर विचार प्रस्तुत किये जायेंगे। विषेषज्ञों के विचारों के आधार पर सरकार स्मार्ट विपेज योजना को आकार देगी। उन्होंने कहा कि झारखंड में इस योजना के तहत कुल 119 गांव को विकसित करना है।

उन्होंने कहा कि ग्रामीणों के आर्थिक विकास के लिए स्वच्छता एवं कचरा प्रबंधन के साथ साथ औद्योगिक टूरिज्म और वन आधारित नीति को तैयार करने में यह सम्मेलन काफी मददगार साबित होगा। उन्होंने बताया कि जिस प्रकार झारखंड ने मत्स्य पालन और रेषम उत्पादन के क्षेत्र में अद्भुत उपलब्धि हासिल की है उसी प्रकार अन्य क्षेत्रों में संभावनाओं की तलाष किया जायेगा। ग्रामीण क्षेत्रों में आधुनिक तकनीक का इस्तेमाल, सोषल मोबिलाइजेषन के लिए आधारभुत संरचना का निर्माण करना है। डार्क जोन में आने वाले ग्रामीण क्षेत्रों में वाई फाई सुविधा के जरिये सुविधाओं को बहाल करने के साथ साथ सेल्यूलर टेलीकॉम कंपनियों की सुविधाएं भी बहाल करना है।
प्रेस कांफ्रेंस में उद्योग निदेषक श्री के॰ रवि कुमार, अर्थषास्त्र के प्रोफेसर हरिष्वर दयाल एवं सर्ड सहायक निदेषक श्रीमती ममता रानी शर्मा थीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here